Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Relaince Jio को फेसबुक के बाद इन 4 बड़ी कंपनियों ने दिया 30,062 करोड़ रुपया, पक्की हुई हिस्सेदारी

रिलायंस ने फेसबुक समेत 5 निवेशक कंपनियों से ली हिस्सेदारी की राशि। कंपनी में उनका शेयर किया फिक्स।

Relaince Jio को फेसबुक के बाद इन 4 बड़ी कंपनियों ने दिया 30,062 करोड़ रुपया, पक्की हुई हिस्सेदारी
X

Reliance Jio में हिस्सेदारी के बाद अब कंपनियों ने निवेश के तहत पैसा देना शुरू कर दिया है। जिसको लेकर रिलायंस ने इस अमाउंट को पाने पर एक शनिवार को घोषणा की है। रिलाया जियो को फेसबुक के बाद अन्य चार कंपनियों ने हिस्सेदारी के कुल 30,062 करोड़ रुपये सौंप दिये हैं। इससे पहले कंपनी ने बताया था कि उसे फेसबुक के साथ जियो प्लेटफार्म्स के शेयर के लिए सौदे का पैसा मिल गया है।

दरअसल, शनिवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज ने शेयर बाजार को भेजी गयी सूचना में कहा है कि उसने जियो प्लेटफार्म्स में अपनी 6.13 प्रतिशत हिस्सेदारी को एल कैटरटोन, दि पब्लिक इन्वेस्टमेंट फंड, सिल्वर लेक और जनरल एटलांटिक को बेचने का सौदा नक्की कर लिया है। रिलायंस ने अपनी डिजिटल इकाई में अब तक कुल मिला कर 25.09 प्रतिशत हिस्सेदारी को विभिन्न हिस्सेदारों को बेचा है। इसके लिए उसने फेसबुक सहित कुल 11 निवेशकों के साथ मिलाकर 1,17,588.45 करोड़ रुपये के सौदे किये हैं। कंपनी ने सबसे पहले बड़े निवेशक फेसबुक के साथ सौदा किया। उसने फेसगुक की पूर्णस्वामित्व वाली इकाई जादू होल्डिंग्स एलएलसी से इस सौदे के लिये 43,574 करोड़ रपये प्राप्त किये। कंपनी ने इसके बाद 7 जुलाई को कहा, जियो प्लेटफार्म्स लिमिटेड ने जादू होल्डिंग्स को 9.99 प्रतिशत इक्विटी शेयर आवंटित कर दिये हैं।''

इसके साथ ही अब रिलायंस का दावा है कि एल कैटरटॉन की इंटरस्टेलर प्लेटफार्म होल्डिंग्स प्रा. लि. ने 0.39 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिये 1,894.50 करोड़ रुपये का भुगतान किया है। वहीं जियो प्लेटफार्म्स की 2.32 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिये दि पब्लिक इन्वेस्टमेंट फंड ने 11,367 करोड़ रुपये का भुगतान किया है। कंपनी में सिल्वर लेक की इकाइयों एसएलपी रेडवुड होल्डिंग्स प्रा. लि. और एसएलपी रेडवुड को-इन्वेस्ट (डीई) एल.पी ने 2.08 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिये 10,202.55 करोड़ रुपये लगाए हैं। जियो प्लेटफार्म्स में जनरल अटलांटिक सिंगापुर जेपी प्रा. लि. ने 6,598.38 करोड़ रुपये में 1.34 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी है। जिसका पैसा कंपनी को दे दिया गया है। इसके बाद रिलायंस जियो में इन कंपनियों की हिस्सेदारी पक्की हो गई है।

Next Story
Top