Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

पीपुल मैटर्स टेकएचआर 2020 का हुआ आयोजन, नए रोजगार पैदा करने लेकर हुई चर्चा

कोविड-19 के कारण बने हालात में एचआर और वर्कटेक की दुनिया में बहुत बड़ा बदलाव हो रहा है। इस समय इस मुश्किल वक्त में अवसर तलाशना और नई बातों को अपनाते हुए आगे बढ़ना ही सही है।

पीपुल मैटर्स टेकएचआर 2020 का हुआ आयोजन, नए रोजगार पैदा करने लेकर हुई चर्चा
X

कोविड-19 के कारण बने हालात में एचआर और वर्कटेक की दुनिया में बहुत बड़ा बदलाव हो रहा है। इस समय इस मुश्किल वक्त में अवसर तलाशना और नई बातों को अपनाते हुए आगे बढ़ना ही सही है। इसी लक्ष्य के साथ 5 दिवसीय पीपुल मैटर्स टेकएचआर 2020 का आयोजन किया गया। एशिया के इस सबसे बड़े एचआर एवं वर्कटेक कॉन्फ्रेंस से 42 देशों के 5,000 से ज्यादा एचआर एवं बिजनेस लीडर्स, 90 ग्लोबल स्पीकर जुड़े और 104 कंटेंट सेशन का आयोजन किया गया।

इतना ही नहीं, इस दौरान 12,747 कारोबारी संपर्क स्थापित हुए, 33,543 कारोबारी चर्चाएं हुई और 1,128 वर्चुअल बैठकों का खाका भी तैयार किया गया। सोशल मीडिया पर 5.6 करोड़ लोग इससे जुड़े।इस क्षेत्र के दिग्गज लोगों ने कहा कि इस समय व्यापक बदलाव हो रहा है। लाखों रोजगार जा रहे हैं और लाखों नए किस्म के रोजगार के अवसर बन भी रहे हैं।

इस वक्त पूरी संरचना को नए सिरे से तैयार करने की जरूरत है। पीपुल मैटर्स टेकएचआर 2020 समाधान खोजने का एक बेहतरीन मंच बनकर सामने आया है। साल दर साल पीपुल मैटर्स टेकएचआर का एजेंडा इस क्षेत्र में आ रही चुनौतियों पर ध्यान देना और उनका समाधान तलाशना ही रहा है।

पीपुल मैटर्स के सीईओ एवं एडिटर इन चीफ एस्टर मार्टिनेज ने कहा, 'इस समय हमारे सामने सबसे बड़ी चुनौती है। कोई किताब नहीं है, जिसके हिसाब से हम आगे बढ़ सकते हैं, ना रास्ता दिखाने के लिए कोई विशेषज्ञ और ना ही कोई जांचा-परखा तरीका है। इसलिए इस समय कारोबारियों को नई व्यवस्थाएं अपनाने के लिए तैयार रहना होगा।

इस बार पीपुल मैटर्स टेकएचआर में हमारा प्रयास रहा कि लोगों को नई बातें और नए तरीके अपनाने के लिए प्रोत्साहित किया जाए। एक जगह पर एकत्र होकर सम्मेलन करने के बजाय आज डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से हो रहा सम्मेलन भी नई व्यवस्था को अपनाने का एक उदाहरण है।

Next Story