Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Cryptocurrency को लेकर Paytm ने लिया बड़ा फैसला, ट्रांजैक्शन करने से पहले यूजर्स पढ़ लें ये खबर

क्रिप्टोकरेंसी को लेकर रिजर्व बैंक के रुख को ध्यान में रखते हुए पेटीएम पेमेंट बैंक ने क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज के लिए बैंकिंग सपॉर्ट बंद करने का फैसला किया है।

Cryptocurrency को लेकर Paytm ने लिया बड़ा फैसला, ट्रांजैक्शन करने से पहले यूजर्स पढ़ लें ये खबर
X

पेटीएम

नई दिल्ली। देश में अब ऑनलाइन पेमेंट का चलन बढ़ता जा रहा है। हर कोई चाहे वह बिजनेसमैन हो या नौकरीपैशा डिजिटल की दुनिया में आगे बढ़ते जा रहे हैं। देश में डिजिटल क्रांति लाने में पेटीएम (Paytm) ने भी अहम भूमिका निभाई है। देश में पेटीएम के यूजर्स बड़ी संख्या में हैं। अगर आप भी पेटीएम से भुगतान (Transaction) करते हैं आपके लिए अहम खबर है। पेटीएम ने क्रिप्टोकरेंसी को लेकर बड़ा फैसला लिया है। क्रिप्टोकरेंसी को लेकर रिजर्व बैंक के रुख को ध्यान में रखते हुए पेटीएम पेमेंट बैंक (Paytm Payments Bank) ने क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज के लिए बैंकिंग सपॉर्ट बंद करने का फैसला किया है। अभी तक क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज जैसे WazirX, ZebPay, CoinSwitch, Kuber ट्रांजैक्शन के लिए पेटीएम के पेमेंट बैंक प्लैटफॉर्म का इस्तेमाल कर रहे थे।

वजीर एक्स पेटीएम बैंक अकाउंट में नहीं लेगा इंडियन करेंसी में पेमेंट

इस बात की पुष्टि वजीर एक्स की तरफ से भी की गई है। 20 मई को वजीर एक्स की तरफ से जो ट्वीट किया गया है उसके मुताबिक, 21 मई से वजीर एक्स पेटीएम बैंक अकाउंट में इंडियन करेंसी में पेमेंट नहीं लेगा। अगर जानकारी के अभाव में कोई यूजर IMPS/NEFT/RTGS ट्रांजैक्शन करता है तो अगले 7-10 बिजनेस डेज के भीतर पैसा वापस हो जाएगा। फिलहाल पेटीएम की तरफ से इसको लेकर आधिकारिक रूप से किसी तरह का बयान जारी नहीं किया गया है। इसके अलावा वजीर एक्स ने यह भी कहा कि हम अपने लिए नए पार्टनर की तलाश में हैं। तब तक के लिए यूजर्स से WazirX P2P विकल्प का इस्तेमाल करने की अपील की गई है। इसकी मदद से क्रिप्टोकरेंसी की खरीद और बिक्री की जा सकती है।

क्रिप्टोकरेंसी को लेकर क्या कहा था आरबीआई ने

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने 2018 में बैंकों से कहा था कि वह अपने प्लैटफॉर्म का इस्तेमाल क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज के लिए नहीं होने दें। हालांकि मार्च 2020 में सुप्रीम कोर्ट ने रिजर्व बैंक के बैन के फैसले को पलट दिया था। इस फैसले के बाद बैंकों को क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज के लिए बैंकिंग सपॉर्ट का रास्ता खुल गया। हालांकि रिजर्व बैंक इसके खिलाफ है और पिछले दिनों एक रिपोर्ट में कहा गया था कि बैंकों को क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज को बैंकिंग सर्विस देने से मना किया जा रहा है। इसके बाद कई बैंक इस दिशा में आगे बढ़ते नजर आए हैं।

और पढ़ें
Next Story