Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

OTT पर फिल्मों और वेबसीरीज के हर एक कंटेट को बारीकी से चेक करेगी सरकार, Vulgar कंटेट मिलने पर आड़े हाथ लिए जाएंगे मेकर्स

अब सरकार ने OTT Platforms को रेगुलेट करने का मन बनाया है। ऐसे में अब साझा किए जाने वाले सभी कंटेंट की निगरानी की जाएगी। बता दें कि OTT के देश में लगभग 40 प्लैटफॉर्म्स हैं। दिशानिर्देश के लागू किए जाने के बाद इन सभी पर इसका असर होगा।

OTT पर फिल्मों और वेबसीरीज के हर एक कंटेट को बारीकी से चेक करेगी सरकार, Vulgar कंटेट मिलने पर आड़े हाथ लिए जाएंगे मेकर्स
X

 वेबसीरीज के हर एक कंटेट को बारीकी से चेक करेगी सरकार

आज के समय में पर्दे पर प्रसारित होनेवाली फिल्मों में लोगों की रूचि कुछ कम हो गई है। उसकी सबसे बड़ी वजह OTT प्लैटफॉर्म पर प्रसारित होने वाली फिल्में और वेबसीरीज (Webseries) हैं। डिजिटल दुनिया में अब नौजवानों की पहली पसंद वेबसीरीज ही हैं। दरअसल OTT प्लैटफॉर्म पर OTT Regulation को लेकर अभी तक किसी भी तरह की गाइडलाइन (Guideline) जारी नहीं की गई है। इस कारण तमाम तरह की विवादित फिल्में और वेबसीरीज को धड़ल्ले से OTT पर शेयर की जा रही हैं। वहीं इन वेबसीरीजों में अश्लील दृश्य, विवादित बयान धड़ल्ले से दिखाए जा रहे हैं। जिसको लेकर अब सरकार ने सख्ती से कदम उठाने का निर्णय लिया है। अब सरकार ने OTT Platforms को रेगुलेट करने का मन बनाया है। ऐसे में अब साझा किए जाने वाले सभी कंटेंट की निगरानी की जाएगी। बता दें कि OTT के देश में लगभग 40 प्लैटफॉर्म्स हैं। दिशानिर्देश के लागू किए जाने के बाद इन सभी पर इसका असर होगा। सभी OTT प्लैटफॉर्म पर साझा की जाने वाली चीजों को मॉनिटरिंग से गुजरना होगा। इन OTT प्लैटफॉर्म्स में कुछ मशहूर हैं, जैसे Netflix, Amazon Prime और HotStar Disney Plus शामिल हैं।

तांडव और मिर्जापुर को लेकर बड़ा विवाद

बता दें कि हाल ही में वेबसीरीज तांडव (Tandav) और मिर्जापुर 2 (Mirzapur 2) को अमेजन प्राइम (Amazon Prime) पर प्रसारित किया गया था जिसके बाद तांडव पर लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। क्योंकि इसमें हिंदू धर्म से संबंधित भगवान शिव का अपमान दिखाया गया था। जिसके बाद फिल्म के निर्माताओं ने अपनी गलती को मानते हुए माफी मांगी और फिल्म से उस दृश्य को हटा दिया। लेकिन यह पहली बार नहीं था जब OTT पर प्रसारित किए जाने वाले वेबसीरीज और फिल्मों से किसी को आपत्ति हुई हो। इससे पहले भी वल्गर कंटेंटे को लेकर विवाद होते रहे हैं, इनके विनियमन को लेकर गाइडलाइन बनाए जाने की बात की जाती रही है।

गाइडलाइंस तैयार, बस लागू करना बाकी

सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने संसद में बताया कि OTT प्लैटफॉर्म्स के लिए भारत सरकार जल्द ही गाइडलाइंस जारी करने वाली है. जावड़ेकर ने बताया कि इस बाबत कई शिकायतें मिल रही हैं. इस कारण गाइडलाइंस जारी किए जाएंगे. उन्होंने बताया कि गाइडलाइंस करीब करीब तैयार हो चुके हैं, इन्हें केवल लागू किया जाना बाकी है।

Next Story