Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

कोरोना के कारण सुस्त पड़ी अर्थव्यवस्था पकड़ेगी रफ्तार, भारत को एक अरब डॉलर का लोन देगा ये बैंक

अर्थव्यवस्था के वापिस पटरी पर आने के संकेत मिल रहे हैं। दरअसल, ब्रिक्स देशों के न्यू डेवलपमेंट बैंक (NDB) ने कोरोना संकट से मुश्किल में चल रही इकोनॉमी को पटरी पर लाने के लिए भारत को एक अरब डॉलर (करीब 7350 करोड़ रुपये) का लोन देने का निर्णय लिया है।

कोरोना के कारण सुस्त पड़ी अर्थव्यवस्था पकड़ेगी रफ्तार, भारत को एक अरब डॉलर का लोन देगा ये बैंक
X

भारतीय अर्थव्यवस्था

नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी की वजह से देश की अर्थव्यवस्था की हालत नाजुक स्थिति में पहुंचती जा रही है। इस साल कोरोना की वजह से लॉकडाउन जैसे कड़े संदेश लेने पड़े। जिसकी वजह से पूरा देश ही महीनों तक के बंद हो गया। ऐसी स्थिति शायद ही कभी हुई हो। इस बिगड़ती अर्थव्यवस्था ने सरकार की चिंता में इजाफा किया हुआ है। ऐसे में अर्थव्यवस्था के वापिस पटरी पर आने के संकेत मिल रहे हैं।

दरअसल, ब्रिक्स देशों के न्यू डेवलपमेंट बैंक (NDB) ने कोरोना संकट से मुश्किल में चल रही इकोनॉमी को पटरी पर लाने के लिए भारत को एक अरब डॉलर (करीब 7350 करोड़ रुपये) का लोन देने का निर्णय लिया है। इस बैंक का मुख्यालय चीन के शहर शंघाई में है। एनडीबी के निदेशक मंडल ने 15 दिसंबर को वर्चुअल तरीके से हुई अपनी 29वीं बैठक में पांच नए निवेश प्रोजेक्ट्स को मंजूरी दी है। बोर्ड इससे पहले की बैठकों में दो प्रोजेक्ट को मंजूरी दे चुका है।

जीडीपी में भारी गिरावट दर्ज

गौरतलब है कि कोरोना संकट की वजह से भारत की अर्थव्यवस्था को काफी नुकसान हुआ है। जून तिमाही में जीडीपी में करीब 24 फीसदी की ​भारी गिरावट आयी थी। इसके बाद सितंबर तिमाही में जीडीपी में 7.5 फीसदी की गिरावट आई है। इस पूरे वित्त वर्ष में भी जीडीपी में 7 से 9 फीसदी के बीच गिरावट का अनुमान रेटिंग एजेंसियों ने जारी किया है।

क्या कहा एनडीबी ने

गौरतलब है ​कि न्यू डेवलपमेंट बैंक (एनडीबी) की स्थापना ब्रिक्स देशों ने की है। ब्रिक्स देशों में ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका आते हैं। एनडीबी के द्वारा ब्रिक्स और अन्य उभरते देशों में टिकाऊ विकास परियोजनाओं को संसाधन मुहैया कराया जा सकता है।

Next Story