Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

गन्ना किसानों के लिए आई खुशखबरी, मोदी सरकार ने इतने रुपये बढ़ाया गन्ना खरीद मूल्य

पिछले साल किसानों का नहीं बढ़ाया गया था एफआरपी। यह पडेगा इसका असर।

गन्ना किसानों के लिए आई खुशखबरी, मोदी सरकार ने इतने रुपये बढ़ाया गन्ना खरीद मूल्य
X

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को कैबिनेट बैठक में किसानों के लिए एक महत्वपूर्ण फैसला लिया है। जिससे मुख्य रूप से गन्ना किसानों की आय में बेहतरीन फायदा होगा। केंद्र सरकार (Modi Government) ने बैठक में गन्ने का एफआरपी 10 रुपये प्रति क्विंटल तक बढ़ाने का फैसला है। गन्ने की ख़रीद मूल्य को Fair & Remunerative Price (FRP) के तौर पर घोषित किया जाता है। वहीं चीनी वर्ष 1 अक्टूबर से शुरू होकर अगले साल 30 सितंबर तक चलता है। पिछले साल खरीद मूल्यों में बढ़ोतरी नहीं किए जाने को लेकर किसानों ने लगातार विरोध प्रदर्शन किये थे। अब केंद्र सरकार ने (FRP Price Increase )के मूल्यों में वृद्धी कर किसानों को राहत की सास दी है।

दरअसल, देश में गन्ना किसानों के करीब 20 हजार करोड़ रुपये चीनी मिलों पर बकाया है। ऐसे में उनके (FRP) एफआरपी बढ़ाने का कितना फायदा किसानों को मिलेगा ये कह पाना मुश्किल होगा, लेकिन उनका इस बार से जाने वाला गन्ना पहले के मुकाबले ज्यादा दामों में लिया जाएगा। मोदी सरकार के इस फैसले के बाद बाद गन्ना खरीद मूल्य 285 रुपये प्रति क्विंटल हो गया है। वहीं 2019-20 में पिछले साल की तुलना में ख़रीद मूल्य एफआरपी में किसी तरह का बदलाव नहीं किया गया था।

वहीं बता दें कि एफआरपी के अलावा राज्य सरकार भी अपनी तरफ से किसानों के लिए गन्ने का दाम तय करती है। इसे SAP (राज्य परामर्शित मूल्य) कहा जाता है। पिछले वर्ष 2019-20 के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने गन्ने का राज्य परामर्शित मूल्य (एसएपी) 325 रुपये प्रति क्विंटल तक तय किया था। जो अगैती प्रजाति के लिए 325, सामान्य प्रजाति के लिए 315 और अनुपयुक्त प्रजाति के लिए 310 रुपये प्रति क्विंटल गन्ना मूल्य निर्धारित किया गया था।

Next Story