Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

देश में 5G नेटवर्क आने में बस तीन महीने बाकी, अल्ट्रा एचडी क्वालिटी से कर सकेंगे Video Calling

दूरसंचार उद्योग के विशेषज्ञों का कहना है कि भारत में 5जी नेटवर्क (5G Network) तीन महीने में लगाया जा सकता है, लेकिन यह सीमित क्षेत्रों में ही होगा। उन्होंने कहा कि इस प्रौद्योगिकी को समर्थन के लिए ऑप्टिकल फाइबर (Optical Fiber) आधारित ढांचा अभी तैयार नहीं है।

देश में 5जी नेटवर्क आने में बस तीन महीने बाकी, अल्ट्रा एचडी क्वालिटी से कर सकेंगे वीडियो कॉलिंग
X

5जी नेटवर्क

नई दिल्ली। तेजी से बढ़ रही तकनीक की दुनिया में अब सब कुछ एडवांस होता जा रहा है। जिस हिसाब से तकनीक बढ़ रही है उससे लोगों को इंटरनेट की दुनिया में कामयाबी हासिल हो रही है। दूरसंचार उद्योग के विशेषज्ञों का कहना है कि भारत में 5जी नेटवर्क (5G Network) तीन महीने में लगाया जा सकता है, लेकिन यह सीमित क्षेत्रों में ही होगा। उन्होंने कहा कि इस प्रौद्योगिकी को समर्थन के लिए ऑप्टिकल फाइबर (Optical Fiber) आधारित ढांचा अभी तैयार नहीं है।

नोकिया इंडिया (Nokia India) के प्रमुख विपणन एवं कॉरपोरेट मामले अमित मारवाह (Amit Marwah) ने कहा कि भारत को 5जी सेवाओं के नेटवर्क पर निर्णय लेना होगा, अन्यथा वह अगली पीढ़ी की प्रौद्योगिकी का लाभ लेने से चूक जाएगा। मारवाह ने कहा कि यदि हम जल्द 5जी शुरू नहीं करते हैं, तो संभवत: चूक जाएंगे। 5जी ऑपरेटरों के लिए पैसा बनाने को बिक्री चैनल नहीं है। यह देश और दुनिया में नए आर्थिक मूल्य के सृजन के लिए समय की जरूरत है। दूरसंचार निर्यात संवर्द्धन परिषद के चेयरमैन संदीप अग्रवाल (Sandeep Aggarwal) ने इस बात पर जोर दिया कि 5जी में स्थानीय स्तर पर विनिर्मित उपकरणों का इस्तेमाल होना चाहिए। उन्होंने कहा कि सुरक्षा उद्देश्य से इसका नियंत्रण भारत के पास होना चाहिए। दूरसंचार क्षेत्र कौशल परिषद के अरविंद बाली ने कहा कि देश समूची प्रौद्योगिकी खुद नहीं बना सकता। उसे दूसरों का समर्थन लेने की जरूरत होगी। उन्होंने कहा कि उत्पादन आधारित प्रोत्साहन (PLI) योजना भारत को आत्मनिर्भर बनाने तथा रोजगार के अवसरों के सृजन की दृष्टि से सही दिशा में एक कदम है।

5G नेटवर्क से अल्ट्रा एचडी क्वालिटी की वीडियो कॉलिंग (Video Calling) भी की जा सकेगी। साथ ही स्मार्ट डिवाइसेज में स्ट्रांग कनेक्टिविटी मिलेगी, जिससे आपकी जिंदगी और भी तेज हो जाएगी। इसे अभी चल रहे 4G LTE तकनीकी से भी तेज गति से चलने के लिए बिल्ट किया गया है। हालांकि, इसे स्मार्टफोन में इन्टरनेट की स्पीड को बढ़ाने को लेकर, इसके साथ फास्टर वायरलेस इन्टरनेट को सभी जगह सभी के लिए पहुंचाया जा सकता है।

Next Story