Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब रेल टिकट बनाने में होगी आसानी, IRCTC ने की उन्नत ई-टिकटिंग की शुरुआत, जानिए किया हुए बदलाव

। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) की ई-टिकटिंग वेबसाइट के उन्नत संस्करण की बृहस्पतिवार को शुरूआत की। इस वेबसाइट को सर्वश्रेष्ठ सुविधाओं के रूप में बताते हुए रेलवे ने इसे यात्रियों के वास्ते ‘नए साल के उपहार' के रूप में पेश किया है।

अब रेल टिकट बनाने में होगी आसानी, IRCTC ने की उन्नत ई-टिकटिंग की शुरुआत, जानिए किया हुए बदलाव
X

भारतीय रेलवे

नई दिल्ली। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने भारतीय रेलवे खानपान एवं पर्यटन निगम (आईआरसीटीसी) की ई-टिकटिंग वेबसाइट के उन्नत संस्करण की बृहस्पतिवार को शुरूआत की। इस वेबसाइट को सर्वश्रेष्ठ सुविधाओं के रूप में बताते हुए रेलवे ने इसे यात्रियों के वास्ते 'नए साल के उपहार' के रूप में पेश किया है। गोयल ने कहा कि रेलवे देश की सेवा के लिए प्रतिबद्ध है तथा रेल यात्रा के अनुभव को और बेहतर बनाने के उद्देश्य से अपनी सेवाओं को बढ़ाने के लिए लगातार काम कर रहा है। ऑनलाइन रेलवे टिकटों की बुकिंग के लिए यह उन्नत ई-टिकटिंग मंच, यात्री सुविधाओं को बढ़ाएगा। उन्होंने कहा कि आईआरसीटीसी को वेबसाइट को बेहतर बनाने की दिशा में लगातार काम करना चाहिए और यह सुनिश्चित करना चाहिए कि प्रधानमंत्री के 'डिजिटल इंडिया मिशन' और दृष्टिकोण के अनुसार दुनिया में यह किसी से भी पीछे नहीं रहे।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि उन्नत ई-टिकटिंग वेबसाइट और ऐप रेल यात्रियों को अगले स्तर की सेवाएं और बेहतर अनुभव प्रदान करेंगे। बयान में कहा गया है कि रेल टिकटों की बुकिंग के लिए रेलवे ग्राहक इस नई विश्व स्तरीय वेबसाइट के डिजाइन पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। इसमें कहा गया है कि यह स्टेशनों को खोजने में होने वाली परेशानी को कम करेगा और टिकट बुकिंग में लगने वाले समय को भी बचाएगा। उपयोगकर्ता खातों के पृष्ठ पर धनवापसी (रिफंड) स्थिति की आसानी से जांच की जा सकेगी। पहले यह सुविधा आसानी से उपलब्ध नहीं थी। बयान में कहा गया है कि वेबसाइट में साइबर सुरक्षा को बढ़ाने का ध्यान रखा गया है। इसमें कहा गया है कि उन्नत ई-टिकटिंग वेबसाइट और मोबाइल ऐप का उद्देश्य विभिन्न अन्य ऑनलाइन यात्रा और टिकटिंग वेबसाइटों के बीच बेहतर सुविधा और अनुभव उपलब्ध कराना है। वर्तमान में, आईआरसीटीसी की इस ई-टिकटिंग वेबसाइट पर छह करोड़ से अधिक सक्रिय उपयोगकर्ता हैं, इसका उपयोग प्रतिदिन आठ लाख से अधिक टिकट बुक करने के लिए किया जाता है। कुल आरक्षित रेलवे टिकटों में से लगभग 83 प्रतिशत टिकट इस ऑनलाइन प्रणाली के माध्यम से बुक किए जाते हैं।

Next Story