Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इस आसान तरीके से आप भी हासिल कर सकते हैं अपने वाहन के लिए VIP नंबर, जानिए कैसे करें अप्लाई

Vehicle VIP Number: अगर आप भी उन्हीं में से एक हैं जो बाइक (Bike VIP Number) या कार (Car VIP Number) का रजिस्ट्रेशन नंबर वीआईपी चाहते हैं तो आइए आपको इसके लिए अप्लाई करने का पूरा प्रोसेस बताते हैं...

इस आसान तरीके से आप भी हासिल कर सकते हैं अपने वाहन के लिए VIP नंबर, जानिए कैसे करें अप्लाई
X

हम जब वाहन (Vehicle) खरीदने का प्लान बनाते हैं तो हमारा खास ध्यान उसकी खासियत पर होता है। इसके अलावा नंबर को लेकर भी ये उम्मीद रहती है कि वो कुछ यूनिक (Unique Number of Vehicle) हो। हालांकि, इस चीज से कुछ लोगों को खास फर्क नहीं पड़ता है, लेकिन कुछ ऐसे भी हैं जो चाहते हैं कि उनकी गाड़ी का रजिस्ट्रेशन नंबर (vehicle registration number) वीआईपी (VIP) हो। खास तरह के नंबर के लिए कई लोग इतने दीवाने होते हैं कि वो इसके लिए खर्चा भी करने के लिए तैयार रहते हैं। अगर आप भी उन्हीं में से एक हैं जो बाइक (Bike VIP Number) या कार (Car VIP Number) का रजिस्ट्रेशन नंबर वीआईपी चाहते हैं तो आइए आपको इसके लिए अप्लाई करने का पूरा प्रोसेस बताते हैं...

VIP नंबर पाने का प्रोसेस

अगर आप अपने वाहन का VIP नंबर चाहते हैं तो इसके लिए अब आपको RTO ऑफीस के चक्कर काटने की जरुरत नहीं है। आप इसके लिए ऑनलाइन तरीके से अप्लाई कर सकते हैं। इसके लिए आपको सड़क परिवहन एवं हाइवे मंत्रालय की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर पब्लिक यूजर के तौर पर रजिस्ट्रेशन करना होगा। इसके बाद यहां आप अपने पसंदीदा VIP नंबर को डाल सकते हैं। यहां आपको नंबर प्लेट के लिए बताए गए शुल्क जमा करना होगा। भुगतान के बाद आपको यहां अपने नंबर खरीदने की बोली लगाने का ऑपशन मिलेगा। ऐसे में आप जितनी ज्यादा बोली लगाएंगे आपको VIP नंबर मिलने का चांस ज्यादा रहेगा। बोली जीत जाने के बाद आप अलॉटमेंट की डिजिटल और हार्ड कॉपी निकाल सकते हैं। बोली में तय की गई राशि का भुगतान करने के बाद आपको अपना पसंदीदा नंबर मिल जाएगा।

अलग-अलग VIP नंबर का शुल्क भी अलग

VIP नंबर के लिए हर राज्य ने अपने विभन्न शुल्क तय की हुए हैं। इसमें अलग-अलग वीआईपी नंबर प्लेट का शुल्क भी अलग है। अगर बात करें दो-पहिया के लिए VIP नंबर की तो इसके लिए आपको 1 हजार रुपये का शुल्क देना पड़ता है। इसके अलावा अलग से वीआईपी नंबर प्लेट का भी अलग शुल्क देना पड़ता है जो उसके लुक पर निर्भर है। अगर सेमी-फैन्सी नंबर चाहते हैं तो 1 लाख रुपये आपको एडवांस जमा करवाने पड़ेंगे। सिंगल-डिजिट नंबर के लिए 3 लाख रुपये और सुपर एलीट नंबर के लिए 5 लाख रुपये पहले से जमा करवाने पड़ते है। जबकि अन्य तरह के वीआईपी नंबर के लिए आपको 2 लाख रुपये जमा करवाने पड़ते हैं।

ऐसे जानें VIP नंबर की उपलब्धता

VIP नंबर पाने से पहले ये जरूर देख लें कि जो नंबर आप चाहते हैं वो उपलब्ध है भी या नहीं। क्योंकि कई बार ऐसा भी हो जाता है कि जो आपका पसंदीदा नंबर है वो पहले से किसी के पास हो सकता है। ऐसे में जरुरी है कि आप अप्लाई करने से पहले ही उसकी उपलब्धता को ऑनलाइन चेक कर लें। इसके लिए आपको सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। यहां आप चॉइस नंबर ऑपशन पर क्लिक कर अपना पसंदीदा नंबर डालकर चेक कर सकते हैं। नंबर डालने के बाद न्यू पेज ऑपन होगा, जिसमें आपने राज्य और आरटीओ का नाम डालें और फिर यहां कई वीआईपी नंबर शो होने लगेंगे। जिसके बाद आप अपना नंबर हासिल करने के लिए प्रोसेस को अपना सकते हैं।

और पढ़ें
Next Story