Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

खरीदी है नई कार लेकिन बीमा कौन सा करवाएं इसमें आ रही है समस्या? तो जान लें ये कुछ बातें

जब बात कार की हो इसे लेकर तो किसी तरह की लापरवाही भी करना सही नहीं है। आज हम आपको कार बीमा पॉलिसी कितने तरह की होती हैं और किसे करवाना सही होता है बताने जा रहे हैं, आइए जानते हैं...

खरीदी है नई कार लेकिन बीमा कौन सा करवाएं इसमें आ रही है समस्या? तो जान लें ये कुछ बातें
X

कार खरीदने का सपना हर किसी का होता है। वहीं, जब ये पूरा हो जाए तो मानों मील का पत्थर थोड़ लिया हो। अगर आपने भी कार खरीद ली है और उसे घर के बाहर सजा दिया है तो इसकी सुरक्षा और होने वाले नुकसान का खतरा भी आपको सता ही रहा होगा? अगर हां, तो ऐसे में इंश्योरेंस करवाना जरूरी है। मेहनत की कमाई से खरीदी हुई कोई भी चीज कितनी प्यारी होती है इसके बारे में शायद समझने की जरूरत भी नहीं है। जब बात कार की हो इसे लेकर तो किसी तरह की लापरवाही भी करना सही नहीं है। आज हम आपको कार बीमा पॉलिसी कितने तरह की होती हैं और किसे करवाना सही होता है बताने जा रहे हैं, आइए जानते हैं...

वाहन बीमा पॉलिसी के प्रकार (Types of Insurance)

Third Party Insurance- मोटर वाहन अधिनियम 1988 (Motor Vehicles Act) के तहत वाहन का बीमा करवाना जरूरी है। थर्ड पार्टी इन्श्योरेंस में तीसरे पक्ष के व्यक्ति या संपत्ति से संबंधित दुर्घटना से उत्पन्न होने वाली लायबिलिटी से सुरक्षा प्रदान करने का काम करती है। इस बीमा के बिना कार चलाने पर भारी जुर्माना या जेल हो सकती है। इसलिए सड़क पर कार चलाने के लिए थर्ड पार्टी इंश्योरेंस जरूरी है।

Own Damage Insurance- थर्ड पार्टी इन्श्योरेंस करवाने के साथ ऑन डैमेज इन्श्योरेंस भी जरूरी है। इसके तहत बीमित वाहन पर हुए नुकसान का कवर मिलता है।

Comprehensive Insurance- कंप्रिहेंसिव बीमा करवाने से कई तरह के लाभ हो सकते हैं। इसमें बीमित वाहन पर चोरी, आग, विल्फोट, प्राकृतिक आपदाओं आदि हानि होने पर कवर मिलता है। इससे केवल एक प्रीमियम से सारा कवर मिल जाता है। ये पॉलिसी थर्ड पार्टी इन्श्योरेंस के लायबिलिटी कवर के खिलाफ कवरेज देती है।

Motor Insurance Add-On Covers- किसी भी वाहन बीमा करवाने पर अधिक प्रीमियम का भुगतान कर पॉलिसी कवरेज को बढ़ाया जा सकता है। एड ऑन कवरेज में रिटर्न टू इनवॉइस, रोडसाइड असिस्टेंस कवर, जीरो-डेप्रिसिएशन कवर, इंजन प्रोटेक्शन कवर और कंज्यूमेबल कवर आदि शामिल होते हैं।

और पढ़ें
Next Story