Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

GST Council Meeting: आम जनता की जेब पर फिर पड़ेगी महंगाई की मार, इन चीजों के बढ़ेंगे दाम

एक बार फिर आम आदमी के ऊपर महंगाई की मार पड़ने वाली हैं। 18 जुलाई से जरूरी चीजों के दाम बढ़ जाएंगे। ऐसे में आप घरेलू सामानों, होटल्स जैसी चीजों पर खर्च करने के लिए अपनी जेब को थोड़ा ढीला कर ले।

GST Council Meeting: आम जनता की जेब पर फिर पड़ेगी महंगाई की मार, इन चीजों के बढ़ेंगे दाम
X

आने वाले कुछ दिनों में एक बार फिर से आम आदमी के ऊपर महंगाई (Inflation) की मार पड़ने वाली है। 18 जुलाई से रोजमर्रा की कई वस्तुओं के दाम बढ़ने वाले हैं। पिछले दिनों हुई GST काउंसिल (GST Council) की 47वीं बैठक में रोजमर्रा के इस्तेमाल में आने वाली बहुत सी चीजों पर GST लगा दिया गया। जो पहले इसके दायरे से बाहर थी। वहीं कुछ वस्तुओं पर GST की दर में बढ़ोतरी भी की गई। GST की ये नई दरें 18 जुलाई से लागू होंगी।

18 जुलाई से प्री-पैकेज्ड लेबल वाले कृषि उत्पादों जैसे पनीर, छाछ, पैकेज्ड दही, लस्सी, गेहूं का आटा, अन्य अनाज, खाद्यान्न, शहद, पापड़, मुरमुरे और गुड़ जैसे प्रोडक्ट महंगे हो जाएंगे। फिलहाल ब्रांडेड और पैकेज्ड खाद्य पदार्थों पर 5% GST लगाया जाता है, जबकि अनपैक और बिना लेबल वाले सामान टैक्स (Tax) फ्री हैं। तो चलिए जानते हैं की इसके बाद कौनसी चीज सस्ती होगी और कौनसी चीज महंगी होगी।

इन चीजों के बढ़ेंगे दाम

- टेट्रा पैक वाली लस्सी, दही और बटर मिल्क महंगे होंगे। पहले इन पर GST नहीं लगता था लेकिन अब 18 जुलाई से इनपर 5% का GST लगेगा।

- चेक बुक जारी किए जाने पर बैंकों की तरफ से लिए जाने वाले फीस पर अब 18% का GST लगेगा।

- 1000 रुपये प्रतिदिन से कम किराए वाले होटल के रूम में ठहरने पर 12% का GST लगाया जाएगा। जो पहले नहीं लगता था।

- अस्पताल में 5,000 रुपये (ICU को छोड़कर) से अधिक किराए वाले कमरे पर 5% GST लगेगा।

- एलईडी लाइट्स, एलईडी लैंप पर 18% GST लगेगा जो पहले 12% लगता था।

- एटलस सहित मैप और चार्ज पर भी 12% की दर से GST लगेगा।

- ब्लेड, पेंसिल शार्पनर, पेपर कैंची, कांटे वाले चम्मच, चम्मच, स्किमर्स और केक-सर्वर्स पर 18% की दर से GST लगेगा। फिलहाल इन पर 12% GST लग रहा है।

ये चीजें होंगी सस्ती

- GST काउंसिल ने रोपवे के जरिए यात्रियों और सामानों को लेकर आने-जाने पर GST दर को 18% से घटाकर 5% कर दिया।

- स्प्लिंट्स और अन्य फ्रैक्चर उपकरण, बॉडी इंप्लाट्स, शरीर के कृत्रिम अंग, इंट्रा ओक्यूलर लेंस जैसी चीजों पर GST 12% से घटाकर 5% कर दिया गया।

- इंधन की लागत से माल ढुलाई करने वाले ऑपरेटरों के किराए पर GST 18% से घटाकर 12% हो जाएगा।

- डिफेंस फोर्सेज के लिए इंपोर्ट की जाने वाली कुछ खास वस्तुओं पर 18 जुलाई से IGST लागु नहीं होगी।

और पढ़ें
Next Story