Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब गूगल प्ले स्टोर में डिजिटल सामग्री बेचने वाले ऐप से करेगा वसूली, बिलिंग प्रणाली का होगा इस्तेमाल

अब गूगल प्ले स्टोर में डिजिटल सामग्री बेचने वाले ऐप डेवलपर बिक्री का देना होगा 1 प्रतिशत।

अब गूगल प्ले स्टोर में डिजिटल सामग्री बेचने वाले ऐप से करेगा वसूली, बिलिंग प्रणाली का होगा इस्तेमाल
X

गूगल अब प्ले स्टोर के माध्यम से डिजिटल सामग्री बेचने वाले ऐप्स से वसूली शुरू करेगा। यह वसूली (Google Play Billing Service) गूगल प्ले बिलिंग प्रणाली का इस्तेमाल करने के तहत होगी। जिसमें ऐप से हुई बिक्री का सिर्फ 1 प्रतिशत शुल्क के तौर पर देना होगा। हालांकि इसको लेकर गूगल का दावा है कि उसकी बिलिंग प्रणाली पहले से ही बनी हुई थी, लेकिन अब वह इसे एक बार फिर से स्पष्ट कर देना चाहती है। क्योकि इसकी जरूरत थी।

दरअसल, कुछ दिना पहले ही गूगल ने कुछ घंटों के लिए (Paytm) पेटीएम को ब्लॉक कर दिया था। इस दौरान गूगल प्ले स्टोर सुर्खियों में आ गया था। इस पर कंपनी ने अपनी सफाई भी दी थी। वहीं अब गूगल ने कहा कि उसकी बिलिंग प्रणाली के इस्तेमाल की नीति पहले से बनी हुई है, लेकिन इसे स्पष्ट करने की जरूरत थी। इसके तहत कारोबार विकास, गेम और एप्लिकेशंस पूर्णिमा कोचिकर ने एक वर्चुअल मीटिंग में कहा कि, हम प्ले बिलिंग नीति को स्पष्ट कर रहे हैं, जो लंबे समय से चली आ रही है, लेकिन कुछ लोग इनसे अवगत नहीं हैं। इसलिए गूगल एक बार फिर से अपनी नीतियों को स्पष्ट करने के साथ ही इन्हें समान रूप से लागू कर रहा है। इसके बाद अब (Google Play Store) गूगल प्ले स्टोर में प्रत्येक डेवलपर जो गूगल प्ले के जरिए अपनी डिजिटल सामग्री को बेचता है। उन्हें प्ले बिलिंग का इस्तेमाल करना होगा।

डेवलपर को यह काम करना होगा अनिवार्य

इसका मतलब है कि डेवलपर को सितंबर 2021 से (Google Billing) गूगल बिलिंग प्रणाली का इस्तेमाल करना होगा, जो ऐप के जरिए किए गए भुगतान पर 30 प्रतिशत शुल्क लेता है। हालांकि, यदि डेवलपर कोई भौतिक वस्तु या अपनी वेबसाइट के जरिए भुगतान लेता है, तो उसे (Play Billing) प्ले बिलिंग की जरूरत नहीं होगी। कोचिकर ने कहा कि लगभग 97 प्रतिशत डेवलपर्स इस नीति को समझते हैं और इसका पालन करते हैं, हालांकि उन्होंने उन लोगों के नाम नहीं लिए जिन्होंने इसका पालन नहीं किया

Next Story