Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

आज से बदल जाएगा आपकी सैलरी से जुड़ा ये नियम, जानिए क्या होगा इसका असर

इन 4 तरीकों से मिनटों में जान सकते हैं अपने पीएफ खाते का बैलेस।

आज से बदल जाएगा आपकी सैलरी से जुड़ा ये नियम, जानिए क्या होगा इसका असर
X

देश और दुनिया में फैले कोरोना के संक्रमण का असर नौकरी पेशा से लेकर उद्योगपति और अर्थव्यवस्था तक पडा है। जिसकी वजह से काफी कुछ बदल गया है। ऐसे में एक अगस्त यानि आज से नौकरी पेशा लोगों की सैलरी से जुडे इन नियमों में भी बदलाव जो जाएगा। हालांकि वित्त मंत्री इसकी घोषणा पहले ही कर चुकी है, लेकिन यह नियम आज से प्रभावी रूप से काम करेगा। यह नियम हर महीने नौकरी पेशा की सैलरी से कटकर EPF में जाने वाले मंथली कॉन्ट्रिब्यूशन से है। जो पहले 24 प्रतिशत था। अब इसे घटाकर 20 प्रतिशत कर दिया गया है।

दरअसल, वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister of India Nirmala Sitharaman) ने लॉकडाउन के बीच कहा था कि मई, जून और जुलाई में कर्मचारियों का सिर्फ 10 प्रतिशत पीएफ ही कटेगा और कंपनी भी इसमें अपना 10 प्रतिशत कॉन्ट्रिब्यूशन करेगी, लेकिन 1 अगस्त से सभी कर्मचारियों की इन हैंड सैलरी पर इसका प्रभाव दिखाई देगा।

ऐसे चेक कर सकते हैं अपना पीएफ अकाउंट

अगर आप अपने (EPF Account) में जमा धनराशि का पता लगाना चाहते हैं तो इसके एक या दो नहीं बल्कि 4 तरीके हैं। इनमें से आप कोई भी एक अपना सकते हैं। इन 4 तरीकों में EPFO ऐप या Umang ऐप के जरिये आप अपना ईपीएफ अकाउंट बैलेंस देख सकते हैं। इसके अलावा SMS और Missed Call के जरिये भी अपने खाते में जमा रुपये का पता लगा सकते हैं।

-EPFO ऐप से बैलेस पता करने के लिए पहले 'm-EPF' को डाउनलोड करें। यहां ऐप में Member पर क्लिक करें। इसके बाद Balance/Passbook पर क्लिक करें। इसके बाद UAN नंबर और रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर भरकर अपना EPF बैलेंस चेक करें।

-Umang App के माध्यम से बैलेंस चेक करने के लिए आपको एक बार अपने मोबाइल नंबर से वन-टाइम रजिस्ट्रेशन करना होगा। इसके बाद आप उमंग ऐप से आप EPF पासबुक देख सकते हैं, Claim Raise कर सकते हैं और इसे ट्रैक भी कर सकते हैं।

-EPF Balance Check करने के लिए अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 7738299899 पर मैसेज करें। इस पर एसएमएस को EPFOHO UAN ENG लिख करके 7738299899 पर मैसेज करना होगा। वहीं मैसेज की सुविधा इंग्लिश के साथ, हिंदी, पंजाबी, गुजराती, मराठी, कन्नड़, तेलुगु, तमिल, मलयालम और बंगाली भाषाओं में भी उपलब्ध है।

Next Story
Top