Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

अब भारत में ये फार्मा कंपनी बेचेगी रूस में बनी कोरोना वैक्सीन, दोनों के बीच फाइनल हुई डील

देश की बड़ी फार्मा कंपनी Dr Reddy's ने रूस की दवा कंपनी से किया करार। अब भारत में भी मिलेगी रूस में तैयार की गई कोरोना वैक्सीन।

अब भारत में ये फार्मा कंपनी बेचेगी रूस में बनी कोरोना वैक्सीन, दोनों के बीच फाइनल हुई डील
X

देश और दुनिया में कोरोना संक्रमण की वजह से हाहाकार मचा हुआ है। दुनिया भर में इस संक्रमण वजह से लाखों की लोगों की मौत हो चुकी है तो वहीं अर्थव्यवस्था भी बुरी तरह प्रभावित हो गई है। अब रूस ने कोरोना की वैक्सीन (Corona Vaccine) तैयार कर ली है। जो भारत वासियों को भी अपने देश में मिल सकेगी। जी हां इसके लिए भारत की बड़ी फार्मा कंपनी डॉ रेड्डीज (Dr Reddy's) ने रूस की कंपनी के साथ करार कर लिया है। अभी हाल में दोनों कंपनियों के बीच भारत में रूस की कोरोना वैक्सीन की 10 करोड़ डोज पर समझौता हुआ है।

न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार, रूस का सॉवरेन वेल्थ फंड (Sovereign Wealth Fund) आरडीआईएफ की भारतीय फार्मा कंपनी डॉ रेड्डीज (Dr Reddy's) के बीच डील फाइनल हो गई है। इसके तहत रूस का सॉवरेन वेल्थ फंड भारतीय फार्मा कंपनी (Indian Pharma Company) को 10 करोड़ डोज़ बेचेगी। इसके लिए भारत की तरफ से सभी रेग्युलेटरी मंजूरी मिल गई है। वहीं रूस के साथ फाइनल हुई डील की खबर लगते ही डॉ रेड्डीज के शेयर में जोरदार उछाल आया गया है। बुधवार को कंपनी का शेयर 4.36 प्रतिशत की बढ़त के साथ 4637 रुपये के भाव पर पहुंच गया।

यह है रूस की कोरोना वैक्सीन का नाम

रूस की कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) की बात करें तो इसका नाम रूस में 'स्पुतनिक वी' दिया गया है। इसकी वजह रूसी भाषा में 'स्पुतनिक' शब्द का अर्थ होता है सैटेलाइट। यहां रूस ने ही विश्व का पहला सैटेलाइट बनाया था। उसका नाम भी स्पुतनिक ही रखा था। उसी के नाम पर कोरोना वैक्सीन (Coronavirus Vaccine)को भी यह नाम दिया गया है। वहीं रूस 11 अगस्त को कोविड-19 की वैक्सीन को मंजूरी देने वाला दुनिया का पहला देश बन गया है। यह वैक्सीन अगले साल एक जनवरी से आम लोगों के लिए भी उपलब्ध हो जाएगी।

Next Story
Top