Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Budget 2022: क्रिप्टो करेंसी या डिजिटल करेंसी पर 30 प्रतिशत टैक्स, जानिए ये क्या है और इसे कैसे खरीदते हैं...

बजट 2022-23 में वर्चुअल डिजिटल एसेट्स और गिफ्ट्स पर 1 प्रतिशत टीडीएस लगेगा। जबकि, डिजिटल करेंसी (Digital Currency) और क्रिप्टो करेंसी (Crypto Currency) पर 30 प्रतिशत तक का टैक्स देना होगा।

Budget 2022: क्रिप्टो करेंसी या डिजिटल करेंसी पर 30 प्रतिशत टैक्स, जानिए ये क्या है और इसे कैसे खरीदते हैं...
X

लोकसभा में क्रेंद्रिय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Union Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने बजट 2022-23 को पेश किया। इस बार के बजट में भी इनकम टैक्स स्लैब में कोई बदलाव नहीं किया गया है। जबकि, आईटीआर (ITR) ंमें गड़बड़ी होने पर 2 साल में सुधार करने की सुविधा प्रदान की है। इसके अलावा कोर्पोरेट, दिव्यागों के माता-पिता और पेंशन में टैक्स छूट दी गई है। हालांकि, वर्चुअल डिजिटल एसेट्स और गिफ्ट्स (Virtual Digital Assets and Gifts) पर टैक्स देने का ऐलान किया गया है। साथ ही डिजिटल करेंसी या क्रिप्टो करेंसी (Crypto Currency) पर भी टैक्स लिया जाएगा।

आपको बता दें कि बजट 2022-23 में वर्चुअल डिजिटल एसेट्स और गिफ्ट्स पर 1 प्रतिशत टीडीएस लगेगा। जबकि, डिजिटल करेंसी (Digital Currency) और क्रिप्टो करेंसी (Crypto Currency) पर 30 प्रतिशत तक का टैक्स देना होगा। ऐसे में क्रिप्टो करेंसी और डिजिटल आय पर 30 प्रतिशत टैक्स भरना होगा। आइए आपको बताते हैं कि क्या होती है क्रिप्टो करेंसी या डिजिटल करेंसी? साथ ही इसे खरीदने का तरीका भी बताने जा रहे हैं...

क्रिप्टो करेंसी और डिजिटल करेंसी क्या है?

वित्तीय लेन-देन के जरिए को क्रिप्टो करेंसी और डिजिटल करेंसी भी कहा जा सकता है। ये भारतीय रुपयों और अमेरिकी डॉलर के जैसा होता है। हालांकि, फर्क इतना है कि क्रिप्टो करेंसी और डिजिटल करेंसी आभाषी है, जिसे न तो छू सकते हैं और ना ही देख सकते हैं। ये ही कारण है कि क्रिप्टो करेंसी को डिजिटल करेंसी भी कहा जाता है। डिजिटल करेंसी का पूरा बिजनेस केवल ऑनलाइन तरीके से किया जाता है। इसमें देश की करेंसी के लेन-देन के लिए एक बीत में बैंक होता है, जैसे-भारत में केंद्रिय बैंक हैँ। जबकि, डिजिटल करेंसी का बिजनेस इससे थोड़ा अलग है। इसमें कोई मध्यस्थ नहीं होता है। इसे ऑनलाइन तरीके से एक ही नेटवर्क पर संचालित किया जाता है। ये करेंसी किसी को भी एक झटके में अमीर तो किसी को गरीब भी बना सकती है।

ऐसे खरीदी जाती है Crypto Currency

क्रिप्टो करेंसी के लिए दुनियाभर में सैकड़ों एक्सचेंज काम कर रहे हैं। इनमें बिनान्से और क्वाइनबेस जैसे इंटरनेशनल प्लेटफॉर्म हैं। भारत में देखा जाए तो जेबपे, वजीरएक्स, क्वाइन डीसीएक्स गो, क्वाइनस्विच कुबेर समेत कई एक्सचेंज संचालित हैं। इस तरह के प्लेटफॉर्म से इथेरियम,बिटक्वाइन,डॉजक्वाइन और टेथर समेत कई डिजिटल मुद्राएं खरीदी जा सकती हैं.

आपको बता दें कि देश में bitcoin जैसे अन्य क्रिप्टो करेंसी को खरीदना और बेचना दोनों ही बेहद आसान है। इसकी खासियत ये है कि दुनियाभर के सभी क्रिप्टो एक्सचेंज खरीदने और बेचने के लिए 24 घंटे खुले रहते हैं। किसी भी एक एक्सचेंज पर पंजीकरण कर आप क्रिप्टो को खरीद व बेच सकते हैं। एक्सचेंज पर पंजीकरण के लिए वेबसाइट पर जाकर साइनअप करें। साथ ही केवायसी प्रक्रिया को भी पूरा कर लें। इससे रुपये में क्रिप्टो को बदलकर अपने वॉलेट में पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं।

और पढ़ें
Next Story