Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

4 साल में JIO ने इंटरनेट इस्तेमाल में किया बड़ा बदलाव, 0.24GB से बढ़कर 10.4GB प्रति माह हो रही डेटा की खपत

इंटरनेट डेटा खपत में पिछले 4 सालों में 155 वें स्थान अमेरिका और चीन को पछाड़ते हुए पहले स्थान पर पहुंचा भारत। गांव में इंटरनेट यूजर्स की संख्या दोगुना से भी ज्यादा बढी।

4 साल में JIO ने इंटरनेट इस्तेमाल में किया बड़ा बदलाव, 0.24GB से बढ़कर 10.4GB प्रति माह हो रही डेटा की खपत
X

टेलीकॉम कंपनी जियो ने स्थापना के 4 साल के भीतर दूरसंचार के क्षेत्र में बडा बदलाव कर दिया है। इतना ही नहीं डेटा यूसेज बढाने से लेकर इसकी कीमतें बेहद कम करने का श्रेण भी रिलायंस जियो को ही जाता है। इसकी वजह 2016 में 1GB डेटा 185 से 200 रुपये GB तक मिलता था, लेकिन रिलायंस जियो (Reliance Jio) के लॉन्च होते ही उसने एक से एक इंटरनेट के (Jio Popular Plans) पॉपुलर प्लान्स निकाले। जिसके बाद ग्राहकों के लिए प्रतिजीबी डेटा की कीमत करीब 5 रुपये पर आ गई है। डेटा की किफायती कीमतों की वजह से डेटा खपत में भी काफी ज्यादा उछाल आया है। जहां जियो के लॉन्च होने से पहले प्रति व्यक्ति की एक माह में इंटरनेट डेटा की खपत सिर्फ 0.24GB थी। वह आज के समय में कई गुणा बढ़कर 10.4GB हो गई है।

कोरोना काल और लॉकडाउन में हुआ इंटरनेट डेटा का सबसे ज्यादा इस्तेमाल

देश में कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के बीच मानों हर व्यक्ति ने वर्क फ्रॉम होम से लेकर बच्चों की ऑनलाइन क्लास, जरूरी सामान का ऑर्डर और डॉक्टर से सलाह भी ऑनलाइन घर बैठे ली है। यह सब इंटरनेट डेटा की वजह से ही संभव हो पाया है। इसके साथ ही जियो की वजह से ही इंटरनेट डेटा की खपत भी लोगों की पहुंच तक रही। रिलायंस जियो इसे डेटा क्रांति कहती रही है। इसकी वजह भी साफ है रिलायंस जियो शुरू होने से पहले 2016 में देश (Internet Data) इंटरनेट डेटा इस्तेमाल के मामले में 155 वें स्थान पर था। रिलयांस जियो आने के बाद 4 साल बाद आज के समय में देश दुनिया में डेटा खपत के मामले में नंबर एक पर पहुंच गया है। ट्राई के अनुसार, अमेरीका और चीन मिलकर जितना मोबाइल 4जी डेटा खपत करते हैं उनसे कही ज्यादा अकेले भारत के लोग डेटा का इस्तेमाल करते हैं।

60 प्रतिशत से ज्यादा जियो नेटवर्क का इस्तेमाल किया जाता है इंटरनेट डेटा

वहीं देश में इंटरनेट डेटा की बात करें तो और दूरी (Telecom Company) टेलीकॉम कंपनियों के मुकाबले आज भी देश में 60 प्रतिशत इंटरनेट डेटा रिलायंस जियो का इस्तेमाल किया जाता है। इसके साथ ही जियो के नये नये और सस्ते प्लान मार्केट में धूम मचाये हुए हैं। इसी कडी में रिलायंस के जियोफाइबर के एक नये प्लान्स के साथ रिलायंस जियो ने एक बार फिर बाजार में हलचल मचा दी है। इसकी वजह पहली किसी टेलीकॉम कंपनी द्वारा ट्रू अनलिमिटेड डेटा खपत प्लान लाना है। यानि अब आप प्लान के साथ उसके कनेक्शन की स्पीड भी कम या ज्यादा होगी। जिसे ग्राहक जितना चाहे उतना डेटा इस्तेमाल कर सकता है। यह प्लान देश में डेटा खपत को नये सिरे से परिभाषित करेगा।

मुफ्त वॉयस कॉलिंग से लेकर वीडियो कॉलिंग का लोगों को मिला फायदा

रिलायंस जियो ने मार्केट में आते ही इंटरनेट डेटा के क्षेत्र एक या दो नहीं बल्कि कई प्रयोग किये। जिसको (Mobile User's) मोबाइल यूजर्स ने काफी पसंद भी किया। इसमें मुफ्त वॉयस कॉलिंग से लेकर वीडियो और किफायती डेटा के साथ ही 2जी नेटवर्क का इस्तेमाल करने वाले और ग्रामीण भारत के लिए कंपनी बेहद सस्ते दामों पर 4G जियोफोन ले कर आई। यही वजह है कि देश में 10 करोड़ से ज्यादा लोग जियोफोन उपभोक्ता हैं। (Jio Phones) जियोफोन आने के बाद से शहर ही नहीं बल्कि गांवों में डेटा सब्सक्राइबर नंबर तेजी से बढ़ गया है। 2016 में जहां गांवों में 12 करोड़ के करीब ग्राहक डेटा इस्तेमाल कर रहे थे। वहीं आज के समय में इनकी संख्या दोगुने से भी कहीं ज्यादा बढकर 28 करोड़ हो गई है। इसी के बल पर रिलायंस जियो ने टेलीकॉम सेक्टर में भी दूसरी कंपनियों को पटकनी देते हुए पहला स्थान बना लिया। इतना ही नहीं रिलायंस जियो ने अपने नेटवर्क से ग्राहकों को जोड़ने में भी रिकॉर्ड कायम किया है। पिछले 4 सालों में जियो से करीब 40 करोड़ से अधिक उपभोक्ता जुड़े हैं।

Next Story