Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

सावधान! UPI पेमेंट करने से पहले इन बातों का रखें खास ध्यान, वरना हो जाओगे कंगाल!

UPI Payment Safety Tips: यूपीआई का इस्तेमाल करने के जितने फायदे हैं उतने ही इसके नुकसान भी हैं। आज हम आपको 5 ऐसी बातों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें अपनाकर आप कंगाल होने से बच सकते हैं, आइए जानते हैं...

सावधान! UPI पेमेंट करने से पहले इन बातों का रखें खास ध्यान, वरना हो जाओगे कंगाल!
X

बीते कुछ सालों से भारत में डिजिटल लेनेदेन (Digital Payment) करने वालों की संख्या में बढ़ोतरी देखी गई है। आज के समय में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति हो जो स्मार्टफोन के जरिए पेमेंट (Payment) का लेनदेन न करता हो। मोहल्ले के किराने से लेकर बड़े शॉपिंग मॉल्स तक हर जगह अब ऑनलाइन पेमेंट होने लगा है। वहीं, कई तरह के डिजिटल पेमेंट एप्स भी मौजूद है। जिनमें सबके लिए एक ही यूपीआई आईडी (UPI Payment) का इस्तेमाल किया जाता है, चाहे वो फोन पे (Phone Pay) हो, गूगल पे (Google Pay) या पेटीएम (Paytm) या फिर भीम ऐप हो।

ये सभी एक डिजिटल पेमेंट ऐप हैं जिनका काम ऑनलाइन तरीके से लेनदेन करने का होता है। इन सभी ऐप के जरिए भले ही पेमेंट करने का तरीका आसान हो जाता है, लेकिन ये कई बार घातक भी साबित हो सकता है। यूपीआई का इस्तेमाल करने के जितने फायदे हैं उतने ही इसके नुकसान भी हैं। हालांकि, ये जानकर आपको डरने या घबराने की आवयश्कता नहीं है, बल्कि सतर्कता बरतने की जरूरत है। आज हम आपको 5 ऐसी बातों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें अपनाकर आप कंगाल होने से बच सकते हैं, आइए जानते हैं...

UPI पेमेंट के 5 सेफ्टी टिप्स

1. एक सुरक्षित स्क्रीन लॉक लगाएं

आप अगर अपने फोन में पेमेंट ऐप यूज करते हैं तो इसके लिए सिंपल पासवर्ड न रखें। अक्सर लोग ऐसी गलती कर बैठते हैं कि वो इन ऐप्स पर भी काफी सिंपल पासवर्ड सेट करते हैं। ऐसे में कोई भी उस पासवर्ड को हैक कर सकता है। इसलिए आप जो भी लेनेदेन वाले ऐप का इस्तेमाल करते हैं उसमें एक मजबूत पासवर्ड सेट करें। ध्यान रहे कि ये पासवर्ड आपका फोन नंबर, जन्मतिथि आदि न हो। इसके अलावा जो आपका पिन पासवर्ड हो वो किसी के साथ भी शेयर न करें।

2. अपने UPI एड्रेस को न करें शेयर

अक्सर लोग इस तरह की गलती कर बैठते हैं कि वो अपना यूपीआई एड्रेस किसी के साथ भी शेयर कर देते हैं। अगर आप सोच रहे हैं कि यूपीआई एड्रेस क्या होता है तो ये आपका फोन नंबर, वर्चुअल पेमेंट एड्रेस और क्योआर कोड हो सकता है। कहा जाता है कि किसी को भी किसी भुगतान या बेंक एप्लिकेशन के जरिए अपने बैंक तक पहुंचने नहीं देना चाहिए।

3. मैसेज या अनवेरिफाइड लिंक पर क्लिक न करें

कई बार हमारे बैंक के नाम से फेक मैसेज आ सकते हैं, जिनमें लिंक भी सेंड किया जा सकता है। जिस पर क्लिक करने से आपका बैंक अकाउंट खाली हो सकता है। इसलिए आपको किसी भी तरह के ऐसे मैसेज को रिस्पॉन्स नहीं देना चाहिए। खासकर जो मैसेज या लिंक अनवेरिफाइड हो उन पर तो बिल्कुल भी क्लिक न करें। ये मैसेज हैकर्स द्वारा भी भेजे जा सकते हैं जो आपके फोन समेत बैंक को हैक कर सकता है। इसके अलावा अगर आपके पास कोई कॉल आए जिसमें ओटीपी पूछी जाए उसका भी जवाब न दें, ये भी हैकर्स की एक चाल हो सकती है।

4. UPI ऐप को अपडेट करते रहें

कुछ लोग ये गलती कर बैठते हैं कि वो अपने पेमेंट ऐप का इस्तेमाल तो करते हैं लेकिन उसे अपडेट नहीं करते हैं। हालांकि, इन ऐप्स को लगातार अपडेट करते रहना चाहिए, इससे नए फीचर्स और नई गाइडलाइंस की जानकारी हो सकती है। ऐप्स को अपग्रेड करने से आपका बैंक खाता भी सेफ रह सकता है।

5. पेमेंट के एक से ज्यादा ऐप्स इस्तेमाल करने से बचें

कुछ ऐसे भी लोग हैं जो कई पेमेंट ऐप में अपना अकाउंट बना लेते हैं और सभी में यूपीआई एड्रेस से लॉगइन कर लेते हैं। हालांकि, आपकी ये गलती आपको खतरे में डाल सकती है। इसलिए संभव हो तो एक या दो ऐप्स का ही इस्तेमाल करें।

और पढ़ें
Next Story