Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

4G vs 5G: जानिए 4G और 5G को स्पीड से लेकर होंगे ये फायदें, जानें सभी सवालों का जवाब

5जी इंजरनेट सेवा को लेकर आपके मन में भी कई तरह के सवाल होंगे। जैसे- 5जी इंजरनेट क्या है?, आपके मोबाइल में आखिर कब से चलेगा 5जी नेट, 4जी के मुकाबले 5जी इंटरनेट कितना तेज चलेगा, 5जी इंटरनेट सस्ता होगा या महंगा और भी इसी तरह के कई सवाल। तो चलिए आज की इस हरिभूमि एक्सप्लेनर (HariBhoomi Explainer) की रिपोर्ट में हम आपको देते हैं, 5जी से जुड़ा हर सवाल का जवाब।

4G vs 5G: जानिए 4G और 5G को स्पीड से लेकर होंगे ये फायदें,  जानें सभी सवालों का जवाब
X

4g vs 5g comparison: इन देशों में 5जी नेटवर्क (5G network) को लेकर चर्चाएं हो रही हैं। सरकार की ओर से भी लगातार कहा जा रहा है कि जल्द ही देश में 5जी सेवाओं (5G services) की शुरुआत होगी।5जी इंजरनेट सेवा को लेकर आपके मन में भी कई तरह के सवाल होंगे। जैसे- 5जी इंजरनेट क्या है?, आपके मोबाइल में आखिर कब से चलेगा 5जी नेट, 4जी के मुकाबले 5जी इंटरनेट कितना तेज चलेगा, 5जी इंटरनेट सस्ता होगा या महंगा और भी इसी तरह के कई सवाल। तो चलिए आज की इस हरिभूमि एक्सप्लेनर (HariBhoomi Explainer) की रिपोर्ट में हम आपको देते हैं, 5जी से जुड़ा हर सवाल का जवाब।

क्या है 5जी नेटवर्क (what is 5g network)

5जी का मतलब है, पांचवी जनरेशन (Fifth Generation)। यानी आसान शब्दों में कहे तो आधुनिक स्तर का सबसे अच्छा नेटवर्क। ऐसा नेटवर्क जिसकी स्पीड बहुत फास्ट होगी। 5जी नेटवर्क लो बैंड, मिड और हाई फ्रिक्वेंसी बैंड स्पेक्ट्रम पर काम करता है। 5जी के रेंट और स्पीड दोनों तेज होगी।

5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी में क्या कुछ हुआ (5G spectrum auction)

5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी की प्रक्रिया सरकार ने 26 जुलाई 2022 से शुरु हुई थी, जोकि 1 अगस्त को पूरी हो चुकी है। नीलामी में रिलायंस जियो ने सबसे अधिक पैसा खर्च करते हुए 5जी के 50 फीसद हिस्सा खरीद लिया। टेलीकॉम कंपनी रिलायंस जियो ने नीलामी में 88,078 करोड़ रुपये खर्च करके देश के सभी 22 सर्किल के लिए 700 मेगाहर्ट्ज और 800MHz, 1800MHz, 3300MHz और 26GHz बैंड के स्पेक्ट्रम भी खरीदे। जियो के अलावा नीलामी में भारती एयरटेल (Bharti Airtel), वोडाफोन-आइडिया (Vodafone-Idea) और अडाणी समूह (Adani Group) ने कुल मिलाकर 62,095 करोड़ का स्पेक्ट्रम खरीदा है। 5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी में सरकार ने 1,50,173 करोड़ रुपये कमाएं हैं।

देश में कब से शुरु होगी 5जी की सेवाएं (5G services in India)

5जी स्पेक्ट्रम की नीलामी की प्रक्रिया पूरी होने के बाद सरकार अब आगे के कामों में तेजी से जुट गई है। सरकार चाहती है कि देश में जल्द से जल्द 5जी की सेवाएं शुरु हो। केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने जानकारी देते हुए कहा कि 10 अगस्त तक 5जी स्पेक्ट्रम को लेकर जुड़ी सभी औपचारिकताओं और स्पेक्ट्रम का आवंटन कार्य पूरा कर लिया जाएगा। सरकार की ओर से जारी बयान और रिपोर्ट्स को देखने पर पता चलता है कि देश में अक्टूबर महीने से 5जी इंटरनेट की सेवाएं शुरु हो जाएंगी। संभावना है कि इस साल के अंत तक आपके मोबाइल में भी 5जी नेट चलने लगे।

5जी इंटरनेट किस कंपनी का चलेगा सबसे तेज (fastest 5G internet company in india)

5जी इंटरनेट की सेवाओं के लिए 700 मेगाहर्ट्ज बैंड सबसे अधिक उपयोगी माना जाता है क्योंकि इसकी आवृति सबसे अधिक होती है। नीलामी में रिलायंस जियो ने 700 मेगाहर्ट्ज वाले बैंड को अपने नाम किया है। इसके ऊपर प्रतिक्रिया देते हुए रिलायंस जियो के चेयरमैन आकाश अंबानी ने कहा कि जियो ग्लोबल स्टैंडर्ड वाली किफायती 5G सर्विस पेश करेगा। जियो 5G भारत की डिजिटल क्रांति को गति देगा। खासतौर पर शिक्षा, हेल्थ, कृषि, विनिर्माण और ई-गवर्नेंस जैसे सेक्टर में जियो 5G मददगार साबित होगा। यानी एक बात स्पष्ट है कि भारत में 5जी इंटरनेट की सेवा सबसे बेहतर जियो कंपनी ही देगी।

देश के इन शहरों से शुरु होगी 5जी की सेवाएं (5G services start from these cities in india)

रिपोर्ट्स की मानें तो सरकार 5जी सेवाओं की शुरुआत पहले देश के 13 शहरों से करेगी। इस लिस्ट में हमदाबाद, बैंग्लुरू, चंडीगढ़, चेन्नई, दिल्ली, गांधीनगर, गुरुग्राम, हैदराबाद, जामनगर, कोलकाता, लखनऊ, मुंबई और पुणे शामिल हैं। इस शहरों के बाद पूरे देश में 5जी की सेवाओं को शुरु करने के लिए काम किया जाएगा।

4जी के मुकाबले कितना तेज होगा 5जी इंजरनेट (5G and 4G internet speed comparison)

5जी की सटीक स्पीड कितनी होगी, ये तो 5जी की सेवाओं के शुरु होने के बाद ही पता चल पाएगा। लेकिन कहा जा रहा है कि 4जी के मुकाबले 5जी की स्पीड 10गुना अधिक होगी। फुल एचडी मूवी को डाउनलोड करने में कुछ ही सेकेंड का समय लगेगा। हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 5जी की औसत स्पीड 100 एमबीपीएम से ज्यादा होगी।

5जी इंटरनेट सस्ता होगा या महंगा (5G internet price in india)

लोगों के मन सबसे बड़ा सवाल है कि आखिर 5जी इंटरनेट सेवा कितने में मिलेगी। क्या 5जी इंटरनेट 4जी के मुकाबले महंगा होगा। कई रिपोर्ट और टेलीकॉम कंपनियों का कहना है कि 5जी इंटरनेट के प्राइज 4जी के ही बराबर होंगे। भारती एयटेल के चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर रणदीप ने इस बारे में जानकारी देते हुए कहा कि 5जी के डेटा प्लांस की कीमतें लगभग 4जी के कीमतों की रेंज में ही होगी। हालांकि कीमतों को टेलीकॉम कंपनियां अपने हिसाब से तय करेगी। कई रिपोर्ट्स का यह भी कहना है कि 4जी के मुकाबले 5जी इंटरनेट महंगा होगा। लेकिन रिलांयस जियो की ओर से कहा गया है कि देश में कंपनी सबसे बेहतर और सस्ती 5जी सेवाएं देगी।

देश की चार कंपनियां देगी 5जी की सेवाएं (Four companies provide 5G services in india)

5जी स्पेक्ट्रम के नीलामी में रिलायंस जियो (Reliance Jio), भारती एयरटेल (Bharti Airtel), वोडाफोन-आइडिया (Vodafone-Idea) और अडाणी समूह (Adani Group) ने भाग लिया था। इन चार टेलीकॉम कंपनियों ने ही 5जी के स्पेक्ट्रम खरीदे हैं। यानी साफ है कि भारत में ये चार कंपनियां ही 5जी इंटरनेट की सेवाएं देगी।

5जी के आने से क्या-क्या होंगे फायदें (benefits of 5G)

देश में 5जी के आने के बाद इंटरनेट की स्पीड तो तेज होगी ही साथ में कई तरह के अन्य बदलाव भी होंगे। डिजिटल भारत योजना को उड़ान मिलेगी। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के क्षेत्र में काफी सकारात्मक बदलाव होगा। डिजिटल पढ़ाई को बढ़ावा मिलेगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी स्वयं कह चुके है कि 5जी आने के बाद देश की आर्थिक स्थिति और बेहतर होगी। देश की शिक्षा व्यवस्था, स्वास्थ्य व्यवस्था, कृषि, लॉजिस्टिक्स और इंफ्रास्ट्रक्चर में 5जी का बड़ा योगदान रहेगा। देश बदलाव की ओर बढ़ेगा।

और पढ़ें
Next Story