Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Shardiya Navratri 2019 : नवरात्रि के ये संकेत बताते हैं कैसा होगा आपका भविष्य

Shardiya Navratri 2019 नवरात्रि पर अगर आप जौं उगाते हैं, तो यह आपको आपके भविष्य के बारे में बता सकती हैं,जौं से आप आसानी से जान सकते हैं कि आपका आने वाला साल आपके लिए अच्छा है या बुरा, तो आइए जानते हैं नवरात्रि पर किन संकेतों से आप अपने भविष्य के बारे में पता लगा सकते हैं।

Shardiya Navratri 2019 : नवरात्रि ये संकेत बताते हैं कैसा होगा आपका भविष्यShardiya Navratri 2019 Navratri These Signs Tell Your Future

Navratri 2019 नवरात्रि पर अपने मंगल की कामना करते हुए मां दुर्गा के भक्त अनेकों उपाय करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि नवारात्रि पर प्रकृति आपको कुछ ऐसे संकेत देती हैं। जिनसे आप अपने भविष्य के बारे में आसानी से पता लगा सकते हैं। शारदीय नवरात्रि का पर्व (Shardiya Navratri) इस साल 2019 में 29 सितंबर 2019 के दिन मनाया जाएगा। नवरात्रि पर मां दुर्गा (Maa Durga) की आराधना करने से मनुष्य अपने जीवन के सभी दुखों को दूर कर सकता है तो आइए जानते हैं नवरात्रि पर आपको ऐसे क्या संकेत प्राप्त होते हैं। जिससे आप अपने अपने भविष्य के बारे में पता लगा सकते हैं।


इसे भी पढ़ें : Shardiya Navratri 2019: शारदीय नवरात्र कब है, घटस्थापना मुहूर्त, महत्व, पूजा विधि कथा, दुर्गा पूजा, नवमी, महानवमी और दशहरा की जानकारी

नवरात्रि पर भविष्य के संकेत (Navratri Per Bhavisya Ke Sanket)

नवरात्रि का पर्व हिंदू धर्म में विशेष मान्यता रखता है। यह वह समय होता है जब ऋतुएं बदलती है। इस पर्व में लोग मां दुर्गा की पूजा अर्चना करते हैं और मां को कई प्रकार की चीजें अर्पित करते हैं। नवरात्रि में कलश स्थापना और अखंड ज्योति जलाने को विशेष महत्व दिया जाता है। इसके अलावा लोग मां दुर्गा को वस्त्र और श्रृंगार का पूर्ण समान अर्पित करते हैं। मां दुर्गा के मंत्रों का जाप करते हैं। मां दुर्गा का आर्शीवाद प्राप्त करने के लिए लोग कई प्रयत्न करते हैं। शारदीय नवरात्रि से पहले भगवान श्री राम ने मां दुर्गा की पूजा करके विजय का आर्शीवाद मांगा था।

नवरात्रि का पर्व एक वर्ष में चार बार आते हैं। इनमें चैत्र नवरात्रि, शारदीय नवरात्रि और दो बार गुप्त नवरात्रि भी आती हैं। धर्म ग्रंथों के अनुसार आदिशक्ति मां दुर्गा की आराधना के लिए नवरात्रि के नौ दिन अत्याधिक खास होते हैं। इन दिनों मां दुर्गा के नौ स्वरूपों विधिवत पूजा की जाती है और इस समय उगाई जाने वाली जौं हमें हमारे आने वाले भविष्य का संकेत भी देती है। माना जाता है जो लोग नवरात्रि के समय नवरात्रि व्रत और दुर्गा सप्तशती का पाठ करते हैं। वह लोग मिट्टी के बर्तन में जौं भी बो देते हैं। जौं का बोने का एक महत्वपूर्ण कारण भी शास्त्रों में बताया गया है।


इसे भी पढ़ें : Navratri 2019 : नवरात्रि पर जानिए गायत्री मंत्र जाप के लाभ

शास्त्रों के अनुसार जब सृष्टि की रचना हुई थी। उस समय सबसे पहले जौं ही उगी थी। यही कारण है कि जब भी किसी देवी देवता की पूजा की जाती है। तब हवन में जौं का प्रयोग किया जाता है और जौं से ही भविष्य के संकेत भी मिलते हैं। जौं उगानें के तीन बाद ही अंकुरित हो जाती है। लेकिन अगर यह नहीं उगती तो यह एक बुरा संकेत माना जाता है।

इसके अनुसार आपको तब ही सफलता प्राप्त होगी। जब अत्याधिक मेहनत करेंगे। यदि उगने वाले जौं का आधा रंग नीचे से पीला और ऊपर से आधा हरा हो तब माना जाता है कि आने वाले साल का आधा समय ठीक होगा। अगर आपकी उगाई हुई जौं का रंग नीचे से हरा है और ऊपर से आधा पीला है तो इसका अर्थ है आपके आने वाले साल का शुरूआती आधा साल अच्छा बीतेगा और आपको बाकी समय में परेशानियों का सामना करना पड़ेगा।

इसलिए आपको अपने अच्छे समय का ठीक प्रकार से प्रयोग करना चाहिए और मां से प्रार्थना करनी चाहिए कि वह आपके बुरे समय में भी आपकी मदद करें। अगर आपके द्वारा उगाया गया जौं सफेद या फिर हरे रंग का है तो यह बहुत ही शुभ माना जाता है। अगर ऐसा होता है तो माना जाता है कि आपक पूजा सफल हो गई और आपका आने वाला पूरा साल खुशियों से भरा रहेगा।

Next Story
Share it
Top