Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Saturn Transit 2020: शनि का गोचर धनु से मकर राशि में, इन पांच के लिए शनि ने बुना मकड़जाल

Saturn Transit 2020: शनि का गोचर 2020 (Shani Gochar 2020) में 24 जनवरी को हो रहा है। शनि का राशि परिवर्तन धनु से मकर राशि (Saturn Transit 2020 In Sagittarius) में होने के साथ ही शनि की साढ़े साती धनु, मकर, कुंभ (Shani Sade Sati 2020 In Sagittarius Capricorn Aquarius) और शनि की ढैया मिथुन और तुला राशि (Shani Dhaiya 2020 In Gemini Libra) पर शुरू हो रही है। इसके साथ ही 11 मई 2020 को मकर राशि में शनि वक्री अवस्था में गोचर करेंगे, जो 29 सितम्बर 2020 तक मकर राशि में वक्री रहेंगे। शनि का गोचर 27 दिसम्बर 2020 को समाप्त हो जाएंगे और शनि के प्रभाव से जातकों को शान्ति मिलेगी। शनि को न्याय का देवता माना जाता है, साल 2020 में जब शनि मकर राशि में प्रवेश करेंगे तो उस समय वृषभ और कन्या राशि पर से शनि की ढैया और वृश्चिक राशि पर से शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव समाप्त हो जाएगा। तो चलिए जानते हैं शनि का मकर राशि में गोचर करने पर सभी 12 राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा...

Saturn Transit 2020: शनि का गोचर धनु से मकर राशि में, इन पांच के लिए शनि ने बुना मकड़जालSaturn Transit 2020: शनि का गोचर धनु से मकर राशि में, इन पांच के लिए शनि ने बुना मकड़जाल

Saturn Transit 2020 / शनि गोचर 2020: शनि देव 24 जनवरी 2020 को यानी दोपहर 12 बजकर 10 मिनट पर देवगुरु बृहस्पति की राशि धनु को छोड़कर अपनी स्वंय की राशि मकर में गोचर करेंगे और इसके बाद शनि देव 29 अप्रैल 2022 शुक्रवार को दोपहर 12 बजकर 20 मिनट तक इसी राशि में स्थित रहेंगे। शनि के इस गोचर के कारण कुछ राशियों पर शनि की ढैय्या और शनि साढ़ेसाती का प्रभाव शुरू हो जाएगा। तो चलिए जानते हैं शनि का मकर राशि में गोचर करने पर सभी 12 राशियों पर क्या प्रभाव पड़ेगा।


शनि गोचर 2020 का प्रभाव मेष राशि पर (Saturn Transit 2020 Effects On Aries)

मेष राशि के जातकों के लिए शनि का गोचर दसवें भाव में होने जा रहा है। दसवें भाव से कर्म का विचार किया जाता है। शनि का राशि परिवर्तन इस राशि के जातकों के लिए शुभ रहेगा। शनि के राशि परिवर्तन के कारण आपको आपके कार्यक्षेत्र में लाभ मिलेगा। इस समय में आपको नौकरी में प्रमोशन भी प्राप्त हो सकता है। इतना हीं नहीं यदि आप राजनीति मे हैं तो आपको विशेष लाभ और मान सम्मान की प्राप्ति होगी। यदि आप मेष राशि के हैं और आपको अभी तक नौकरी की प्राप्ति नहीं हुई है तो इस समय में आपको नौकरी की प्राप्ति हो जाएगी। पिता के साथ भी इस समय में आपके संबंध मधूर हो जाएंगे।

शनि की तीन दृष्टियां होती है। जो आपके बारहवें भाव, चौथे भाव, सातवें भाव पर पड़ेगी। जिसकी वजह से आपके खर्चों में वृद्धि हो सकती है। लेकिन यदि आप विदेश जाना चाहते हैं तो आपके लिए यह समय शुभ है। इस समय में आपको अपनी माता की सेहत का विशेष ख्याल रखना चाहिए और किसी भी संपत्ति को क्रय करने से पहले उसके बारे में जांच अवश्य कर लें और यदि आप कहीं पर निवेश करना चाहते हैं तो वह भी सोच समझकर करें। पत्नी की सेहत की और भी इस समय विशेष ध्यान दें। वैसे इस समय में आपको अपने बिजनेस में लाभ हो सकता है।


शनि गोचर 2020 का प्रभाव वृषभ राश पर (Saturn Transit 2020 Effects On Taurus)

वृषभ राशि के जातकों के लिए शनि का गोचर नवें भाव मे होने जा रहा है। नवें भाव को भाग्य भाव भी कहा जाता है। शनि का राशि परिवर्तन आपके लिए कुछ मामलों में शुभ स्थिति निर्मित करेगा। शनि का परिवर्तन होने के कारण आपके भाग्य में वृद्धि होगी। आपको इस समय में भाग्य का भरपूर साथ मिलेगा। इतना ही नहीं इस समय में आप धार्मिक कार्यों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेंगे। इस समय में आप धार्मिक यात्राएं भी कर सकते हैं। लेकिन इस समय में आपका अपने पिता के साथ किसी तरह का कोई मतभेद रह सकता है। शनि की दृष्टियों की बात करें तो यह आपके ग्यारहवें, तीसरे और छठे भाव पर पड़ेगी।

शनि के इन दृष्टियों के कारण आपको आय के लिए संघर्ष करना पड़ सकता है। लेकिन इस समय में आपके पराक्रम में वृद्धि होगी। वहीं आपका अपने छोटे भाई बहनों के साथ किसी तरह का कोई विवाद हो सकता है। आपको इस समय में कुछ पुराने रोग भी परेशान कर सकते हैं। पैरों और कमर में दर्द की शिकायत भी इस समय में रह सकती है। यदि आपका कोई कोर्ट केस चल रहा है तो वह अभी और लंबा चल सकता है। वहीं आपको इस समय में अपने शत्रुओं से भी सर्तक रहने की आवश्यकता है। क्योंकि इस समय में वह आपको किसी तरह का कोई बड़ा नुकसान भी पहुंचा सकते हैं।


शनि गोचर 2020 का प्रभाव मिथुन राशि पर (Saturn Transit 2020 Effects On Gemini)

शनि गोचर मिथुन राशि के जातकों के लिए अष्टम भाव में होने जा रहा है। अष्टम भाव को परेशानियों का भाव भी कहा जाता है। शनि का राशि परिवर्तन होने के कारण इस राशि के जातकों पर शनि की अष्टम ढैय्या शुरू हो जाएगी। शनि का परिवर्तन होने के कारण आपको कहीं से अचानक धन की प्राप्ति भी हो सकती है। यदि आपका अपने ससुराल पक्ष से कोई विवाद चल रहा था तो वह इस समय में सुलझ सकता है। इतना ही नहीं इस समय में आपकी सेहत भी ठीक रहेगी। लेकिन आपको शनि की ढैय्या के नकारात्मक परिणाम भी प्राप्त होंगे। शनि की दृष्टि इस भाव में बैठकर आपके कर्म भाव, धन भाव और संतान भाव को प्रभावित करेंगी।

शनि के इस गोचर के कारण आपका अपने परिवार के साथ किसी तरह का कोई विवाद हो सकता है। आपका संचित धन भी इस समय में खर्च हो जाएगा। आपकी वाणी में इस समय में कटूता आ जाएगी। जिसकी वजह से आपका अपने रिश्तेदारों के साथ भी झगड़ा हो सकता है। कार्यक्षेत्र में भी आपको इस समय अधिक मेहनत करनी पडे़गी। इस समय में आपको अपनी वाणी पर संयम रखना चाहिए नहीं तो आपका अपने उच्च अधिकारियों के साथ भी झगड़ा हो सकता है। संतान की तरफ से आपको किसी शुभ समाचार की प्राप्ति हो सकती है। लेकिन प्रेमियों के लिए शनि का यह गोचर बिल्कुल भी शुभ नहीं है। इस समय में आपका अपने प्रेमी के साथ किसी बात को लंबे समय तक विवाद रह सकता है।


शनि गोचर 2020 का प्रभाव कर्क राशि पर (Saturn Transit 2020 Effects On Cancer)

कर्क राशि के जातकों के लिए शनि का गोचर सातवें भाव में होने जा रहा है। सातवें भाव से जीवनसाथी और व्यापार का विचार किया जाता है। शनि का राशि परिवर्तन आपके वैवाहिक जीवन को प्रभावित करेगा। शनि का परिवर्तन आपके वैवाहिक जीवन में सुख लाएगा। यदि आपका अपने जीवनसाथी के साथ किसी तरह का कोई विवाद चल रहा था तो वह इस समय में ठीक हो जाएगा। इस राशि के जो जातक विवाह करना चाहते हैं वे लोग इस समय में विवाह कर सकते हैं। इसके अलावा यदि आप व्यापार करते हैं तो आपको उसमें भी लाभ मिलेगा। आपके अपने बिजनेस पार्टनर के साथ भी संबंध मधुर होंगे। कर्क राशि जो लोग पेट्रोलियम, भूमि और कोयले आदि के कामों से जुड़े हुए हैं उन्हें इस समय में विशेष लाभ की प्राप्ति होगी।

शनि की दृष्टियां आपके भाग्य, लग्न और तीसरे भाव को प्रभावित करेगी। जिससे आपको भाग्य का साथ मिलेगा। लेकिन यदि आप कोई अधर्म का काम करते हैं तो शनि देव आपके भाग्य को नष्ट भी कर देंगे। धार्मिक यात्राएं भी इस समय में संभव है। आपकी प्रवृति इस समय में गभीर हो जाएगी। आप इस समय में कहेंगे कुछ और करेंगे कुछ और। इस समय में आपके सुख साधनों में भी वृद्धि हो सकती है। यदि आप कोई वाहन खरीदना चाहते हैं तो इस समय में खरीद सकते हैं। लेकिन आपको इस समय में अपनी माता जी की सेहत की और विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है।


शनि गोचर 2020 का प्रभाव सिंह राशि शनि पर (Saturn Transit 2020 Effects On Leo)

सिंह राशि के जातको के लिए शनि का गोचर छठे भाव में होने जा रहा है। छठे भाव से रोग और शत्रु का विचार किया जाता है। शनि का राशि परिवर्तन आपके शत्रुओं का नाश करेगा। शनि का परिवर्तन होने के कारण आपको अपने शत्रुओं पर विजय प्राप्त होगी। इस समय में आपके शत्रु आपके सामने आने से भी डरेंगे। यदि आपका कोई कोर्ट केस चल रहा है तो आपको उसमें निश्चित ही सफलता प्राप्त होगी। शनि के गोचर के कारण आपकी सेहत में भी सुधार होगा। यदि आपको कोई बिमारी थी तो वह इस समय में ठीक हो जाएगी। लेकिन जीवनसाथी के साथ आपके संबंध खराब हो सकते हैं। इसलिए सर्तक रहें।

शनि की दृष्टियां आपके आठवें, बारहवें और तीसरे भाव को प्रभावित करेंगी। जिसके कारण आपको अचानक से किसी प्रकार की परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। ससुराल पक्ष से भी आपका किसी प्रकार का कोई झगड़ा हो सकता है। इस समय में आपके खर्चों में भी अधिकता रह सकती है। वहीं आपको लंबी दूरी की यात्राएं भी करनी पड़ेगी जो निरर्थक रहेगी। छोटे भाई बहनों और मित्रों के साथ इस समय में आपके संबंध मधुर रह सकते हैं। आपके पराक्रम में भी इस समय में वृद्धि होगी। यदि आप शराब पीकर गाड़ी चलाते हैं तो आपको इस समय में सावधान हो जाना चाहिए क्योंकि आपके साथ किसी प्रकार की दुर्घटना भी हो सकती है।


शनि गोचर 2020 का प्रभाव कन्या राशि पर (Saturn Transit 2020 Effects On Virgo)

शनि का गोचर कन्या राशि के जातकों के लिए पांचवें भाव में हो रहा है। पांचवें भाव से प्रेम और संतान का विचार किया जाता है। शनि का राशि परिवर्तन आपके पांचवें भाव को प्रभावित करेगा। शनि का परिवर्तन होने के कारण आपकी संतान को कोई विशेष लाभ पहुंच सकता है। जिन दंपत्तियों को अभी तक संतान की प्राप्ति नहीं हुई थी । उन्हें इस समय में संतान की प्राप्ति हो सकती है। इसके अलावा जिन प्रेमियों के बीच में अभी तक झगड़ा चल रहा था। उनके संबंंध इस समय में मधुर हो जाएंगे। वहीं जो लोग अभी तक सिंगल है। उन्हें कोई पार्टनर मिल सकता है।

शनि के दृष्टियां आपके सातवें, ग्यारहवें और दूसरे भाव को प्रभावित करेगा। जिसके कारण आपके वैवाहिक सुख में किसी प्रकार कोई कमीं हो सकती है। इस समय में आपके जीवनसाथी का स्वाभाव कुछ चिड़चिड़ा सा हो सकता है या उनकी सेहत भी खराब रह सकती है। यदि आप बिजनेस करते हैं तो आपको अपने पार्टनर पर अधिक विश्वास नहीं करना चाहिए। इस समय में आपका अपने बड़े भाई बहनों के साथ किसी प्रकार का कोई विवाद भी हो सकता है। इतना ही नहीं इस समय में आपको अपनी आय बढ़ाने के लिए भी अधिक मेहनत करनी पड़ेगी। इस समय में आपकी आर्थिक स्थिति खराब हो सकती है। वहीं आपका परिवार में भी किसी के साथ कोई विवाद हो सकता है।


शनि गोचर 2020 का प्रभाव तुला राशि पर (Saturn Transit 2020 Effects On Libra)

तुला राशि के लिए शनि का गोचर चौथे भाव में हो रहा है। चौथे भाव से माता और सुख का विचार किया जाता है। लेकिन शनि के चौथे भाव में आने के कारण इस राशि के जातकों को शनि की चतुर्थ ढैय्या भी लग जाएगी। शनि का राशि परिवर्तन आपके सुखों को विशेष रूप से प्रभावित करेगा। इस समय में आपके सुख साधनों में वृद्धि होगी। यदि आप भूमि, भवन या वाहन लेना चाहते हैं तो आप इस समय में वह ले सकेंगे। आपको इस समय में अपनी माता का भी पूर्ण सुख प्राप्त होगा। यदि आपकी माता जी को किसी तरह की कोई रोग था तो वह इस समय में ठीक हो जाएगा। लेकिन शनि की दृष्टियों के कारण आपको किसी तरह की परेशानी हो सकती है।

शनि की दृष्टियां आपके छठे, दसवें और लग्न भाव को प्रभावित करेगी। जिसके कारण आपको अपने कार्यक्षेत्र में किसी तरह की परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। आपका इस समय में अपने उच्च अधिकारी के साथ झगड़ा हो सकता है या फिर आपका दूर कहीं ट्रांसफर भी हो सकता है। जिसकी वजह से आपको अपने परिवार से दूर जाना पड़ सकता है। इसके अलावा इस समय में आपको आलस्य की समस्या भी रह सकती है। यदि आपका कोई कोर्ट केस चल रहा है तो वह इस समय में समाप्त हो जाएगा। लेकिन इस समय मे आपके शत्रु आपको परेशान कर सकते हैं।


शनि गोचर 2020 का प्रभाव वृश्चिक राशि पर (Saturn Transit 2020 Effects On Scorpio)

शनि का गोचर वृश्चिक राशि के जातकों के लिए तीसरे भाव में होने जा रहा है। तीसरे भाव से छोटे भाई बहन और पराक्रम का विचार किया जाता है। शनि के तीसरे भाव में आते के साथ ही आप पर से शनि की साढ़ेसाती का प्रभाव समाप्त हो जाएगा। शनि का राशि परिवर्तन आपके पराक्रम में वृद्धि करेगा। शनि का परिवर्तन छोटे भाई बहनों के साथ आपके संबंध मधूर करेगा। इस समय में आपके छोटे भाई बहनों को आपसे किसी प्रकार का लाभ भी हो सकता है। इतना ही नहीं इस समय में आप अपने मित्रों की सहायता से अपने सभी कार्यों को करने में भी सफल होंगे।

शनि की दृष्टियों की बात करें तो वह आपके पांचवें, नवें और बारहवें भाव को प्रभावित करेंगी। जिसकी वजह से आपके आपके प्रेम सबंधों में कटूता आ सकती है। यदि महिला हैं और आपकी राशि वृश्चिक है इसी के साथ आप गर्भवती हैं तो आपको अपना विशेष रूप से ख्याल रखना चाहिए । क्योंकि इस समय में आपका गर्भपात भी हो सकता है। वहीं आपके कुछ कार्य भाग्य के कारण रूक भी सकते हैेें। इस समय में आपको भाग्य का पूर्ण साथ नहीं मिल पाएगा। लेकिन आप धर्म के कार्यों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेंगे। इसके अलावा आपके खर्चों में भी अधिकता रह सकती है। आप यह खर्च किसी लंबी दूरी की यात्रा के लिए कर सकते हैं।


शनि गोचर 2020 का प्रभाव धनु राशि पर (Saturn Transit 2020 Effects On Sagittarius)

धनु राशि के जातकों के लिए शनि का गोचर दूसरे भाव में होने जा रहा है। दूसरे भाव से धन और कुटूंब का विचार किया जाता है। शनि के राशि परिवर्तन के साथ ही इस राशि के जातकों को पर शनि साढ़ेसाती का तीसरा और आखिरी चरण शुरू हो जाएगा। शनि का परिवर्तन आपके धन में वृद्धि करेगा। इसके साथ ही आपको अपने परिवार का सुख भी पूर्णत: प्राप्त होगा। शनि का यह गोचर इस बात की और भी इशारा करता है कि इस समय में आपके घर में कोई नया मेहमान भी आ सकता है। इस समय में आपकी वाणी से लोग प्रभावित भी होंगे। लेकिन शनि की साढ़ेसाती की वजह से आपको कई प्रकार की परेशानियों का सामना भी करना पड़ेगा।

शनि की दृष्टियां आपके चौथे, आठवें और ग्यारहवें भाव को प्रभावित करेगी। जिसके कारण आपकी माता की सेहतस खराब हो सकती है। यदि आप कहीं निवेश करना चाहते हैं तो इस समय में आपको वह निवेश नहीं करना चाहिए। इसके साथ ही इस समय में आपका अपने ससुराल वालों के साथ किसी बात को लेकर विवाद हो सकता है। आपकी सेहत भी इस समय में खराब रह सकती है। यदि आप शराब और मांसाहार का प्रयोग करते हैं तो आपके लिए यह समस्या बढ़ सकती है। आय की बात करें तो आपको इस समय में आपको अपनी आय बढ़ाने के लिए भी अत्याधिक परिश्रम करना पड़ेगा।


शनि गोचर 2020 का प्रभाव मकर राशि पर (Saturn Transit 2020 Effects On Capricorn)

शनि का गोचर मकर राशि के जातको के लिए पहले भाव में होने जा रहा है। पहले भाव को लग्न भाव भी कहा जाता है। मकर राशि में गोचर के साथ ही इस राशि पर शनि की साढ़ेसाती का दूसरा चरण भी शुरू हो जाएगा। जिसके कारण इनका स्वाभाव गंभीर तो होगा ही साथ ही यह लोग कहेंगे कुछ और करेंगे कुछ और शनि के गोचर कारण यह लोग कुछ आलसी भी हो जाएंगे। इस राशि के जातकों के वैवाहिक जीवन में कुछ कमीं आ सकती है। इनका अपनी पत्नी के साथ छोटी- छोटी बातों को लेकर विवाद रह सकता है। वहीं इनकी जीवनसाथी का स्वाभाव भी कुछ गुस्से वाला रहेगा। जिसकी वजह से इनका अपने जीवनसाथी के साथ मतभेद रहेगा।

शनि की दृष्टियां इनके तीसरे,सातवें और दसवें भाव पर पड़ रही है। जिसकी वजह से इन्हें कार्यक्षेत्र में परेशानियों का सामना करना पडे़गा। इनके ऑफिस में लोग इनके बिना वजह के ही दुश्मन बन जाएंगे। वहीं व्यापार करने वालों के लिए भी यह समय ठीक नहीं है। इस समय में आपको व्यापार में हानि का सामना करना पड़ सकता है। यदि आप पार्टनरशिप में व्यापार करते हैं तो आपका पार्टनर आपको धोखा दे सकता है। इसके अलावा आपका अपने छोटे भाई बहनों और मित्रों के साथ भी झगड़ा हो सकता है। लेकिन इस समय में आपका पराक्रम बढ़ा रहेगा। जिसकी वजह से ये लोग संघर्ष करने से पीछे नहीं हटेंगे।


शनि गोचर 2020 का प्रभाव कुंभ राशि पर (Saturn Transit 2020 Effects On Aquarius)

कुंभ राशि के जातको के लिए शनि का गोचर बारहवें भाव में हो रहा है। बारहवें भाव से व्यय का विचार किया जाता है। शनि का राशि परिवर्तन होने के कारण इस राशि पर शनि की साढ़ेसाती प्रारंभ हो जाएगी। इस राशि के जातकों पर शनि साढ़ेसाती का प्रथम चरण आरंभ होगा। जिसके कारण इनके खर्चों में वृद्धि रहेगी। लेकिन यदि आप विदेश जाना चाहते हैं तो आप इस समय में विदेश यात्रा कर सकते हैं। शनि का गोचर इस बात की और इशारा करता है कि आपकी लंबी दूरी की यात्राएं तो अवश्य ही होगी। इस समय में आप कहीं दूर घूमने फिरने का प्लाना भी बना सकते हैं।

शनि की दृष्टियां आपके दूसरे, छठे और नवें भाव पर पड़ेगीं। जिसके कारण आपको परिवारिक विवाद का सामना करना पड़ सकता है। इतना ही नहीं इस समय में आपकी आर्थिक स्थिति पूरी तरह से खराब हो जाएगी और आप अपनी वाणी की वजह से अपना नुकसान कर बैठेंगे। इस समय में आपको किसी प्रकार का रोग होने की भी पूरी संभावना है। इतना ही नहीं इस समय में आपको अपने शत्रुओं से अधिक परेशानी रहेगी और यदि आपका कोई कोर्ट केस चल रहा है तो उसके समाप्त होने के लिए भी आपको अभी और इंतजार करना पड़ेगा। आपके कार्य इस समय में बनते - बनते बिगड़ जाएंगे।


शनि गोचर 2020 का प्रभाव मीन राशि पर (Saturn Transit 2020 Effects On Pisces)

शनि का गोचर मीन राशि के जातकों के लिए ग्यारहवें भाव में होने जा रहा है। ग्यारहवें भाव से आय का विचार किया जाता है। शनि का राशि परिवर्तन न केवल आपकी आय में वृद्धि करेगा बल्कि आपको आय के नए - नए स्रोत भी प्रदान करेगा। शनि का परिवर्तन होने के कारण आपको अपने बड़े भाई - बहन और मित्रों से लाभ की प्राप्ति होगी। इतना ही नहीं इस समय में आपकी सभी प्रकार की इच्छाओं की पूर्ति होगी। शनि का यह गोचर आपको शुभ फलों की प्राप्ति ही कराएगा। लेकिन शनि की दृष्टियां आपको किसी प्रकार की परेशानी भी दे सकती हैं।

शनि की दृष्टियां आपके लग्न, पांचवें और आठवें भाव पर पड़ेंगी। जिसकी वजह से आपको किसी प्रकार की कोई बिमारी हो सकती है या फिर आपमें आलस्य की अधिकता रह सकती है। इसके साथ ही इस समय में आप अपने काम पर ज्यादा ध्यान देंगे। जिसकी वजह से आपका अपने प्रेमी के साथ किसी तरह का विवाद भी हो सकता है। यदि संतान की बात की करें तो इस समय में आपकी संतान की सेहत भी खराब रह सकती है। इसलिए आपको इस समय में संतान की और विशेष ध्यान देना चाहिए। ससुराल पक्ष का कोई व्यक्ति आपके जीवनसाथी को भड़का सकता है। जिसकी वजह से आप और आपके जीवनसाथी के बीच में रिश्ते खराब हो सकते हैं।

Next Story
Top