logo
Breaking

Shanivar ke Upay: सूर्यपुत्र शनिदेव को मनाने के लिए शनिवार के दिन करें ये 10 अचूक उपाय

Shanivar ke Upay: सूर्य पुत्र शनिदेव के न्याय से पूरा संसार परिचित है। शनिदेव का गुस्से से तो देवता भी नहीं बच पाए । इसलिए किसी भी रूप में शनिदेव को क्रोधित नहीं करना चाहिए। शनिदेव किसी के साथ न तो अन्याय करते हैं और न ही किसी के साथ अन्याय होने देते। शनिदेव अपने न्याय के लिए प्रचलित हैं। शनिदेव जब किसी पर मेहरबान होते हैं तो उसके जीवन के सभी सुख दे देतें हैं।लेकिन अगर किसी पर क्रोधित होते हैं तो उससे उसका सब कुछ छीन लेते हैं। शनिवार के दिन अगर आप कुछ उपायों को करते हैं तो आपके जीवन के सभी कष्ट समाप्त हो जाएंगे और अगर आप इन उपायों के बारें में नहीं जानते तो आज हम आपको इन सब के बारे में बताएंगे। तो चलिए जानते है शनिवार के उपाय...

Shanivar ke Upay: सूर्यपुत्र शनिदेव को मनाने के लिए शनिवार के दिन करें ये 10 अचूक उपाय

Shanivar ke Upay: सूर्य पुत्र शनिदेव के न्याय से पूरा संसार परिचित है। शनिदेव का गुस्से से तो देवता भी नहीं बच पाए । इसलिए किसी भी रूप में शनिदेव को क्रोधित नहीं करना चाहिए। शनिदेव किसी के साथ न तो अन्याय करते हैं और न ही किसी के साथ अन्याय होने देते। शनिदेव अपने न्याय के लिए प्रचलित हैं। शनिदेव जब किसी पर मेहरबान होते हैं तो उसके जीवन के सभी सुख दे देतें हैं।लेकिन अगर किसी पर क्रोधित होते हैं तो उससे उसका सब कुछ छीन लेते हैं। शनिवार के दिन अगर आप कुछ उपायों को करते हैं तो आपके जीवन के सभी कष्ट समाप्त हो जाएंगे और अगर आप इन उपायों के बारें में नहीं जानते तो आज हम आपको इन सब के बारे में बताएंगे। तो चलिए जानते है शनिवार के उपाय...


शनिवार के उपाय

1. बच्चों की पढ़ाई के लिए शनिवार की रात में रक्त चंदन से अनार की कलम से 'ऊं हृीं' को भोजपत्र पर लिखकर नित्य पूजा करने से विद्या और बुद्धि की प्राप्ति होती है।

2.अगर आपके कामों में रूकावट आ रही हैं तो शनिवार के दिन काले कुत्ते, काली गाय को रोटी और काली चिड़िया को दाना डालने से जीवन की रुकावटें दूर होती हैं।

3.मांस मदिरा का सेवन न करें। यदि शनि की अशुभ दशा चल रही हो तो ऐसे में मांस मदिरा का सेवन करने से बचें, क्योंकि इसका सेवन करना आपके लिए हानिकारक साबित होगा।

4. शनिवार के दिन खिलाएं बंदरो को भुने हुए चने और पाएं शनिदोष से मुक्ति। मीठी रोटी में तेल लगाकर काले कुत्ते को खुलाने से आप पर शनि का अच्छा प्रभाव हो सकता है। जिससे शनिदेव आप पर प्रसन्न भी हो जाएंगे।

5. हर शनिवार को पीपल क वृक्ष की पूजा करें व वट या पीपल के पेड़ पर जल या दूध चढ़ाएं। पीपल के वृक्ष के नीचे सरसों के तेल का दीपक जलाएं। ऐसा करने से शनि प्रसन्न हो जाते हैं और आप पर उनकी कृपा सदैव रहती है।

6. शनिदेव को काली चीजें पसंद है। इसलिए शनिवार के दिन अपने हाथ के नाप का 29 हाथ का काला लंबा धागा लें और उसे मसलकर अपने गले में पहने। ऐसा करने से आप पर शनि का प्रभाव अच्छा होगा।

7. यदि आप पर शनि की साढ़ेसाती की बुरी दशा चल रही हो तो शनिवार के दिन शाम को पीपल के पेड़ में मीठा जल चढ़ाएं और सरसों के तेल का दीपक जलाएं, शनिदेव की आरती करें, धूप व अगरबत्ती जलाएं और शनिदेव को काला तिल चढ़ाएं। उसके बाद वहीं बैठकर हनुमान, भैरव, शनि चालीसा का पाठ करें। पाठ करने के बाद पीपल के पेड़ की सात बार परिक्रमा कर लें।

8. प्रत्येक मंगलवार और शनिवार को हनुमान चालीसा का पाठ करें। हनुमान जी के दर्शन और उनकी भक्ति करने से न केवल शनिदेव की बल्कि हनुमान जी की भी कृपा प्राप्त होती है।

9.शनिवार को शाम के समय पीपल के पेड़ के नीचे चौमुखा दीपक जलाने से धन, वैभव और यश में वृद्धि होती है।

10 नौकरी और व्यापार में अगर किसी तरह की परेशानी आ रही हो तो शनिवार के दिन पीपल के पेड़ की जड़ में जल दें।

Share it
Top