Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Sakat Chauth 2019 : सकट चौथ पर गणेश जी के इन 11 मंत्रों का जाप करना न भूलें, मिलेगी अपार सफलता

साल 2019 के जनवरी माह में 24 जनवरी दिन गुरूवार को सकट चौथ यानि संकेष्टी चतुर्थी मनाई जा रही है। ज्योतिषियों का कहना है कि गुरूवार कोसकट चौथ का पड़ना बहुत ही अच्छा मना जाता है।

Sakat Chauth 2019 : सकट चौथ पर गणेश जी के इन 11 मंत्रों का जाप करना न भूलें, मिलेगी अपार सफलता
X
Sakat Chauth 2019
साल 2019 के जनवरी माह में 24 जनवरी दिन गुरूवार को सकट चौथ यानि संकेष्टी चतुर्थी मनाई जा रही है। ज्योतिषियों का कहना है कि गुरूवार कोसकट चौथ का पड़ना बहुत ही अच्छा मना जाता है। वैसे संकेष्टी चतुर्थी हर महीने आती है। हिंदू पंचांग के मुताबिक, संकष्टी चतुर्थी (सकट चौथ) 23 जनवरी को रात 11 बजकर 59 मिनट पर शुरू हो होगी और 24 जनवरी को 8 बजकर 53 मिनट बजे तक रहेगी।

इन नामों के भी जाना जाता है सकट चौथ को

कहते हैं कि पूर्णिमा के बाद की चतुर्थी संकष्टी और अमावस्या के बाद आने वाली चतुर्थी को गणेज चतुर्थी भी कहा जाता है। इस दिन भगवान सिद्धि विनायक गणेश जी और चंद्रमा की उपासना की जाती है।

सकट चौथ पर करें भगवान गणेश की पूजा

भगवान गणेश जी की वंदना सुबह-शाम होती है। इस दौरान सकट चौथ पर गणेश जी के इन 11 मंत्रों का जाप जरूर करने चाहिए। सकट चौथ पर पूजा के समय गणेश मंत्र जोर जोर से करने चाहिए। कहते हैं कि इन मंत्रों के बिना यह पूजा अधूरी मानी जाती है।

पूजा के दौरान क्या क्या अर्पित करें

इसके अलावा भगवान गणेश को फल, फूल गुड़, तिल और अन्य मिठाईयों का भी भोग लगाना चाहिए। इतना ही नहीं इस दौरान स्तोत्र पाठ भी करने चाहिए। इस दिन पूजा और व्रत करने से इंसान को रिद्धि-सिद्धि तो मिलती है और उसके जीवन के संकट भी दूर हो जाते हैं।

सकट चौथ पर गणेश जी के इन 11 मंत्रों का जाप करना न भूलें....

ॐ सिद्धि विनायकाय नमः ध्यायामि (हाथ जोड़ें)
ॐ सिद्धि विनायकाय नमः आवाहयामि (हाथ जोड़ें)
ॐ सिद्धि विनायकाय नमः आसनं समर्पयामि (अक्षत चढ़ाएं)
ॐ सिद्धि विनायकाय नमः अर्घ्यं समर्पयामि (जल चढ़ाएं)
ॐ सिद्धि विनायकाय नमः पाद्यं समर्पयामि (जल चढ़ाएं)
ॐ सिद्धि विनायकाय नमः आचमनीयं समर्पयामि (जल चढ़ाएं)
ॐ सिद्धि विनायकाय नमः उप हारं समर्पयामि
ॐ सिद्धि विनायकाय नमः पंचामृत स्नानं समर्पयामि (पंचामृत या कच्चा दूध चढ़ाएं)
ॐ सिद्धि विनायकाय नमः वस्त्र युग्मं समर्पयामि (वस्त्र या मौली चढ़ाएं)
ॐ सिद्धि विनायकाय नमः यज्ञोपवीतं धारयामि (जनेउ चढ़ाएं)
ॐ सिद्धि विनायकाय नमः आभरणानि समर्पयामि

और पढ़े: Haryana News | Chhattisgarh News | MP News | Aaj Ka Rashifal | Jokes | Haryana Video News | Haryana News App

Next Story