Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Raksha Bandhan 2019 : राखी की थाली में ये सामान रखना ना भूलें, जानें राखी बंधने का मुहूर्त और सही तरीका

रक्षाबंधन के दिन भाई को राखी बांधने के लिए पूजा की थाली में क्या- क्या होना आवश्यक है, इसके अलावा राखी बांधने का शुभ मुहूर्त और राखी बांधने का सही तरीका जानना भी बेहद जरूरी है, क्योंकि इस विधि से राखी बांधने पर आपके भाई के जीवन की सभी परेशानियां समाप्त हो जाएगी।

Raksha Bandhan 2019 : राखी की थाली में ये सामान रखना ना भूलें, जानें राखी बंधने का मुहूर्त और सही तरीका

Raksha Bandhan 2019 रक्षाबंधन का दिन भाई बहन के लिए अत्याधिक महत्वपूर्ण माना जाता है। इस दिन बहने भगवान से अपने भाई की लंबी उम्र की कामना करती हैं और उन्हें राखी बांधती हैं। वहीं भाई भी अपनी बहन को हर परिस्थिति में उनकी रक्षा करने का वचन देते हैं। रक्षाबंधन का त्योहार (Raksha Bandhan Festival) कल यानी 15 अगस्त 2019 (15 August 2019 ) के दिन पूरे भारत में मनाया जाएगा। रक्षाबंधन के दिन बहने अपने भाई को राखी बांधने के लिए शुभ मुहूर्त, मंत्र, और राखी बांधने की पूजा विधि अवश्य देखती हैं तो आइए जानते हैं राखी की थाली में क्या सामान रखा जाता है मुहूर्त और राखी बांधने का सही तरीका सही तरीका


राखी बाधनें का शुभ मुहूर्त (Rakhi Bandhana ka Subh Muhrat)

राखी बाधनें का शुभ मुहूर्त 2019 में (Raksha Bandhan 2019 Shubh Muhurt In 2019) -सुबह 10 बजकर 22 मिनट से 8 बजकर 8 मिनट तक (15 अगस्त 2019 )

अपराह्न मुहूर्त:- दोपहर 1 बजकर 6 मिनट से 3 बजकर 20 मिनट तक (15 अगस्त 2019)

सौभाग्य योग - दोपहर 12 बजकर 1 मिनट तक (15 अगस्त 2019)

इसे भी पढ़ें : Raksha Bandhan 2019 Date Time : रक्षाबंधन कब है 2019 में, जानें राखी बांधने का शुभ मुहूर्त, महत्व, पूजा विधि और रक्षाबंधन कथा

रक्षाबंधन का महत्व (Raksha Bandhan Ka Mahatva)

रक्षा + बंधन यानी रक्षाबंधन, रक्षाबंधन का अर्थ है रक्षा करने के बंधन में बंधना। हिंदू शास्त्रों के अनुसार भाद्रपद शुक्ल की पूर्णिमा तिथि के दिन रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जाता है। इस दिन बहनें अपने भाई की रक्षा के लिए उसकी कलाई पर रक्षासूत्र यानी राखी बांधती है। वहीं भाई भी अपनी बहन की रक्षा के लिए प्रतिज्ञाबद्ध रहते हैं और अपनी बहन की हर परिस्थिति में रक्षा का वचन देते हैं। इसके अलावा कुछ लोग अपने गुरु से भी रक्षा सूत्र बंधवा कर उनका आर्शीवाद प्राप्त करते हैं। इस दिन को लोग बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाते हैं।

राखी बांधते समय इस मंत्र का करें जाप (Raksha Bandhan Mantra)

ॐ येन बद्धो बली राजा दानवेन्द्रो महाबलः।

तेन त्वामपि बध्नामि रक्षे मा चल मा चल।।


इसे भी पढ़ें : Raksha Bandhan 2019 : रक्षाबंधन पर राशि के अनुसार राखी बांधने से पहले भाई को लगायें ऐसा तिलक, मिलेगा मान- सम्मान, धन और संपदा

राखी बांधने की पूजा विधि (Rakhi Bandhana Puja Vidhi)

1. सबसे पहले राखी की थाली में कुमकुम, रोली, गंगा जल, चावल, पीली, सरसों के बीज, दीपक और राखी रखें।

2. सबसे पहले राखी अपने ईष्ट को बांधें और उनसे अपने भाई की रक्षा के लिए भगवान से प्रार्थना करें।

3. इसके बाद भाई को एक लकड़ी के पाटे पर बिठाएं और भाई को सिर ढकने के लिए कहें।

4.इसके बाद भाई का तिलक करें और तिलक पर चावल लगाएं।

5. तिलक लगाने के बाद भाई को राखी बांधते समय ॐ येन बद्धो बली राजा दानवेन्द्रो महाबलः।तेन त्वामपि बध्नामि रक्षे मा चल मा चल।। मंत्र का जाप करें

6.इसके बाद अपने भाई की कलाई पर राखी (रक्षासूत्र) बांधे।

7. इसके बाद अपनी बहन के चरण स्पर्श करें।

8.राखी बांधने के बाद भाई और बहन दोनों को अपने घर के सभी बड़ों का आर्शीवाद अवश्य लेना चाहिए।


रक्षाबंधन की सावधानियां (Raksha Bandhan Ki Savdhaniya)

1.रक्षाबंधन के दिन राखी की पूजा अवश्य करें। इसके बाद ही अपने भाई को राखी बांधें।

2. अपने भाई को राखी बांधने से पहले अपने ईष्ट और बड़ों का आर्शीवाद अवश्य लें।

3.रक्षाबंधन के दिन भाई को राखी बांधते समय भाई का चेहरा पूर्व दिशा की और रखें।

4. रक्षाबंधन पर भाई को बहन से राखी बंधवाने के बाद कुछ उपहार अवश्य दें।

5. रक्षाबंधन के दिन भाई बहन को एक साथ मंदिर जाकर भगवान का आर्शीवाद अवश्य लेना चाहिए।

Share it
Top