Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Pitru Paksha 2019: पितृ पक्ष में पितरों को तांत्रिक बाधा से मुक्त कराने के उपाय

Pitru Paksha 2019 Upay पितृ पक्ष में पितरों को दिया गया भोजन कई बार उन्हें प्राप्त नहीं होता, ऐसा इसलिए होता है क्योंकि पितरों को तांत्रिक क्रिया करके बांध दिया जाता है, जिससे वह अशुभ फल देने लगते हैं, लेकिन पितृ पक्ष में पितरों को इन तांत्रिक क्रियाओं से मु्क्ति किया जा सकता है तो आइए जानते हैं पितृ पक्ष में अपने पितरों को कैसे करे तांत्रिक बाधा से मुक्त

तांत्रिक ने परेशानी दूर करने का झांसा देकर किया दुष्कर्म, ऐसे खुला मामलाPitru Paksha 2019 Upay Pitru Paksha Mein Pitra Tantrik Badha Mukti Upay

Pitru Paksha 2019 पितृ पक्ष में पितरों का श्राद्ध और तर्पण किया जाता है। जिससे हमारे पितर हमसे प्रसन्न रहे हैं और हमें उनका आर्शीवाद प्राप्त होता रहे। हमारे द्वारा पितरों को दिया गया भोजन उन्हें ऊर्जा देकर प्रकाश की और अग्रसर करता है। पितृ पक्ष (Pitru Paksha) इस साल 2019 में 13 सितंबर 2019 (13 September 2019) से शुरु हो रहा है। लेकिन कई बार हमारे पितरों को तांत्रिक बंधन में बांध लिया जाता है। जिसके कारण हमारे द्वारा दिया गया भोजन उन्हें प्राप्त नही होता तो आइए जानते हैं पितृ पक्ष में अपने पितरों को कैसे करे तांत्रिक बाधा से मुक्त करें


पितृ दोष से होने वाले नुकसान (Pitra Dosh Se Hone Wale Nuksan)

मनुष्य के जीवन में पितरों का रुष्ट हो जाना बढ़ा ही दुखदायी हो जाता है। पितरों को प्रसन्न करने के लिए सभी उपाय अपनाए जाते हैं। इसमें उनका श्राद्ध भी निकाला जाता है, अमावस्या भी निकाली जाती है, ब्राह्मणों को भोजन भी कराया जाता है और पिंड दान करने पर भी पितर दोष खत्म नहीं होता और पितर हम से रुष्ट रहते हैं। कई बार हमारे जीवन में अत्याधिक शत्रु हो जाते हैं जो हमारी तरक्की से जलते हैं। इसलिए वह हमारे पितरों को किसी न किसी तांत्रिक से बंधन करा देते हैं।

पितरों के बंधन में आने के बाद वह भी हमारे शत्रु बन जाते हैं और हमें कई प्रकार से नुकसान पहुंचाते हैं।जब हमारे पितर हमसे रुष्ट हो जाते हैं तो हमें किसी भी कार्य में सफलता प्राप्त नहीं होती। चाहें हम कितनी भी मेहनत कर लें हमें सफलता प्राप्त ही नहीं होती।घर में बिमारियों का वास हो जाता है। क्योंकि हमारे पितरों को हमारे द्वारा चढ़ाया गया भोग प्राप्त नहीं होता। क्योंकि उस भोग को कोई अन्य ग्रहण करता है


पितृ पक्ष के जरूरी उपाय (Pitru Paksha Ke Jaruri Upay)

पितरों की तांत्रिक मुक्ति के उपाय के लिए सर्वप्रथम आपको श्रीमद भागवत महापुराण का आयोजन अवश्य करना चाहिए। क्योंकि शास्त्रों के अनुसार श्रीमद भागवत महापुराण का पाठ अति उत्तम बताया गया है। या फिर आप सवा लाख गायत्री मंत्रों का जाप भी किसी योग्य विद्वान से करा सकते हैं। इसके साथ ही आपको गया जी में अपने पितरों का पिंड दान करना चाहिए। क्योंकि गया जी में पिंड दान करने से पितरों को मुक्ति अवश्य प्राप्त हो जाती है। प्रतिदन घर में गीता का पाठ करें। ऐसा करने से भी आपको आपकी सभी परेशानियों से मुक्ति प्राप्त होगी।


पितरों को तांत्रिक बाधा से मुक्त करने की सामग्री (Pitro Ko Tantrik Badha Se Mukt Karne Ki Samagri)

दो तेल के दीपक, एक पूड़ी,थोड़ी सी खीर, थोड़ा सा हलवा,एक पानी वाला नारियल और सिद्ध मुक्ति तांत्रिक कवच, इन सभी सामग्रियों का प्रयोग आपको पितृ पक्ष में करना है। इन सभी सामग्रियों को पितृ पक्ष से एक दिन पहले ही ले लें। इस कार्य को करने के लिए आपको अपने शुद्धिकरण का विशेष ध्यान रखना चाहिए।


पितरों को तांत्रिक बाधा से मुक्त करने की विधि (Pitro Ko Tantrik Badha Se Mukt Karne Ki Vidhi)

पितृ पक्ष के दिन एक तेल का दीपक दक्षिण पूर्व दिशा में लगा दें, पूरी पर खीर और हलवा थोड़ी मात्रा में रख दे और एक पानी वाला नारियल छील कर अपने पास रख लें और 'पितृ परम पर्वता विराजे, हम जोड़ खड़े सकारे, होम धूप की होय अग्यारी,पितरदेव दरबार तुम्हारी, पितर मानवे हार द्वार में बरकतबरषे, बार- बार मैं अपने गोत्र के पितरमनाऊँ,सातो सातहि सिर ही झुकाऊँ,जो न माने मेरी बात नरसिंह को झुकाऊं माथ वीर नरसिंह दहाड़ता आवे मूंछे- पूंछ कोप हिलावे हन- हन हुम करें हुंकार प्रेत- पितर पीड़ा फटकार कोड़ा मारे श्री हनुमान सिद्ध होय सब पूरन काज दुहाई दुहाई राजा रामचंदर महाराज की' मंत्र का जाप करें।

उसके बाद नारियल को फोड़ दें और सारी सामग्री रात भर वहीं पर पड़ी रहने दें, दूसरे दिन पूड़ी को छत पर डाल दे और नारियल को बहते हुए पानी में बहा दें। यह प्रयोग आपको लगातार पितृ पक्ष से शुरू करने के बाद लगातार 14 दिनों तक करना है। यानी आपको यह कार्य पूरे पितृ पक्ष में करना है। ऐसा करने से आपके पितर तांत्रिक बाधा से मुक्त हो जाएंग और आपको शुभ फल देंगे साथ ही आपकी सहायता भी करेंगे। अमावस्या के दिन मिट्टी के कलश पर यह तांत्रिक बाधा मुक्ति कवच बांध दें और मंगलवार की शाम को हल्दी,गूगल, लोबान और पीली सरसों से पूरे घर में धूनी दें।

Next Story
Top