Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Navratri 2019 Meditation : नवरात्रि में देवी का ध्यान लगाने के चार चरण, जानें फायदे और महत्व

Navratri 2019 Meditation शारदीय नवरात्रि इस साल 2019 में 29 सितंबर 2019 (29 September 2019) के दिन मनाया जाएगा। नवरात्रि पर मां दुर्गा की आराधना करने और ध्यान करने से मनुष्य अपने जीवन के सभी दुखों को दूर कर सकता है और जीवने के सुखों को प्राप्त कर सकता है तो आइए जानते हैं नवरात्रि के समय ध्यान करने के चार कारण क्या है।

Navratri 2019 Meditation : नवरात्रि में देवी का ध्यान लगाने के चार चरण, जानें फायदे और महत्व

Navratri 2019 नवरात्रि एक जीवंत त्योहार है । नवरात्रि पर जप, उपवास और प्रार्थनाओं पर जोर दिया जाता है। लेकिन कई लोग इस समय में ध्यान करते हैं। शास्त्रों के अनुसार ध्यान न केवल हमारा अध्यात्मिक विकास करता है। बल्कि ध्यान हमारा मानसिक विकास भी करता है। नवरात्रि का त्योहार (Navratri Festival) ध्यान और साधना के लिए अद्भुत माना जाता है। जिससे अत्यंत लाभ प्राप्त किया जा सकता है। तो आइए जानते हैं नवरात्रि के समय ध्यान करने के चार कारण क्या है।


इसे भी पढ़ें : Shardiya Navratri 2019: शारदीय नवरात्र कब है, घटस्थापना मुहूर्त, महत्व, पूजा विधि कथा, दुर्गा पूजा, नवमी, महानवमी और दशहरा की जानकारी

नवरात्रि और प्रकृति का संबंध (Navratri or Prakarti ka Sambandh)

प्रकृति हमारे बीच में संतुलन रखने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।प्रकृति को ऊर्जा का एक प्रचुर स्रोत माना जाता है और ध्यान करने से हम प्रकृति की गहराई में जा सकते हैं। वैज्ञानिक दृष्टिकोण से गर्मियों में संक्रांति के दौरान (जब सूर्य भूमध्य रेखा के अपने सबसे उत्तरी बिंदु पर पहुंचता है तब गर्मियों की शुरुआत होती है) और और शीतकालीन संक्रांति (खगोलीय घटना जो सबसे कम दिन और वर्ष की सबसे लंबी रात को चिह्नित करती है) उस समय सूर्य अपनी चरम सीमा पर चला जाता है। नवरात्रि के दौरान, सूर्य ठीक बीच में होता है, जो दिन और रात के बीच संतुलन लाता है,इसलिए यह समय ध्यान के लिए सही समय माना जाता है।


नवरात्रि पर स्वंय की संगठित करना (Navratri Per Swayam Ko Sangndhit Karna)

ध्यान स्वंय को जानने और खुद के साथ समय बिताने का मौका देता है। ध्यान हमें नियमित होना सिखाता है। जीवन की व्यस्ता से घिरने के कारण हम स्वंय के स्वास्थय पर ध्यान नहीं दे पाते। नवरात्रि वह समय होता है जब हम किसी भी काम की शुरुआत कर सकते हैं। विजयदशमी भी सभी शुभ कामों को करने का सही समय होता है। इसलिए यह समय स्वंय को संगठित करने करके एक बार फिर से नई शुरुआत करने का सही समय होता है। इसलिए नवरात्रि का यह समय सबसे शुभ माना जाता है।


इसे भी पढ़ें : Navratri 2019 Puja : नवरात्रि में मां दुर्गा पूजा को अर्पित करें ये नवपत्रिका, जीवन की हर समस्या हो जाएगी समाप्त

नवरात्रि पर पाया जा सकता है अधिक लाभ (Navratri Per Paya Ja Sakta Hai Adhik Labh)

माना जाता है कि जब भी हम किसी चीज का बार- बार अभ्यास करते हैं तो वह एक तपस्या की तरह हो जाता है। इसके लाभ कई गुना और तेजी से प्राप्त होते हैं। जब सभी लोग एक साथ जुड़ते हैं और नवरात्रि के दौरान ध्यान करते हैं, तो समूह चेतना में आपको तेजी से लाभ प्राप्त हो सकता है। इसलिए यह समय काफी शुभ माना जाता है। आप इस समय में अधिक लाभ प्राप्त कर सकते हैं। नवरात्रि के इस समय का सभी लोगों को भरपुर लाभ उठाना चाहिए।


नवरात्रि पर ध्यान का महत्व (Navratri Per Dhyan Ka Mahatva)

जब आप नहाते हैं उस समय आप अपनी मर्जी से भिगतें है लेकिन आप जब बारिश में भीगते हैं तो आप उस समय अपनी मर्जी से नहीं भिगते। साल भर ध्यान करने के लिए प्रयास करना पड़ता है। लेकिन नवरात्रि के दौरान, वातावरण ऐसा होता है कि आपका ध्यान सहजता से होता है। यदि आप नवरात्रि उत्सव के इन नौ दिनों के लिए ध्यान करते हैं, तो इसका प्रभाव लंबे समय तक रहता है। नवरात्रि के दौरान मंत्र हमें अधिक प्रभावी ढंग से ध्यान की स्थिति में लाने में मदद करते हैं।यह हमें फिर से जीवंत करता है और इसकी ऊर्जा कई महीनों तक आगे बढ़ती है।

Next Story
Share it
Top