Web Analytics Made Easy - StatCounter
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Narak Chaturdashi 2019 : नरक चतुर्दशी के दिन क्या करें और क्या न करें

Narak Chaturdashi 2019 नरक चतुर्दशी इस साल 2019 में 26 अक्टूबर 2019 के दिन मनाई जाएगी, नरक चतुर्दशी के दिन भगवान श्री कृष्ण की पूजा करने से सौंदर्य की प्राप्ति होती है,क्योंकि इस दिन भगवान श्री कृष्ण ने नरकासुर का वध किया था, आइए जानते हैं इसके अलावा नरक चतुर्दशी के दिन क्या करें और क्या न करें...

Narak Chaturdashi 2019 : नरक चतुर्दशी के दिन क्या करें और क्या न करेंNarak Chaturdashi 2019 Narak Chaturdashi Par Kya Kare Kya Na Kare

Narak Chaturdashi 2019 नरक चतुर्दशी के दिन यमराज (Yamraj) की पूजा- अर्चना की जाती है। इस दिन को छोटी दिवाली, रूप चौदस, काली चौदस आदि नामों से भी जाना जाता है। नरक चतुर्दशी (Narak Chaturdashi) के दिन क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए यह बात जानकर आप इस दिन का पूरा लाभ प्राप्त कर सकते हैं। नरक चतुर्दशी के दिन चौमुखी दीपक दक्षिण दिशा में जलाने से नर्क की यातनाओं से मुक्ति मिलती है तो चलिए जानते हैं नरक चतुर्दशी के दिन क्या करें और क्या न करें


इसे भी पढ़ें : Narak Chaturdashi 2019 : जानें कब है नरक चतुर्दशी 2019 में, नियम, पूजा विधि और नरक चतुदर्शी की कथा

नरक चतुर्दशी के दिन क्या करें (Narak Chaturdashi Par Kya Kare)

1.नरक चतुर्दशी के दिन सुबह सूर्योदय से पहले उठकर तिल के तेल से शरीर की मालिस अवश्य करनी चाहिए। ऐसा करने से आपका सौंदर्य बढ़ता है।

2. नरक चतुर्दशी के दिन आपमार्ग, गोधूली,तुलसी के पत्ते की जड़ की मिट्टी, इनमें कोई भी चीज अपने सिर पर से घूमाएं और अपने मस्तक पर लगाकर घर के बाईं और फेंक दें।

3.नरक चतुर्दशी के दिन नहाकर साफ वस्त्र धारण करें। इसके बाद रोली से अपने मस्तक पर तिलक लगा लें। इसके बाद दक्षिण दिशा की और मुख करके एक पात्र में तिल वाला जल ले लें और तीन बार अपनी अंजूली में भरकर उस यमराज का तर्पण करें।

4. नरक चतुर्दशी के दिन मंदिर, रसोई घर, तुलसी, पीपल, बरगद, आंवला, आम के पेड़ के नीचे, नदियों के किनारे, बगीचे, गौशाला आदि स्थान पर दीपक अवश्य जलाएं।

5.यमराज के तर्पण के बाद चारमुखी दीपक दक्षिण दिशा में जलाएं और यमराज से प्रार्थना करे कि वह हमारे सभी पापों के लिए हमें क्षमा कर दें।

6.नरक चतुर्दशी के दिन घर के मुख्य द्वार के दोनों और तेल का दीपक अवश्य जलाएं। ऐसा करने से आपके घर में मां लक्ष्मी का आगमन होगा।

7. नरक चतुर्दशी के दिन घर की अच्छी तरह से सफाई करनी चाहिए। विशेषकर दक्षिण दिशा को अच्छी तरह से साफ करें।

8.नरक चतुर्दशी के दिन भगवान कृष्ण की पूजा करने से रूप और सौंदर्य की प्राप्ति होती है। इसलिए इस दिन भगवान श्री कृष्ण का पूजन भी अवश्य करें।

9.नरक चतुर्दशी को हनुमान जी की भी पूजा की जाती है। इसलिए सभी प्रकार के दोषों से बचने के लिए इस दिन हनुमान जी मंदिर में जाकर उनका पूजन अवश्य करें।

10. नरक चतुर्दशी के दिन किसी मंदिर में जाकर 11 दीपक अवश्य जलाएं।

इसे भी पढ़ें : Hanuman Jayanti 2019 : 26 अक्टूबर को हनुमान जयंती, जानें शुभ मुहूर्त, हनुमान जयंती पूजा विधि, महत्व, हनुमान जी की कथा और आरती


नरक चतुर्दशी के दिन क्या न करें (Narak Chaturdashi Par Kya Na Kare)

1. नरक चतुर्दशी के दिन किसी भी जीव को न मारें और भूल से भी किसी जीव की हत्या न करें। क्योंकि इस दिन यमराज की पूजा की जाती है और यदि आप ऐसा करते हैं तो यमराज आपसे क्रोधित हो जाते हैं।

2. नरक चतुर्दशी के दिन जिन लोगों के पिता जीवित हैं वह भूलकर भी तिल से यम देव का तर्पण न करें।

3. नरक चतुर्दशी के दिन भूलकर भी दक्षिण दिशा को गंदा न रखें क्योंकि ऐसा करने से आपको यमराज का आर्शीवाद प्राप्त नही होगा और इससे आपके पितर भी नाराज हो जाएंगे।

4.नरक चतुर्दशी के दिन तेल का दान बिल्कुल भी न करें। क्योंकि ऐसा करने से आपके घर से लक्ष्मी जी नाराज होकर चली जाएंगी।

5. नरक चतुर्दशी के दिन सूर्योदय के बाद न उठें। क्योंकि ऐसा करने से आपके पुण्य फल कम हो जाते हैं।

6. नरक चतुर्दशी के दिन महिलाओं को अपने पति और घर वालों की बात अवश्य माननी चाहिए।

7. नरक चतुर्दशी के दिन भूलकर भी मासाहार का प्रयोग न करें। अगर आप ऐसा करते हैं तो आपको नर्क की यातनाएं भोगनी पड़ेगी।

8. नरक चतुर्दशी के दिन मदिरा पान न करें। अगर आप ऐसा करते हैं तो आपका स्वास्थय कभी भी ठीक नही रहेगा।

9. नरक चतुर्दशी के दिन झाडू को पैर न मारें और न हीं झाडू को खड़ा करके रखें। क्योंकि ऐसा करने से मां लक्ष्मी का अपमान होगा।

10. नरक चतुर्दशी के दिन भूलकर भी शारीरीक संबंध न बनाएं। यदि आप ऐसा करते हैं तो पति और पत्नि दोनों को नर्क की यातनाएं भुगतनी पड़ेगी।

Next Story
Share it
Top