Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Jyeshtha Purnima 2019 : जानें क्या है ज्येष्ठ पूर्णिमा का महत्व

Jyeshtha Purnima 2019 : ज्येष्ठ पूर्णिमा 2019 में कब है (Jyeshtha purnima 2019 Mai Kab Hai), क्या है ज्येष्ठ पूर्णिमा का महत्व (Jyeshtha purnima Ka Mahatva) अगर आपको इसके बारे में नहीं पता है तो आज हम आपको इसके बारे में बताएंगे । ज्येष्ठ पूर्णिमा (Jyeshtha purnima) को हिंदू शास्त्रों में काफी महत्वता दी गई है। इस दिन स्नान करने से मनुष्य के जीवन के सभी पाप धूल जाते हैं । इस साल यह पर्व 17 जून 2019 (17 June 2019) को मनाया जाएगा। ज्येष्ठ मास (Jyeshtha Month) एक ऐसा मास होता जब गर्मी की अधिकता होती है। अगर आपको ज्येष्ठ पूर्णिमा की इस महत्वता (Jyeshtha purnima Ki Mahatvta) के बारे में नहीं जानते हैं तो आज हम आपको इसके बारे में बताएंगे तो चलिए जानते हैं ज्येष्ठ पूर्णिमा की महत्व के बारे में....

Jyeshtha Purnima 2019 : जानें क्या है ज्येष्ठ पूर्णिमा का महत्व

Jyeshtha Purnima 2019 : ज्येष्ठ पूर्णिमा 2019 में कब है (Jyeshtha purnima 2019 Mai Kab Hai), क्या है ज्येष्ठ पूर्णिमा का महत्व (Jyeshtha purnima Ka Mahatva) अगर आपको इसके बारे में नहीं पता है तो आज हम आपको इसके बारे में बताएंगे । ज्येष्ठ पूर्णिमा (Jyeshtha purnima) को हिंदू शास्त्रों में काफी महत्वता दी गई है। इस दिन स्नान करने से मनुष्य के जीवन के सभी पाप धूल जाते हैं । इस साल यह पर्व 17 जून 2019 (17 June 2019) को मनाया जाएगा। ज्येष्ठ मास (Jyeshtha Month) एक ऐसा मास होता जब गर्मी की अधिकता होती है। अगर आपको ज्येष्ठ पूर्णिमा की इस महत्वता (Jyeshtha purnima Ki Mahatvta) के बारे में नहीं जानते हैं तो आज हम आपको इसके बारे में बताएंगे तो चलिए जानते हैं ज्येष्ठ पूर्णिमा की महत्व के बारे में....


ज्येष्ठ पूर्णिमा का महत्व (Jyeshtha Purnima ka Mahatva)

ज्येष्ठ पूर्णिमा का शास्त्रों में बहुत अधिक महत्व बताया गया है। ज्येष्ठ महिने में गर्मी अपने चरम पर होती है। जिसकी वजह से प्रत्येक जगह जल का स्तर काफी कम हो जाता है। लोग हर जगह गर्मी से बेहाल हो जाते हैं। इसलिए शास्त्रों मे ज्येष्ठ महिने के समय पानी पिलाने को काफी महत्व दिया है।

ज्येष्ठ मास में पानी की महत्वता को समझाते हुए ही गंगा दशहरा और निर्जला एकादशी जैसे त्योहार मनाए जाते हैं। इन्हीं पर्वों की महत्वता ही हमें ज्ञानीजन ने समझाए हैं। हमें भी पानी के महत्व की उपयोगिता को समझना चाहिए कि पानी हमारे लिए कितना आवश्यक है।


ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन दान को भी विशेष महत्व दिया जाता है। माना जाता है कि इस दिन दिया गया दान काफी शुभ रहता है। लोग इस दिन गरीबों या ब्राह्मणो को दान करते हैं । जिससे उन्हें सभी सुखों की प्राप्ति हो सके और उनकी जिंदगी से दुख हमेशा के लिए दूर हो जाए।

इस दिन पितरों के तर्पण को भी विशेष महत्व दिया जाता है । माना जाता है कि इस दिन पितरों के नाम से जो भी कुछ दान किया जाए । उसका न केवल उन्हें बल्कि उनके पूर्वजों को भी उसका फल मिलता है। इससे न केवल देवताओं का बल्कि पूर्वजों का भी आर्शीवाद प्राप्त होता है।

Next Story
Share it
Top