Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दंतेश्वरी मंदिर दर्शन : बग्गी पर सवार होकर नाचते गाते किन्नरों ने मां दंतेवश्वरी को सबसे पहले चढ़ाई चुनरी Watch Video

शारदीय नवरात्र प्रारंभ होने के एक दिन पहले शनिवार मध्यरात्रि को सज संवर कर नाचते गाते किन्नर समुदाय ने माई दंतेश्वरी को सुहाग का जोड़ा चढ़ाया। अमावस्या की रात ढोल नगारे और बैंड बाजे के साथ बग्गी में सवार होकर दुल्हन की तरह सजी किन्नरों ने मां दंतेश्वरी पर चुनरी चढ़ाकर खुशहाली की कामना की।

दंतेश्वरी मंदिर दर्शन : बग्गी पर सवार होकर नाचते गाते किन्नरों ने मां दंतेवश्वरी को सबसे पहले चढ़ाई चुनरी Watch Video

विकास तिवारी, जगदलपुर। शारदीय नवरात्र प्रारंभ होने के एक दिन पहले शनिवार मध्यरात्रि को सज संवर कर नाचते गाते किन्नर समुदाय ने माई दंतेश्वरी को सुहाग का जोड़ा चढ़ाया। अमावस्या की रात ढोल नगारे और बैंड बाजे के साथ बग्गी में सवार होकर दुल्हन की तरह सजी किन्नरों ने मां दंतेश्वरी पर चुनरी चढ़ाकर खुशहाली की कामना की। इस रस्म में शहर के सारे किन्नरों के साथ-साथ पड़ोसी राज्य ओड़िसा से भी किन्नरों ने हिस्सा लिया।

रस्म की जानकारी देते हुए समुदाय की सदस्य रश्मि ने बताया कि बस्तर में इस रस्म की अदायगी बीते चार वर्षों से की जा रही है। इसके पीछे उनका उद्देश्य होता है कि सभी व्यापारियों व बस्तर वासियों पर किसी तरह की समस्या न आये व किसी की गोद सुनी न रहे।

इस रस्म में सभी किन्नर मां भउसरा की पूजा कर झांकी निकालते हैं। यह झांकी नाचते गाते हुए पूरे शहर का भ्रमण कर दंतेश्वरी मंदिर पहुंचती है और रात 12 बजे के बाद मां दंतेश्वरी को सुहाग का जोड़ा अर्पित कर पूजा अर्चना की जाती है। इस आयोजन के लिए शहर के सभी व्यापारियों द्वारा सहयोग किया जाता है, साथ ही इस पूजा में सम्मलित होने के लिए शहर की महिलाएं भी बढ़'चढ़ कर हिस्सा लेती हैं।


Next Story
Top