Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

जानिए कैसे रहने वाले हैं अरविंद केजरीवाल के आने वाले पांच साल, क्या पूरे कर पाएंगे अपने वादे

अरविंद केजरीवाल एक बार फिर से दिल्ली के मुख्यमंत्री बनने जा रहे है, लेकिन क्या अपने इस कार्यकाल में जनता से किए गए वादों को पूरा करने में सक्षम रहेंगे, क्या कहते हैं केजरीवाल की कुंडली के ग्रह नक्षत्र आइए जानते हैं...

जानिए कैसे रहने वाले हैं अरविंद केजरीवाल के आने वाले पांच साल, क्या पूरे कर पाएंगे अपने वादेजानिए कैसे रहने वाले हैं अरविंद केजरीवाल के आने वाले पांच साल, क्या पूरे कर पाएंगे अपने वादे

दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Elections) में लगातार तीन बार जीत हासिल करने के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल(Arvind Kejriwal) एक बार फिर से 16 फरवरी को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे हैं। अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली की जनता से जो वादे पूरे किए थे। वह उन्हें पूरा करने में पूरी तरह सफल रहे हैं। लेकिन क्या आने वाले पांच सालों में भी अरविंद केजरीवाल अपने वादों को पूरा कर पाएंगे क्या कहती है उनकी कुंडली कैसे रहेंगे अरविंद केजरीवाल के आने वाले पांच साल आइए जानते हैं...

अरविंद केजरीवाल की कुंडली (Arvind Kejriwal Ki Kundli)

अरविंद केजरीवाल की कुंडली मेष लग्न और मेष राशि की है। जिसमें शनि मेष राशि में ही स्थित है जो शनि की नीच की राशि मानी जाती है। लेकिन शनि के केंद्र में होने के कारण केजरीवाल जनता का भरोसा जीतने में कामयाब रहते हैं जो इस बार भी देखने को मिला। शनि को केंद्र में काफी अच्छा माना जाता है और ये भारत में ज्यादातर जितने भी प्रधानमंत्री बने हैं उनमें से ज्यादा लोगों की कुंडली में शनि केंद्र में ही थे। ज्योतिष आचार्यों के माने तो राजनीति में केजरीवाल का भविष्य काफी अच्छा माना जा रहा है।


अरविंद केजरीवाल में जन्म कुंडली में नीच का शनि जरूर है। लेकिन इनके केंद्र में सूर्य और बुध की युति भी है। जो बुधादित्य योग का निर्माण भी करता है। वही धनु राशि में राशि इनके नवम भाव में है और गुरु पांचवें भाव में स्थित है। इनकी कुंडली में मंगल चौथे भाव में स्थित है जो नीच यहां नीच का माना जाता है। लेकिन यह मंगल अपनी सातवीं दृष्टि से दसम भाव को भी देख रहा है। जिसकी वजह से केजरीवाल को जनता का साथ और मान- सम्मान प्राप्त होता रहेगा।

केजरीवाल की कुंडली में ग्रहों की स्थिति इस बात की और इशारा करती है कि इनके अगले 5 साल काफी बेहतरीन रहने वाले हैं। इस समय में इन्हें राजनीति में बहुत फायदा होगा केवल दिल्ली में ही नहीं बल्कि इनके काम की चर्चा अन्य राज्यों में भी होगी। जिसकी वजह से इनकी पार्टी को अन्य राज्यों में भी लाभ मिलेगा। इस साल के अगस्त तक केजरीवाल को गुरु की महादशा रहेगी और इसके बाद शनि की महादशा शुरू होगी। शनि की दशा में केजरीवाल को सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में लोकप्रियता हासिल हो सकती है।


इनकी आम आदमी पार्टी भी इस समय में बेहतरीन प्रदर्शन करेगी। शनि की महादशा में केजरीवाल अपने सभी वादों को पूरा करने की कोशिश करेंगे वहीं यदि ग्रह स्थिति की बात करें तो इसमें इन्हें सफलता भी अवश्य मिलेगी। शनि की महादशा में इनका राजनितिक ग्राफ काफी तेजी से चढ़ेगा। केजरीवाल की कुंडली में नीच का मंगल चौथे घर में बैठा है। चौथे भाव को जनता का भाव भी कहा जाता है। इसलिए बजरंग बली की पूजा इनके काफी काम आई और हनुमान जी कृपा से केजरीवाल ने जीत भी हासिल की।

Next Story
Top