Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
Breaking

Apara Ekadashi 2019 : अपरा एकादशी के दिन भूलकर भी न करें ये काम, नहीं तो बनना पड़ेगा भगवान विष्णु के क्रोध का भगीदार

Apara Ekadashi 2019 : भगवान विष्णु (Lord Vishnu) की पूजा का दिन यानी अपरा एकादशी (Apara Ekadashi) का पर्व 2019 में 30 मई 2019 को मनाया को पूरे देश में धूमधाम से मनाया जाएगा। ज्येष्ठ महीने के कृष्ण पक्ष की एकादशी (Jyestha Month Krishna Paksha Ekadashi) को अपरा एकादशी कहते हैं ।अपरा एकादशी को अचला एकादशी (Acahla Ekadashi) के नाम से भी जाना जाता है।अपरा एकादशी के दिन भगवान विष्णु का विधिवत पूजन किया जाता है। भगवान विष्णु की पूजा करने से मनुष्य अपने जीवन सभी संकटों से मुक्ति पा लेता है। शास्त्रों में अपरा एकादशी व्रत को समस्त संसारिक पापों से मुक्ति दिलाने वाला माना गया है। अपरा एकादशी के बारे में शास्त्रों में ऐसी मान्यता है कि जो मनुष्य इस व्रत को पूरे विधि-विधान से करता है उसे धन की कमी महसूस नहीं होती। लेकिन इस व्रत की अवधि में कुछ काम ऐसे हैं जिसे भूलकर भी नहीं करना चाहिए। अगर आप यह नहीं जानते की क्या है वह काम जो अपरा एकादशी के दिन नहीं करने चाहिए तो आज हम आपको इसके बारे में बताएंगे। तो चलिए जानते हैं क्या हैं वो काम जो अपरा एकादशी के दिन भूलकर भी नहीं करने चाहिए।

Apara Ekadashi 2019 : अपरा एकादशी के दिन भूलकर भी न करें ये काम, नहीं तो बनना पड़ेगा भगवान विष्णु के क्रोध का भगीदार

Apara Ekadashi 2019 : भगवान विष्णु (Lord Vishnu) की पूजा का दिन यानी अपरा एकादशी (Apara Ekadashi) का पर्व 2019 में 30 मई 2019 को मनाया को पूरे देश में धूमधाम से मनाया जाएगा। ज्येष्ठ महीने के कृष्ण पक्ष की एकादशी (Jyestha Month Krishna Paksha Ekadashi) को अपरा एकादशी कहते हैं ।अपरा एकादशी को अचला एकादशी (Acahla Ekadashi) के नाम से भी जाना जाता है।अपरा एकादशी के दिन भगवान विष्णु का विधिवत पूजन किया जाता है। भगवान विष्णु की पूजा करने से मनुष्य अपने जीवन सभी संकटों से मुक्ति पा लेता है। शास्त्रों में अपरा एकादशी व्रत को समस्त संसारिक पापों से मुक्ति दिलाने वाला माना गया है। अपरा एकादशी के बारे में शास्त्रों में ऐसी मान्यता है कि जो मनुष्य इस व्रत को पूरे विधि-विधान से करता है उसे धन की कमी महसूस नहीं होती। लेकिन इस व्रत की अवधि में कुछ काम ऐसे हैं जिसे भूलकर भी नहीं करना चाहिए। अगर आप यह नहीं जानते की क्या है वह काम जो अपरा एकादशी के दिन नहीं करने चाहिए तो आज हम आपको इसके बारे में बताएंगे। तो चलिए जानते हैं क्या हैं वो काम जो अपरा एकादशी के दिन भूलकर भी नहीं करने चाहिए।


अपरा एकादशी के दिन भूलकर भी न करें ये काम (Apara Ekadashi Ka Din Bhool Kar Bhi Na kare Ye Kaam)

1.विष्णु पुराण के अनुसार अपरा एकादशी के व्रत की अवधि में चावल का सेवन नहीं करना चाहिए। इस व्रत को लेकर विष्णु पुराण में ऐसा वर्णन मिलता है कि जो व्रती व्रत के दौरान चावल का सेवन करता है वह पाप का भागी बनता है।

2.शास्त्रीय मान्यताओं के अनुसार एकादशी का व्रत रखने वाले को इस रात सोना नहीं चाहिए। रात्रि में भगवान विष्णु के नाम का भजन-कीर्तन करना उत्तम माना गया है। ऐसा करने से भगवान विष्णु की कृपा प्राप्त होती है।

3.अपरा एकादशी के दिन व्रती को पान नहीं खाना चाहिए। इस दिन पान खाना अशुभ माना गया है। पान खाने से मन में रजोगुण की प्रवृत्ति बढ़ती है।

4.एकादशी व्रत के दौरान क्रोध करना सर्वथा वर्जित माना गया है। ऐसा माना जाता है कि इस व्रत के दौरान क्रोध करना एक प्रकार की मानसिक हिंसा है। इसलिए व्रत की अवधि में क्रोध नहीं करना चाहिए।

5.अपरा एकादशी के दिन भूलकर भी दातुन से दांत साफ नहीं करना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि एकादशी के दिन किसी भी पेड़ की टहनियों को तोड़ने से भगवान विष्णु नाराज हो जाते हैं।

6.अपरा एकादशी के दिन पीपल के पेड़ में जल चढ़ना बेहद शुभ माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि पीपल के पेड़ में विष्णु का वास माना जाता है।अगर आप इस दिन पीपल के पेड़ की पूजा करते हैं तो आप पर विष्णु जी की विशेष कृपा रहेगी।


7. एकादशी का व्रत रखने वाले साधक को किसी भी प्रकार से मांस और मंदिरा का सेवन नहीं करना चाहिए। अगर कोई ऐसा करता है तो उसे भगवान विष्णु के क्रोध का समाना करना पड़ता है।

8.एकादशी का व्रत रखने वाले साधक को किसी पर भी क्रोध नहीं करना चाहिए। अपरा एकादशी का व्रत रखने वाले को क्रोध से बचना चाहिए और शांत चित से भगवान विष्णु की पूजा अर्चना करनी चाहिए।

9.अपरा एकादशी के दिन बिस्तरों का त्याग करना चाहिए ।एकादशी के दिन ज़मीन पर ही सोएं। इससे व्रत करने वाले को पूरा लाभ मिलता है।

10.अपरा एकादशी पर दक्षिणावर्ती शंख में गंगाजल भरकर भगवान विष्णु का अभिषेक करना शुभ माना गया है। मान्यता है कि दक्षिणावर्ती शंख से भगवान विष्णु का अभिषेक करने पर दुर्भाग्य सौभाग्य में बदल जाता है।यह उपाय कई बार आजमाया गया है। इसलिए अगर आप भी यह उपाय करते हैं तो आपके जीवन आपका दुर्भाग्य आपसे कोसों दूर भागेगा।

Next Story
Share it
Top