Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Vivah Shubh Muhurat 2021 : 22 अप्रैल से बजेंगी शहनाईयां, एक क्लिक में जानें इस साल के शुभ विवाह मुहूर्त

  • वैवाहिक सुख का कारक ग्रह शुक्र आज होगा उदय
  • 16 फरवरी 2021 को शुक्र हुआ था अस्त
  • साल 2021 में 50 दिन बजेंगी शहनाईयां

Vivah Shubh Muhurat 2021: 22 अप्रैल से बजेंगी शहनाईयां, एक क्लिक में जानें इस साल के शुभ विवाह मुहूर्त
X

Vivah Shubh Muhurat 2021 : वैवाहिक सुख का कारक ग्रह शुक्र आज शाम सात बजे उदय हो जाएगा और वहीं इसके उदय होने के साथ ही सभी प्रकार के मांगलिक और शुभ कार्य भी प्रारंभ हो जाएंगे। शुक्र ग्रह 16 फरवरी 2021 को मकर राशि में अस्त हो गया था और तभी से शुभ और मांगलिक कार्य बंद थे लेकिन आज शाम सात बजे शुक्र ग्रह के उदय होने के साथ शादियां, गृह प्रवेश और यज्ञोपवीत आदि कार्य शुरू हो जाएंगे।

ये भी पढ़ें : Shubh vivah muhurat 2021: साल 2021 में विवाह के लिए ये तिथियां हैं शुभ, आप कर सकते हैं इन दिनों में चट मंगनी पट ब्याह

22 अप्रैल से इस सीजन में शादियों की शुरुआत हो रही है। 14 अप्रैल 2021 को खरमास समाप्त होने व 17 अप्रैल 2021 को शुक्र उदय होने के बाद इस साल विवाह-शादियों के लिए लगभग 50 मुहूर्त रहेंगे। हालांकि कोरोना संक्रमण के चलते शादियों की खुशियां कुछ फीकी रह सकती हैं। ज्योतिष के अनुसार, विवाह जैसे अनुष्ठानों में शुभ मुहूर्त का बहुत अधिक विशेष महत्व होता है।

शास्त्रों और धार्मिक रीति-रिवाजों के अनुसार, ज्योतिष गणनाओं के आधार पर शादी-विवाह के लिए शुभ मुहूर्त का निर्धारण होता है। हिंदू पंचांग के अनुसार, एक तरफ जहां कुछ मौकों पर विवाह के लिए कुछ तिथियों और माह बहुत ही शुभ माने गए हैं, तो वहीं कुछ मौकों पर विवाह कार्यक्रम नहीं हो सकते। हिंदू धार्मिक मान्यता के मुताबिक खरमास, मलमास, शुक्र तारा का अस्त होना और देवशयनी आदि पर मांगलिक नहीं किए जाते हैं। क्योंकि शुभ विवाह के लिए ग्रहों की स्थिति का विशेष ध्यान रखा जाता है। विवाह के लिए सभी 9 ग्रहों में गुरु और शुक्र ग्रह की अहम भूमिका रहती है। इन दोनों ग्रहों के अस्त रहने पर विवाह अनुष्ठान रुक जाते हैं और उदय होने पर विवाह आरंभ हो जाते हैं।

ये भी पढ़ें : Swapn Shastra : जानें, कितना शुभ है सपने में छत गिरते हुए देखना

शादी-विवाह को यह दौर 22 अप्रैल से शुरू होकर 15 जुलाई 2021 तक चलेगा। मई और जून में इस साल विवाह के लिए ज्यादा मुहूर्त हैं। इसके बाद चातुर्मास लगने से मांगलिक कार्यक्रम बंद हो जाएंगे। अक्षय तृतीया व देवउठनी एकादशी के अबूझ मुहूर्त पर अधिक शादियां होंगी। इस साल 20 जुलाई को देवशयनी एकादशी होने से वैवाहिक या मांगलिक काम नहीं हो पाएंगे। 15 नवंबर को देवउठनी एकादशी से फिर से शहनाई गूंज उठेंगी।

चार माह में 37 मुहूर्त अति शुभ

अप्रैल से जुलाई तक शादी-विवाह के लिए 37 मुहूर्त रहेंगे। पहला 22 अप्रैल को फिर 24 से 30 अप्रैल तक हर दिन विवाह मुहूर्त रहेगा। मई में शादियों के लिए सबसे ज्यादा 15 दिन मिलेंगे। फिर जून में 9 और जुलाई में 5 दिन विवाह मुहूर्त हैं।

नवंबर-दिसंबर में ये हैं शादी के दिन

जुलाई में देवशयन होने के बाद 15 नवंबर को देवउठनी एकादशी पर विवाह मुहूर्त के साथ शादियों का दौर फिर शुरू हो जाएगा। इस महीने 15 में से सात दिन विवाह के मुहूर्त रहेंगे। वर्ष के आखिरी माह दिसंबर में 15 तारीख के पहले तक शादियों के लिए सिर्फ 6 ही दिन मिलेंगे।

शुभ प्रभाव

ज्योतिषविद अनीष व्यास ने बताया कि शुक्र ग्रह के अपनी ही राशि वृष में उदय होने से इसके शुभ फल मिलने लगेंगे। ये ग्रह वैवाहिक जीवन, सुख और भोग विलास का कारक है। इसके उदय होने के प्रभाव से दांपत्य सुख बढ़ेगा। कुछ लोगों की सेहत संबंधी परेशानी भी दूर हो जाएगी।

विवाह मुहूर्त 2021 अप्रैल से दिसंबर तक

अप्रैल - 22, 24, 25, 26, 27, 28, 29, और 30

मई - 1, 2, 7, 8, 9, 13, 14, 21, 22, 23, 24, 25, 26, 28, 29 और 30

जून - 3, 4, 5, 16, 20, 22, 23, और 24

जुलाई - 1, 2, 7, 13 और 15

नवंबर - 15, 16, 20, 21, 28, 29 और 30

दिसंबर - 1, 2, 6, 7, 11 और 13

(Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Haribhoomi.com इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

और पढ़ें
Next Story