Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

vivah muhurt: कल से बजेंगी शहनाईयां, जानिए वर्ष 2021 में विवाह की शुभ तारीख

vivah muhurt: शादी-विवाह के सीजन की शुरूआत होने में चंद घंटे ही शेष बचे हैं। और अब मांगलिक कार्यों की शुरूआत होने जा रही है। कोरोना संक्रमण के कारण सोशल डिस्टेंशन पर भी ध्यान रखना अनिवार्य रहेगा। वहीं शादी-विवाह के के इस सीजन में 11 दिसंबर 2020 के बाद कई महीने शादी-विवाह को कोई मुहूर्त ही नहीं है।

vivah muhurt: कल से बजेंगी शहनाईयां, जानिए वर्ष 2021 में विवाह की शुभ तिथियां
X

vivah muhurt: शादी-विवाह के सीजन की शुरूआत होने में चंद घंटे ही शेष बचे हैं। और अब मांगलिक कार्यों की शुरूआत होने जा रही है। कोरोना संक्रमण के कारण सोशल डिस्टेंशन पर भी ध्यान रखना अनिवार्य रहेगा। वहीं शादी-विवाह के के इस सीजन में 11 दिसंबर 2020 के बाद कई महीने शादी-विवाह को कोई मुहूर्त ही नहीं है। तो आइए आप भी जानें पंडित विजयपाल शास्त्री जी के अनुसार 11 दिसंबर 2020 से 25 अप्रैल 2021 के मध्य शादी-विवाह ना होने के कारण और विवाह की शुभ तिथियों के बारे में।

Also Read: vivah muhurt 2020: इस साल आठ दिन ही डांस कर सकेंगे लोग, जानिए विवाह मुहूर्त

मलमास (खरमास) में कोई मांगलिक कार्य जैसे- शादी, सगाई, वधु प्रवेश, गृह प्रवेश, गृह निर्माण, नए व्यापार का आरंभ आदि नहीं किए जाते हैं। क्योंकि इस दौरान सूर्य गुरु की राशि में रहता है, इसके कारण गुरु का प्रभाव कम हो जाता है और मांगलिक कार्यों के सिद्ध होने के लिए गुरु का प्रबल होना बहुत जरुरी है। क्‍योंकि बृहस्पति जीवन के वैवाहिक सुख और संतान सुख देने वाला होता है। कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते विवाह समारोह में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अनिवार्यता के साथ ही 25 नवंबर 2020 यानि देवोत्थान एकादशी से शादी-समारोह फिर से शुरू हो जाएंगे। अर्थात विवाह के आयोजन होने लगेंगे। लेकिन इस साल 2020 में केवल आठ दिन ही विवाह कार्य के लिए शुभ माने जा सकते हैं, जिसमें नवंबर में 25, 27 और 30 नवंबर और दिसंबर में 1, 7, 9, 10 और 11 तारीख को विवाह मुहूर्त होगा। लेकिन आने वाले साल 2021 में गुरु और शुक्र ग्रहों के अस्त होने के कारण जनवरी से मार्च के मध्य कोई विवाह मुहूर्त नहीं होगा। 11 दिसंबर के बाद सीधे अप्रैल 2021 में ही विवाह मुहूर्त शुरू होंगे।

Also Read: Tulsi Vivah 2020: जानिए तुलसी विवाह की तिथि, विधि और कथा

दूसरी ओर वहीं 15 दिसंबर से 14 जनवरी के बीच मलमास होने के कारण कोई विवाह कार्य नहीं हो पाएगा, इसके बाद 17 जनवरी से 15 फरवरी के बीच देव गुरु अस्त रहेंगे, जिस कारण कोई विवाह मुहूर्त नहीं होगा। और 13 फरवरी से 18 अप्रैल 2021 के बीच विवाह कारक शुक्र अस्त होने के कारण कोई विवाह मुहूर्त नहीं होगा। इसलिए इस बार जनवरी फरवरी और मार्च में कोई भी शादी-विवाह का मुहूर्त न होना अपने आप में एक विशेष घटना है, जिसक कारण गुरु और शुक्र का अस्त होना है क्योंकि गुरु और शुक्र ही विवाह संबंधी कार्यों को नियंत्रित करते हैं। इसलिए गुरु और शुक्र अस्त होने पर कोई विवाह मुहूर्त नहीं है।

शुभ-विवाह-मुहूर्त अप्रैल 2021 से जुलाई 2021 तक

अप्रैल 2021 की शुभ तिथियां

25, 26, 27, 28 और 30 अप्रैल की तिथि विवाह के लिए शुभ हैं।

मई 2021 की शुभ तिथियां

02, 04, 07, 08, 09, 13, 14, 21, 22, 23, 24, 26, 29, 30 और 31 मई की तिथि विवाह के लिए शुभ हैं।

जून 2021 की शुभ तिथियां

05, 06, 17, 18, 19, 20, 21, 22, 24, 26, 28 और 30 जून की तिथि विवाह के लिए शुभ हैं।

जुलाई 2021 की शुभ तिथियां

01, 02, 03, 07, 15 और 18 जुलाई की तिथि विवाह के लिए शुभ हैं।

और पढ़ें
Next Story