Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

लोकसभा चुनाव तक विश्व हिंदू परिषद जगाएगी राम मंदिर को लेकर अलख

सर्वोच्च न्यायालय ने राममंदिर के पक्ष में फैसला दे दिया और प्रधानमंत्री ने गत 5 अगस्त को अयोध्या में जाकर भूमिपूजन भी कर दिया। बावजूद अगर आप समझते हैं कि राममंदिर का मुद्दा अब खत्म हो गया है तो आप गलतफहमी में हैं।

लोकसभा चुनाव तक विश्व हिंदू परिषद जगाएगी राम मंदिर को लेकर अलख
X
राम मंदिर (प्रतीकात्मक फोटो)

सर्वोच्च न्यायालय ने राममंदिर के पक्ष में फैसला दे दिया और प्रधानमंत्री ने गत 5 अगस्त को अयोध्या में जाकर भूमिपूजन भी कर दिया। बावजूद अगर आप समझते हैं कि राममंदिर का मुद्दा अब खत्म हो गया है तो आप गलतफहमी में हैं। विहिप(विश्व हिंदू परिषद) ने बाकायदा संकेत दिया है कि यह मुद्दा कम से कम आगामी लोकसभा चुनाव तक बरकरार रहेगा।

विहिप मंदिर निर्माण को लेकर रामनाम की अलख अगले-तीन चार सालों जगाते रहने की योजना तैयार कर ली है। विहिप की ओर से कहा है कि राममंदिर निर्माण के साथ ही देश भर के 2.75 लाख गावों में राम प्रतिमा भी लगाए जाने का लक्ष्य है। इसके लिए देश के सभी हिंदू परिवारों से मामूली चंदा के तौर पर धन भी इकठ्ठा किया जाएगा।

विहिप की योजना है कि राम और राममंदिर से जुड़े अलग-अलग कार्यक्रमों के सहारे जनता के बीच जाकर उनके राममंदिर के प्रति आग्रह और उन्माद को जिंदा रखा जाय। फिलहाल देश के अलग-अलग शहरों में भूमि पूजन के प्रसाद को वितरण करने का काम चल रहा है।

विहिप कार्यकर्ता हर परिवार से 11-11 रुपए चंदा करेंगे इकठ्ठा

राममंदिर निर्माण में व्यापक जन भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए विहिप के कार्यकर्ता देश के 10 करोड़ परिवारों से संपर्क साधकर हर परिवार से 11-11 रुपए का चंदा इकठ्ठा करेंगे। इस तरह राममंदिर निर्माण के लिए जन सहयोग के जरिए 500 करोड़ रुपए की राशि जुटाने का लक्ष्य रखा गया है।

हालांकि भूमिपूजन से पहले ही राममंदिर निर्माण के लिए 41 करोड़ की राशि बतौर दान मिल चुकी है। जिसमें कथावाचक मोरारी बापू की 11 करोड़ रुपए की भागीदारी भी शामिल है। बतादें कि 1989 में राममंदिर आंदोलन और शिलापूजन के लिए भी विहिप ने देश भर के हिंदू परिवारों से सवा-सवा रुपए की राशि बतौर चंदा हासिल की थी।

Next Story