Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Shitla Satam In 2020 : शीतला सातम पर क्या करें और क्या न करें

Shitla Satam In 2020 :शीतला सातम पर क्या करें और क्या न करें यह जानकर आप मां शीतला (Goddess Sheetala) का पूर्ण आशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं, माता शीतला को शीतलता की देवी माना जाता है और इनकी पूजा बासी भोजन से की जाती है।

Shitla Satam In 2020 : शीतला सातम पर क्या करें और क्या न करें
X
Shitla Satam In 2020 : शीतला सातम पर क्या करें और क्या न करें

माता शीतला (Goddess Shitla) की विधिवत पूजा की जाती है। लेकिन पूजा के अलावा क्या आप जानते हैं कि इस दिन आपको क्या करना चाहिए औैर क्या नहीं करना चाहिए अगर नहीं तो आज हम आपको बताएंगे कि आप शीतला सातम के दिन क्या करें और क्या न करें।

शीतला सातम पर क्या करें (Shitla Satam Per Kya Kare)

1. शीतला सातम के दिन ठंडा भोजन यानी एक दिन पहले का बने भोजन से मां शीतला को भोग लगाया जाता है और उसी भोजन को ग्रहण किया जाता है।

2. माता शीतला को शीतलता की देवी माना जाता है इसलिए इस दिन शीतल जल से ही स्नान करना चाहिए। ऐसा करने से शरीर में शीतलता तो आती ही है साथ ही मां शीतला भी प्रसन्न होती हैं।

3. माता शीतला के भोग में मीठे पूए, दही और चावल अवश्य रखें क्योंकि इनके बिना मां शीतला का भोग अधूरा माना जाता है।

4.शीतला सातम के दिन अपने घर में झाडू और सूप जरूर लेकर आएं और इनकी पूजा अवश्य करें। इनका उपयोग बिल्कुल भी न करें।

5. इस दिन मां शीतला को बिना नमक के आटे का दीपक बनाकर बिना जलाए उसे माता शीतला को अर्पित करना चाहिए।

6. मां शीतला की पूजा करने के बाद हल्दी को अपने घर के घर के सभी बच्चों के माथे पर अवश्य लगाएं। ऐसा करने से उनको किसी भी प्रकार का कोई रोग नहीं सताएगा।

7. आपको इस दिन गधे की लीप से घर को अवश्य लीपें। यदि आप ऐसा नहीं कर सकते तो सिर्फ अपने आंगन को ही लीपें। ऐसा करने से आपको मां शीतला का आशीर्वाद प्राप्त होगा।

8. इस दिन किसी भी मंदिर में झाडू और सूप का दान भी किया जाता है। इसलिए यदि संभव हो तो शीतला माता के मंदिर में झाडू और सूप का दान अवश्य करें।

9. शीतला सातम के दिन कुम्हारन को प्रसाद के रूप में कुछ न कुछ अवश्य देना चाहिए और साथ ही दक्षिणा भी देनी चाहिए। ऐसा माना जाता है कि जब तक कुम्हारन कुछ नहीं खाती है तब तक शीतला माता की पूजा सफल नहीं होती।

10. माता शीतला का वाहन गधा माना जाता है। इसलिए इस दिन यदि संभव हो तो किसी गधे की सेवा अवश्य करें। ऐसा करने से आपको मां शीतला का आशीर्वाद प्राप्त होगा।

शीतला सातम पर क्या न करें (Shitla Satam Per Kya Na Kare)

1.शीातला सातम के दिन अग्नि प्रज्वल्लित नहीं की जाती। इसलिए इस दिन भूलकर भी अग्नि न जलाएं। मां शीतला की आरती भी जल से करें।

2. इस दिन माता शीतला को भोग लगाने वाले भोजन में तीखा, नमक और खटाई बिल्कुल भी नहीं होना चाहिए। इन चीजों से बने हुए भोजन का भोग मां शीतला को लगाना वर्जित माना गया है।

3.शीतला सातम के दिन भूलकर भी अपने घर में चूल्हा न जलाएं। शास्त्रों में इस दिन चूल्हा जलाना वर्जित माना गया है। यदि आप ऐसा करते हैं तो आपको मां शीतला के क्रोध का सामना करना पड़ेगा।

4. आपको भूलकर भी इस दिन माता शीतला की पूजा करते समय आपको गाढ़े रंग के वस्त्र बिल्कुल भी नहीं पहनने चाहिए और न हीं नए वस्त्र पहनकर पूजा करनी चाहिए।

5. शीतला सातम के दिन घर में झाडू लगाना भी वर्जित माना गया है। इसलिए इस दिन भूलकर घर में झाडू बिल्कुल भी लगाएं।

6. आपको इस दिन ऊनी वस्त्रों का प्रयोग भी बिल्कुल नहीं करना चाहिए। ऐसा करना भी शीतला सातम के दिन वर्जित माना जाता है।

7. इस दिन सूईं में धागा डालना भी वर्जित माना गया है। इसलिए भूलकर भी शीतला सातम के दिन सूईं में धागा बिल्कुल भी न डालें।

8. आपको इस दिन मां शीतला के भोग में प्याज और लहसून का प्रयोग बिल्कुल भी न करें और न हीं इस दिन प्याज और लहसून का सेवन करें। यदि आप ऐसा करते हैं तो आपको माता शीतला के क्रोध का सामना करना पड़ सकता है।

9. शीतला सातम के दिन भूलकर भी शराब और मांसाहार का प्रयोग बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए। यदि आप ऐसा करते हैं तो आपकी संतान को कोई गंभीर रोग हो सकता है।

10. शीतला सातम के दिन भूलकर भी किसी जानवर को न तो तंग करें और न हीं उसे मारें विशेषकर गधे को क्योंकि गधे को माता शीतला का वाहन माना जाता है। आपके ऐसा करने से आपको कोई कुष्ठ रोग हो सकता है।

Next Story
Top