Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Pradosh Vrat 2021 : शनि प्रदोष व्रत आज, जानें पूजन-विधि और उपाय

  • प्रत्येक माह कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि के दिन प्रदोष व्रत रखा जाता है।
  • जो व्यक्ति प्रदोष व्रत रखता है उसपर भगवान शंकर की कृपा बनी रहती है।

पुष्य नक्षत्र में कल मनाया जाएगा शनि प्रदोष और बछ बारस का पर्व, जानें शुभ मुहूर्त, पूजा विधि महत्व और कथा
X

Pradosh Vrat 2021 : हिन्दू पंचांग के अनुसार प्रत्येक माह कृष्ण पक्ष और शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी तिथि के दिन प्रदोष व्रत (Pradosh Vrat) रखा जाता है। जो व्यक्ति त्रयोदशी (Trayodashi) यानि प्रदोष व्रत रखता है उसपर भगवान शंकर (Lord Shiva) की कृपा बनी रहती है। मान्यता है कि जो लोग प्रदोष व्रत रखते हैं उन्हें कभी भी कोई रोग या दोष नहीं सताता। तो आइए जानते हैं आज के शनि प्रदोष व्रत के बारे में।

ये भी पढ़ें : Chanakya Niti : जिस पुरुष में होते हैं कुत्ते के ये पांच गुण उसकी स्त्री उससे रहती है सदा संतुष्ट

शनि प्रदोष व्रत पूजन विधि (Shani Pradosh Vrat Poojan Vidhi)

  • सूर्यास्त के पश्चात रात्रि के आने से पूर्व का समय प्रदोष काल कहलाता है।
  • इस व्रत में महादेव भोले शंकर की पूजा की जाती है।
  • ध्यान रहे कि इस व्रत में व्रती को निर्जल रहकर व्रत रखना होता है।
  • इस दिन प्रात: काल स्नान करके भगवान शिव की (बेलपत्र), गंगाजल, अक्षत, धूप, दीप सहित पूजा करें। संध्या काल में पुन: स्नान करके इसी प्रकार से शिव जी की पूजा करना चाहिए।
  • इस प्रकार प्रदोष व्रत करने से व्रती को पुण्य मिलता है।
  • शनि प्रदोष व्रत में भगवान शिव के लिए देसी घी और शनिदेव के लिए सरसों के तेल का दीपक प्रज्जवलित करें।
  • शिव-पार्वती और श्रीगणेश के भजनों के साथ जागरण करें।
  • माना जाता है कि प्रदोष काल में भगवान शिव साक्षात शिवलिंग में अवतरित होते हैं।

शनि प्रदोष व्रत उपाय (Shani Pradosh Vrat Upay)

  1. प्रदोष व्रत के दिन घर के पूजा स्थल पर एक पीला कपड़ा बिछाकर उसमें हल्दी की गांठ, चीनी, चना दाल, साबुत लाल मिर्च और सोने का कोई एक टुकड़ा या आभूषण बांध लें।
  2. इसके बाद सूर्यास्त होने से पूर्व ही इस पोटली को अपनी तिजोरी में रख दें।
  3. यह आपके घर की नकारात्मक ऊर्जा का काट होती है और आपके धन संबंधी समस्त दोषों को समाप्त करती है।

(Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Haribhoomi.com इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

और पढ़ें
Next Story