Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

जानिए कुछ खास शकुन-अपशकुन और भविष्यफल

shakun shastra: मानव जीवन में शकुन-अपशकुन का खास महत्व होता है। शकुन-अपशकुन किसी ना किसी रूप में हमें प्रभावित करते रहते हैं। शकुन-अपशकुन का हमारे भविष्य की घटनाओं से भी संबंध होता है। तो आइए आप भी जाने ज्योतिषी और हस्तरेखाविद आचार्य विजयपाल शास्त्री के अनुसार कुछ खास शकुन-अपशकुन और उनके भविष्यफल के बारे में जरुरी बातें।

जानिए कुछ खास शकुन-अपशकुन और भविष्यफल
X
प्रतीकात्मक तस्वीर

shakun shastra: मानव जीवन में शकुन-अपशकुन का खास महत्व होता है। शकुन-अपशकुन किसी ना किसी रूप में हमें प्रभावित करते रहते हैं। शकुन-अपशकुन का हमारे भविष्य की घटनाओं से भी संबंध होता है। तो आइए आप भी जाने ज्योतिषी और हस्तरेखाविद आचार्य विजयपाल शास्त्री के अनुसार कुछ खास शकुन-अपशकुन और उनके भविष्यफल के बारे में जरुरी बातें।

दूध

सुबह-सुबह दूध को देखना शुभ कहा जाता है। दूध का उबलकर गिरना शुभ माना जाता है। इससे घर में सुख-शांति, संपत्ति, मान व वैभव की उन्नति होती है। दूध का बिखर जाना अपशकुन मानते हैं जो किसी दुर्घटना का संकेत है। दूध को जान-बूझ कर छलकाना अपशकुन माना जाता है जो घर में कलह का कारण है। बच्चों का दूध पीते ही घर से बाहर जाना अपशकुन माना जाता है। स्वप्न में दूध दिखाई देना अशुभ माना जाता है।

झाडू

झाडू को घर की लक्ष्मी मानते हैं क्योंकि यह दरिद्र को घर से बाहर निकालती है। इससे भी कई शकुन व अपशकुन जुड़े हैं। दीपावली के त्यौहार पर नई झाडू घर में लाना लक्ष्मी जी के आगमन का शुभ शकुन है। नए घर में गृह प्रवेश से पूर्व नए झाडू का घर में लाना शुभ होता है। झाडू के ऊपर पांव रखना गलत समझा जाता है। यह माना जाता है कि व्यक्ति घर आई लक्ष्मी को ठुकरा रहा है। कोई छोटा बच्चा अचानक घर में झाडू लगाने लगे तो समझ लीजिए कि घर में कोई अनचाहे मेहमान के आने का संकेत है। सूर्यास्त के बाद घर में झाडू लगाना अपशकुन होता है क्योंकि यह व्यक्ति के दुर्भाग्य को निमंत्रण देता है।

आईना

हर घर में आईने का बहुत महत्व है। आइने से जुड़े कई शकुन-अपशकुन मनुष्य जीवन को कहीं न कहीं प्रभावित अवश्य करते हैं। दर्पण का हाथ से छूटकर टूट जाना अशुभ माना जाता है। एक वर्ष तक के बच्चे को दर्पण दिखाना अशुभ होता है। यदि कोई नवविवाहिता अपनी शादी का जोड़ा पहन कर श्रृंगार सहित खुद को टूटे दर्पण में देखती है तो भी अपशकुन होता है। मतलब ये कि टूटा आइना हर तरह से अशुभ ही होता है।

जानवरों के शकुन-अपशकुन

अगर आपको देखते ही बिल्ली भाग जाएं तो आपके लिए शुभ शकुन है। अगर आपको कहीं से बिल्ली की जेर मिल जाए तो वो शुभ शकुन होता है। बिल्ली दूध पी जाए तो अपशकुन होता है। यदि काली बिल्ली रास्ता काट जाए तो अपशकुन होता है। यदि सोते समय अचानक बिल्ली शरीर पर गिर पड़े तो अपशकुन होता है। बिल्ली का रोना, लडऩा व छींकना भी अपशकुन है। बिल्लियां आपस में लड़ाई करें या घुर-घुर शब्द करें तो अपशकुन। शुभ काम के समय कुत्ते का रोना अशुभ लेकिन कुत्ता एक आंख से रोते हुए दिखाई दे तो शुभ। नेवले और सांप की लड़ाई दिखे तो अशुभ लेकिन नेवला आपका रास्ता काट लें तो शुभ। सांप को संभोग करते देखें तो अशुभ लेकिन सफेद सांप दिखाई दे तो शुभ।

पक्षियों के शकुन-अपशकुन

सूखे पेड़ या सूखे पहाड़ पर तोता बोलता नजर आए तो भय तथा सम्मुख बोलता दिखाई दे तो बंधन दोष होता है। कोयल की आवाज सामने से आए तो कलह और दाईं तरफ से आए तो भी अशुभ होती है। पीछे से और बांई तरफ से कोयल की आवाज आए तो आपको सफलता और धन लाभ होगा। बत्तख जमीन पर बाईं तरफ बोलती हो तो अशुभ फल मिले। बगुला भयभीत होकर उड़ता दिखाई दे तो यात्रा में डर और परेशान होना पड़ सकता है। किसी खास काम के लिए जाते समय चिडिय़ों का झुंड भयभीत होकर उड़ता दिखाई दे तो आपके लिए अशुभ होगा। कबूतर दाईं तरफ मिले तो भाई अथवा परिजनों को कष्ट होता है। कबूतर की आवाज पीछे से आए तो आपके लिए शुभ रहेगा। लड़ाई करता हुआ मोर दाईं तरफ दिखाई दे या शरीर पर आकर गिरे तो अशुभ माना जाता है लेकिन मोर की आवाज बाई और से आए या पीछे से आए तो आपके लिए शुभ संकेत होता है।

Next Story