Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Sawan 2021: सावन माह आज से प्रारंभ, एक क्लिक में देखें शिव के प्रिय मास के व्रत-त्योहार और महत्वपूर्ण तिथियों की सूची

  • देखें, सावन माह का व्रत-पर्व कैलेंडर
  • जानें, कब शुरु होगा सावन माह और कब सामप्त होगा।

Sawan 2021: सावन के माह के व्रत-त्योहार और महत्वपूर्ण तिथियों की सूची एक क्लिक में देखें
X
प्रतीकात्मक तस्वीर

Sawan 2021: पंचांग के अनुसार, सावन माह हिन्दू वर्ष का पांचवा महीना होता है। सावन के महीने का शिव भक्तों के लिए विशेष महत्व है। पूरे सावन माह भगवान शिव की पूजा – आराधना की की धूम रहती है। शिव भक्त सावन माह के सभी दिन एक उत्सव के रूप में मानते हैं और विधि-विधान से भगवान शिव का व्रत और पूजन करते हैं। साल 2021 में सावन माह की शुरूआत 25 जुलाई, दिन रविवार से हो रही है और 22 अगस्त को सावन माह समाप्त होगा। वहीं सावन माह में अनेक व्रत और त्योहार मनाए जाते हैं। तो आइए जानते हैं सावन माह में पड़ने वाले व्रत-त्योहार और विशेष तिथियों के बारे में....

यह भी पढ़ें : Sawan 2021 : सावन के पहले मंगलवार को बन रहा अंगारकी चतुर्थी और मंगला गौरी व्रत का शुभ संयोग, जानें कैसे पाएं मां पार्वती के साथ भगवान गणेश का आशीर्वाद

श्रावण माह की शुरुआत में ही कृष्ण पक्ष की अष्टमी को कालाष्टमी का व्रत रखा जाएगा। इस दिन भगवान कालभैरव के लिए व्रत रखा जाता है। वहीं सावन मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को कामिका एकादशी का व्रत रखा जाता है। यह व्रत भगवान विष्णु को प्रसन्न करने के लिए रखा जाता है। वैसे तो हर माह के कृष्ण पक्ष चतुर्दशी तिथि को मासिक शिवरात्रि मनाई जाती है, लेकिन शास्त्रों में सावन की मासिक शिवरात्रि का विशेष महत्व होता है क्योंकि पूरा सावन का महीना ही भगवान शिव की पूजा के लिए समर्पित होता है। इसके बाद आता है हरियाली तीज का पर्व इस दिन सुहागिन महिलाएं अपने पति के अच्छे स्वास्थ्य और दीर्घ आयु की कामना के लिए व्रत रखती हैं। इस दिन शिव पार्वती का पूजन किया जाता है। फिर उसके बाद सावन के शुक्ल पक्ष की पंचमी को नागपंचमी का त्योहार मनाया जाता है। इस दिन नाग और सर्प देवता की पूजा का विधान है। तथा सावन के शुक्ल पक्ष की एकादशी के दिन पुत्रदा एकादशी मनायी जाती है और पुत्र की लंबी आयु और अच्छे स्वास्थ्य की कामना के लिए इस दिन महिलाएं व्रत रखती हैं। वहीं सावन माह में ओणम का पर्व विशेष रूप से केरल में मनाया जाता है। इस दिन पाताल लोक के राजा बलि के धरती पर आगमन का उत्सव धूमधाम से मनाया जाता है। तथा सबसे बाद में रक्षाबंधन का त्योहार सावन माह के अंतिम दिन श्रावण पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है। ये त्योहार भाई-बहन के आपसी प्रेम को आक्र अधिक प्रगाढ़ बनाता है। इसके साथ ही सावन माह में सावन सोमवार के व्रत और मंगलवार को मंगला गौरी व्रत का विशेष महत्व है।

ये भी पढ़ें : भगवान शिव सोमवार के दिन ये उपाय करने से होते हैं प्रसन्न, कर देते हैं मालामाल

सावन 2021 व्रत-त्योहार कैलेंडर

तारीख और दिनव्रत-त्योहार

31 जुलाई, दिन शनिवार

कालाष्टमी

4 अगस्त, दिन बुधवार

कामिका एकादशी

6 अगस्त, दिन शुक्रवार

मासिक शिवरात्रि

08 अगस्त, दिन रविवार

सावन मास की अमावस्या

11 अगस्त, दिन बुधवार

हरियाली तीज

13 अगस्त, दिन शुक्रवार

नागपंचमी

18 अगस्त, दिन बुधवार

पुत्रदा एकादशी

21 अगस्त, दिन शनिवार

ओणम

22 अगस्त दिन रविवार

रक्षा बंधन

सावन के सोमवार व्रत की तिथियां

26 जुलाई

पहला सावन सोमवार व्रत

02 अगस्त

दूसरा सावन सोमवार व्रत

09 अगस्त

तीसरा सावन सोमवार व्रत

16 अगस्त

चौथा सावन सोमवार व्रत

सावन के मंगला गौरी व्रत की तिथियां

27 जुलाई

पहला मंगला गौरी व्रत

03 अगस्त

दूसरा मंगला गौरी व्रत

10 अगस्त

तीसरा मंगला गौरी व्रत

17 अगस्त

चौथा मंगला गौरी व्रत

(Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Haribhoomi।com इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

Next Story