Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Guru Ast 2021 : आज हो रहे हैं गुरु अस्त, एक क्लिक में जानिए इसका आपकी राशि पर क्या होगा प्रभाव

Guru ast 2021 : हाल ही में सात जनवरी 2021 दिन गुरुवार को न्याय के देवता शनि अस्त हुए हैं। और अब शनि 10 फरवरी 2021 तक अस्त रहेंगे। ऐसे में कुछ राशियों के जीवन में कुछ ना कुछ उथल-पुथल तो होगी ही। तो वहीं कुछ राशियों को शनिदेव राहत भी देंगे। तो अब शनिदेव के बाद गुरु भी अस्त होने वाले हैं।

Guru Ast 2021 :  आज हो रहे हैं गुरु अस्त, एक क्लिक में जानिए इसका आपकी राशि पर क्या होगा प्रभाव
X

Guru ast 2021 : हाल ही में सात जनवरी 2021 दिन गुरुवार को न्याय के देवता शनि अस्त हुए हैं। और अब शनि 10 फरवरी 2021 तक अस्त रहेंगे। ऐसे में कुछ राशियों के जीवन में कुछ ना कुछ उथल-पुथल तो होगी ही। तो वहीं कुछ राशियों को शनिदेव राहत भी देंगे। तो अब शनिदेव के बाद गुरु भी अस्त होने वाले हैं। आज यानि कि 17 जनवरी 2021 को दोपहर 03:52 बजे गुरु अस्त होंगे। ऐसे में सभी शुभ कार्य वर्जित हो जाएंगे। यानि कि जब तक गुरु अस्त रहेंगे तब तक किसी भी शुभ या मांगलिक कार्य का आयोजन नहीं होगा। वहीं देवगुरु बृहस्पति का अस्त होना सभी राशियों के जीवन पर अलग-अलग प्रभाव डालेगा। कुछ के लिए यह नकारात्मक होगा तो कुछ के लिए सकारात्मक होगा। तो आइए जानते हैं कि गुरु के अस्त होने से आपकी राशि पर कैसा असर होगा।

Also Read: Chanakya Niti : जानिए पति से असंतुष्ट महिला करती है ऐसे इशारे


मेष

मेष राशि में देवगुरु बृहस्पति आपकी कुंडली के दशम भाव में अस्त होंगे। ऐसे में आपको वरिष्ठ और अनुजों के साथ बातचीत करने में सावधानी बरतनी होगी। अन्यथा आपके मान-सम्मान में कमी आ सकती है। आपके कामकाज की स्थिति प्रभावित होगी। और गलत निर्णयों का खमियाजा भी तत्काल ही उठाना पड़ सकता है। इस दौरान आपके जीवन में आर्थिक तंगी भी आ सकती है।


वृष

गुरु आपके भाग्य स्थान में अस्त होंगे। इसलिए भाग्य के भरोसे ना रहें। और ना ही किसी काम को अधूरा छोड़ें। इस दौरान आप समझदारी से काम लेंगे तो परेशानियों से बच सकते हैं। अपने मान-सम्मान का ध्यान रखकर ही कार्य करें। आय के स्त्रोत भी प्रभावित हो सकते हैं। पार्टनर के साथ विचारों में तालमेल का अभाव रहेगा। हालांकि विद्यार्थियों के लिए यह समय अनुकूल है।


मिथुन

गुरु के अस्त होने से मिथुन राशि के जातकों को अनावश्यक खर्चों पर तत्काल रोक लगाने की जरुरत है। साथ ही कोई बड़ा निवेश करने से पहले किसी जानकार की राय जरुर लें। अन्यथा बड़ा नुकसान हो सकता है। उधार, लेनदेन में सावधानी बरते। वरना संबंध खराब हो सकते हैं। मकान-वाहन खरीदने की कोई योजना हो तो फिलहाल उसे टाल दें।


कर्क

गुरु के अस्त होने से कर्क राशि के जातकों को अपने पारिवारिक मामलों में संभल कर रहना होगा। वरना संबंधों में तल्खियां आ सकती हैं। वहीं जिन लोगों के संबंध पहले से ही खराब चल रहे हैं उन्हें सर्तक होकर काम करने की जरुरत है। खासकर घरेलु मामलों में निर्णय जल्दबाजी में लेने की गलती ना दोहराएं। अन्यथा परेशानी बढ़ सकती हैं। सामाजिक मामलों में आपके द्वारा लिए गए निर्णय गलत साबित हो सकते हैं। आय के स्त्रोत में कमी आ सकती है।


सिंह

गरु के अस्त होने से सिंह राशि के जातकों का कुछ मामलों में निवेश किया गया धन अटक सकता है। इस दौरान आपको काम के नए अवसर भी मिलेंगे। ध्यान रखें कि रिस्क लेकर काम करने की अभी कोई आवश्यकता नहीं है। जो चीजें जैसी चल रही हैं उन्हें वैसे ही आगे बढ़ाएं। इस दौरान यात्रा का भी संयोग बन रहा है। लेकिन यात्रा के दौरान सावधानी जरुरी है।


कन्या

गुरु के अस्त होने से कन्या राशि के जातकों को अपेक्षित परिणाम प्राप्त होने में थोड़ा समय लग सकता है। जल्दी ही आपके लिए शुभ योग बनेंगे। ये योग आपको बेहतर लाभ दिलाएंगे। यदि आपका कही से पैसा आने वाला है तो किसी कारण से वो लेट हो सकता है लेकिन वो पैसा आएगा जरुर। सेहत का ध्यान रखें और वाहन चलाने में सावधानी बरतें।


तुला

गोचर आपके चतुर्थ भाव में होगा। इसके प्रभाव से आपके कामकाज तो होंगे लेकिन उनकी गति धीमी पड़ सकती है। घर में किसी के स्वास्थ्य को लेकर भी चिंता हो सकती है। इससे कामकाज प्रभावित हो सकता है। मकान-वाहन आदि के निवेश में जल्दबाजी करना अभी उचित नहीं है। पार्टनर पर अपना गुस्सा ना निकालें बल्कि यथा स्थितियों को समझने का प्रयास करें। सेहत के मामलों में लापरवाही ना बरतें।


वृश्चिक

इस दौरान आपको खुद की खामियों को देखने और समझने का मौका मिलेगा। गुरु के अस्त होने के दौरान आपको जीवनसाथी के स्वास्थ्य को लेकर चिंता हो सकती है साथ ही विचारों के मिलने में भी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। साझेदारी में काम करने वाले जातकों को कार्य में पारदर्शिता रखने की जरुरत है।


धनु

धनु राशि के जातकों को बोलचाल में सावधानी बरतनी होगी। सामाजिक मान-मर्यादा का ध्यान रखें। इस दौरान आप किसी से झूठे वादे न करें और शत्रु पक्ष को हल्के में लेने की भूल भी ना करें। वरना आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है। किसी तरह की गुप्त परेशानी का शिकार हो सकते है। सेहत संबंधी मामलों में सतर्कता बरतें। कामकाज को लेकर व्यर्थ की भागदौड़ हो सकती है।


मकर

गुरु अस्त होने के कारण आप लोगों को बयानबाजी से बचना ही हितकर होगा। विद्यार्थियों को मनमुताबिक परिणाम लाने के लिए खूब मेहनत करनी होगी। प्रेम प्रसंगों में उतार-चढ़ाव की संभावना है। परिवारिक व सामाजिक मामलों में बोलते समय सही शब्दों का चयन करें। अन्यथा रिश्तों में खटास आ सकती है। दांपत्य जीवन में कष्टों का सामना करना पड़ सकता है।


कुंभ

गुरु के अस्त होने से कुंभ राशि के जातकों के लिए यात्राओं का प्रसंग बनेगा। वहीं कुछ अनावश्यक खर्चें भी बढ़ेंगे। किसी बात को लेकर मन में शंका हो सकती है। मकान-वाहन और प्रॉपर्टी में निवेश के समय सतर्कता से काम लें। इस दौरान आपके ऊपर शत्रु भी हावी हो सकते हैं। सेहत को नजरअंदाज करने से बचें।


मीन

गुरु अस्त होने से मीन राशि के जातकों पर आलस्य हावी हो सकता है। पराक्रम में कमी आएगी। प्रतियोगिता के दौरान आत्मविश्वास कमजोर महसूस होगा। प्रियजन किसी बात को लेकर अपनी नाराजगी व्यक्त कर सकते हैं। कारोबार में कोई बड़ी डील होते-होते टल सकती है।

Next Story