Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Gochar 2021 Horoscope : जानें, बुध के राशि परिवर्तन का आपके ऊपर क्या हो सकता है प्रभाव

  • बुध को करियर मान-सम्मान भौतिक सुख-सुविधा और रुपए-पैसे का कारक ग्रह माना जाता है।
  • बुध का गोचर कुछ राशियों के लिए अच्छी खबर लेकर आएगा तो कुछ राशियों के लिए बुरी खबर लेकर आएगा।
  • जानें, गोचर राशिफल

Gochar 2021 Horoscope : जानें, बुध के राशि परिवर्तन का आपके ऊपर क्या हो सकता है प्रभाव
X

Gochar 2021 Horoscope : बुध के राशि परिवर्तन से सभी जातकों के करियर मान-सम्मान भौतिक सुख-सुविधा और रुपए-पैसे की स्थिति में बदलाव हो सकता है। ज्योतिष में बुध को कई चीजों का कारक ग्रह माना जाता है। सभी राशियों पर प्रभाव डालने वाला बुध ग्रह इस गोचर से कुछ राशियों के लिए अच्छी खबर लेकर आएगा तो कुछ राशियों के जीवन में उतार-चढ़ाव की स्थिति देखी जाएगी। वहीं बुध का मीन राशि में यह गोचर 01 अप्रैल 2021 को होने वाला है और बुध 16 अप्रैल 2021 तक मीन राशि में गोचर करेंगे। तो आइए जानते हैं बुध के मीन राशि में गोचर से आपकी राशि पर क्या प्रभाव हो सकता है।

ये भी पढ़ें : Nirjala Ekadashi 2021: साल 2021 में निर्जला एकादशी कब है, जानें...


मेष राशि

राशि से बारहवें भाव में गोचर करते हुए बुध का प्रभाव काफी मिलाजुला रहेगा। भागदौड़ की अधिकता रहेगी। कोर्ट कचहरी के मामलों में भी तनाव रहेगा। धर्म एवं आध्यात्म के प्रति रुचि बढ़ेगी। मांगलिक कार्यों का सुअवसर आएगा।


वृषभ राशि

राशि से लाभस्थान में गोचर करते हुए बुध का प्रभाव अच्छा ही रहेगा। आय के साधनों में बढ़ोतरी होगी। काफी दिनों का दिया गया धन भी वापस मिलने की उम्मीद। व्यापारियों के लिए तो समय अपेक्षाकृत और अच्छा रहेगा। मकान-वाहन के क्रय का योग है।


मिथुन राशि

राशि से दशम भाव में बुध अप्रत्याशित रूप से कार्यक्षेत्र का विस्तार करेंगे। रोजगार की दिशा में किए गए प्रयास सार्थक रहेंगे। माता-पिता के स्वास्थ्य के प्रति चिंतनशील रहेंगे। समाज के संभ्रांत लोगों से मेलजोल बढ़ेगा। सामाजिक जिम्मेदारी तथा पद प्रतिष्ठा में भी वृद्धि होगी।


कर्क राशि

राशि से भाग्य भाव में गोचर करते हुए बुध का प्रभाव काफी मिला-जुला रहेगा। सफलता की संभावना सर्वाधिक रहेगी। विदेशी मित्रों तथा संबंधियों से लाभ की उम्मीद है। वीजा और नागरिकता के लिए भी आवेदन करना चाह रहे हों अवसर अच्छा है।


सिंह राशि

राशि से अष्टम भाव में गोचर करते हुए बुध स्वास्थ्य की दृष्टि से परेशान कर सकते हैं चर्म रोग, पेट संबंधी विकार, दवाओं के रिएक्शन, तथा एलर्जी से हमेशा सावधान रहना होगा। किसी कारण से पारिवारिक कलह एवं मानसिक अशांति का भी सामना करना पड़ सकता है। जमीन जायदाद से जुड़े मामले आपस में सुलझा लेना समझदारी होगी।


कन्या राशि

राशि से सप्तम भाव में गोचर करते हुए बुध अच्छा फल ही प्रदान करेंगे। परिवार में मांगलिक कार्यों का सुअवसर आएगा। विवाह से संबंधित वार्ता सफल रहेगी। ससुराल पक्ष से रिश्ते मजबूत रहेंगे। दैनिक व्यापारियों के लिए समय और अनुकूल रहेगा।

ये भी पढ़ें : Jyotish Shastra : बुधवार के उपायों से मिलते हैं ये खास लाभ, जानें टोटके, मंत्र और बीजमंत्र


तुला राशि

राशि से छठे भाव में गोचर करते हुए बुध स्वास्थ्य पर तो विपरीत प्रभाव डालेंगे ही गुप्त शत्रुओं की भी अधिकता रहेगी। आपके अपने ही लोग नीचा दिखाने की कोशिश करेंगे। कोर्ट कचहरी के मामले भी आपस में भी सुलझा लें तो बेहतर रहेगा।


वृश्चिक राशि

राशि से पंचम भाव में गोचर करते हुए बुध का प्रभाव अच्छा ही रहेगा। स्मरण शक्ति बढ़ेगी। मान-सम्मान की वृद्धि होगी। सामाजिक पद प्रतिष्ठा भी बढ़ेगी। प्रेम संबंधी मामलों में प्रगाढ़ता आएगी।


धनु राशि

राशि से चतुर्थ भाव में गोचर करते हुए बुध का प्रभाव सामान्य ही रहेगा। स्वास्थ्य पर विपरीत प्रभाव पड़ेगा। किसी न किसी कारण से पारिवारिक कलह एवं मानसिक अशांति का सामना भी करना पड़ेगा। मित्रों अथवा संबंधियों के द्वारा अप्रिय समाचार प्राप्ति के योग हैं।


मकर राशि

राशि से तृतीय भाव में गोचर करते हुए बुध कई तरह के अप्रत्याशित उतार-चढ़ाव लाएंगे। अपनी जिद एवं आवेश को नियंत्रण में रखकर कार्य करेंगे तो अधिक सफल रहेंगे। परिवार के वरिष्ठ सदस्यों तथा छोटे भाइयों से मतभेद न पैदा होने दें। धर्म एवं अध्यात्म के प्रति रुचि बढ़ेगी।


कुंभ राशि

राशि से धन भाव में गोचर करते हुए बुध अच्छा फल ही प्रदान करेंगे। अपनी वाणी कुशलता के बलपर कठिन से कठिन हालात को भी आसानी से नियंत्रित कर लेंगे। महिलाओं के लिए इनका प्रभाव अपेक्षाकृत और बेहतर रहेगा। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा।


मीन राशि

आपकी राशि में गोचर करते हुए बुध नीचराशिगत संज्ञक माने गए हैं। स्वास्थ्य के प्रति हमेशा चिंतनशील रहें। खान-पान का ध्यान रखें। अन्यथा पेट संबंधी विकार परेशान कर सकता है। विवाह से संबंधित वार्ता सफल रहेगी। ससुराल पक्ष से सहयोग मिलेगा।

(Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Haribhoomi.com इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

Next Story