Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Rakshabandhan 2022: भाई की तरक्की के लिए रक्षाबंधन के दिन बहन जरुर करें ये काम, वरना...

Rakshabandhan 2022: रक्षाबंधन का पर्व 11 अगस्त 2022 को मनाया जाएगा। खासतौर से सावन की पूर्णिमा को बड़े हर्षोल्लास के साथ बहनें अपने भाई की कलाई पर रक्षासूत्र बांधती हैं। राखी बांधते समय बहनें अपने भाई के खुशहाल जीवन और लंबी आयु की कामना करती हैं।

Rakshabandhan 2022: भाई की तरक्की के लिए रक्षाबंधन के दिन बहन जरुर करें ये काम, वरना...
X

Rakshabandhan 2022: रक्षाबंधन का पर्व 11 अगस्त 2022 को मनाया जाएगा। खासतौर से सावन की पूर्णिमा को बड़े हर्षोल्लास के साथ बहनें अपने भाई की कलाई पर रक्षासूत्र बांधती हैं। राखी बांधते समय बहनें अपने भाई के खुशहाल जीवन और लंबी आयु की कामना करती हैं। बदले में भाई उन्हें उपहार देता है और उनकी रक्षा करने का वचन भी उन्हें देता है। हिन्दू धर्म की पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, रक्षाबंधन के दिन कुछ खास काम जरुर करना चाहिए, क्योंकि इससे ना सिर्फ आपका रिश्ता मजबूत होगा, बल्कि भाई की तरक्की के लिए भी यह लाभकारी माना जाता है। तो आइए जानते हैं कौनसे काम रक्षाबंधन के दिन करने से भाई के लिए लाभकारी होते हैं।

राखी बांधने से पहले करें मां लक्ष्मी की पूजा

शास्त्रों के अनुसार, इस दिन कनक धारा स्तोत्र और विष्णु सहस्त्र नाम का पाठ करने से मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है। मान्यता है कि, भाई-बहन दोनों को इसका पाठ करने से आरोग्य का वरदान मिलता है।

दान करें

दान सबसे बड़ा पुण्य का काम है। मान्यता है कि, इस दिन जरुरतमंदों को अन्न और धन दान करने से भाई-बहन के रिश्तों में कभी खटास नहीं आती है और जीवन में तरक्की के रास्ते खुल जाते हैं।

भगवान श्रीकृष्ण को बांधें राखी

बहनों को भाई की कलाई पर राखी बांधने से पहले भगवान श्रीकृष्ण को रक्षासूत्र जरुर बांधना चाहिए। पौराणिक काल में द्रोपदी ने श्रीकृष्ण को भाई मानते हुए उनकी अंगुली कटने पर उसे अपनी साड़ी के पल्लू को फाड़कर बांध दिया था और जरुर पड़ने पर भगवान श्रीकृष्ण ने भी द्रोपदी की चीर हरण के समय लाज बचायी थी। इसीलिए इस दिन भगवान श्रीकृष्ण को राखी बांधने से आपको हर परिस्थिति में भगवान का साथ प्राप्त होता है।

वाहन पर बांधे रक्षासूत्र

रक्षाबंधन के दिन सबसे पहले अपने वाहन पर भी रक्षासूत्र बांधें। मान्यता है कि, इससे दुर्घटना का खतरा टल जाता है।

(Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Haribhoomi.com इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें।)

और पढ़ें
Next Story