Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Radha Ashtami 2021: राधा अष्टमी पर करें धन प्राप्ति और कर्ज मुक्ति के लिए ये उपाय

Radha Ashtami 2021: जन्माष्टमी के शुभ अवसर पर भगवान श्रीकृष्ण का जन्मदिन मनाने के बाद अब बारी है उनकी प्रेयसी राधारानी का जन्मदिन मनाने की। वैसे तो कोरोना संक्रमण के मद्देनजर साल 2021 में सभी पर्वों पर सरकार द्वारा निर्धारित सभी गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है,लेकिन फिर भी ब्रज भूमि में श्रीराधारानी के जन्मदिन को लेकर श्रृद्धालुओं में खासा उत्साह है। राधारानी को साक्षात माता लक्ष्मी स्वरुपा माना जाता है। राधाष्टमी के इस अवसर पर हम लोग आसानी से धन वद्धि के उपाय करके सुख-समृद्धि प्राप्त कर सकते हैं। तो आइए जानते हैं श्रीराधाष्टमी के अवसर पर कैसे करें धन-सुख और सौभाग्य में वृद्धि के उपाय।

Radha Ashtami 2021: राधा अष्टमी पर करें धन प्राप्ति और कर्ज मुक्ति के लिए ये उपाय
X

Radha Ashtami 2021: राधा अष्टमी पर करें धन प्राप्ति और कर्ज मुक्ति के लिए ये उपाय

Radha Ashtami 2021: जन्माष्टमी के शुभ अवसर पर भगवान श्रीकृष्ण का जन्मदिन मनाने के बाद अब बारी है उनकी प्रेयसी राधारानी का जन्मदिन मनाने की। वैसे तो कोरोना संक्रमण के मद्देनजर साल 2021 में सभी पर्वों पर सरकार द्वारा निर्धारित सभी गाइडलाइन का पालन किया जा रहा है,लेकिन फिर भी ब्रज भूमि में श्रीराधारानी के जन्मदिन को लेकर श्रृद्धालुओं में खासा उत्साह है। राधारानी को साक्षात माता लक्ष्मी स्वरुपा माना जाता है। राधाष्टमी के इस अवसर पर हम लोग आसानी से धन वद्धि के उपाय करके सुख-समृद्धि प्राप्त कर सकते हैं। तो आइए जानते हैं श्रीराधाष्टमी के अवसर पर कैसे करें धन-सुख और सौभाग्य में वृद्धि के उपाय।

ये भी पढ़ें : Swapan Shastra : सपने में नदी, झरना, कुआं या समुद्र का पानी देखना आपके लिए शुभ है या अशुभ, जानिए...

सुबह स्नान के बाद श्रीराधा जी की पूजा करने के बाद धन दायक सप्ताक्षर राधा मंत्र का जप करना शुभ होता है। इस मंत्र का जप करने से धन संबंधित परेशानियों में आपको फायदा मिलता है।

राधा मंत्र

ऊं ह्रीं राधिकायै नम:।

ऊं ह्रीं श्रीराधायै स्वाहा।

राधाष्टमी पर बीज मंत्र का जप करने से धन वृद्धि होती है।

राधा जी का बीजमंत्र

ऊं ह्रीं श्रीं लक्ष्मीभयो नम:।

इस मंत्र का धन-समृद्धि दायक कहा गया है। इसकी के साथ राधा जी को विशेष प्रकार का भोग लगाने से भी उनकी कृपा मिलती है। राधाष्टमी के मौके पर शहद, मिश्री, खीर बनाकर श्रीराधारानी को भोग लगाएं। ऐसा करने से आपको लक्ष्मी माता की कृपा प्राप्त होती है। इसके साथ ही राधाष्टमी पर आपको श्रीराधारानी के प्राकट्य की कथा का पाठ भी करना चाहिए और सिद्ध अष्टाक्षरी मंत्र का जप भी करना चाहिए।

सिद्ध अष्टाक्षरी मंत्र

ऊं ह्रीं श्रींराधिकायै नम:।

ऊं ह्रीं श्रीं राधिकायै नम:।

यह मंत्र देवी राधारानी का सिद्ध अष्टाक्षरी मंत्र है। शास्त्रों के अनुसार श्री राधाष्टमी पर इस मंत्र का जाप करने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। तो इसलिए आप भी श्रीराधाष्टमी पर इन उपायों को करके धन-संबंधित परेशानियों से निजात पा सकते हैं।

(Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Haribhoomi।com इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

Next Story