Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Kedarnath Temple Open: मेष लग्न के शुभ संयोग में भक्तों के दर्शनों के लिए खोले श्री केदारनाथ धाम के कपाट, सीएम रावत और कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने दीं शुभकामनाएं

  • श्री केदारनाथ धाम के कपाट मेष लग्न के शुभ संयोग में खोल दिए गए।
  • श्री केदारनाथ धाम के कपाट खोले जाने के अवसर पर रावल जी तथा श्री केदारनाथ धाम के तीर्थ पुरोहितों ने पूजा-अर्चना की।
  • बदरीनाथ धाम के कपाट मंगलवार को सुबह सवा चार बजे खुलेंगे।

Kedarnath Temple Open: मेष लग्न के शुभ संयोग में भक्तों के दर्शनों के लिए खोले श्री केदारनाथ धाम के कपाट, सीएम रावत और कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने दीं शुभकामनाएं
X

Kedarnath Temple Open: विश्व प्रसिद्ध 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक और उत्तराखंड के चारधामों में प्रमुख श्री केदारनाथ धाम के कपाट मेष लग्न के शुभ संयोग में भक्तों के दर्शनों के लिए सोमवार सुबह 05 बजे विधि-विधान और पारंपरिक धार्मिक अनुष्ठान के साथ खोल दिए गए है। श्री केदारनाथ धाम के कपाट खोले जाने के अवसर पर रावल जी तथा श्री केदारनाथ धाम के तीर्थ पुरोहितों ने पूजा-अर्चना की। वहीं दूसरी ओर चमेली के बदरीनाथ धाम के कपाट मंगलवार को सुबह सवा चार बजे खुलेंगे। श्री केदारनाथ धाम के कपाट खोले जाने के अवसर पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत और कैबिनेट मंत्री श्री सतपाल महाराज ने श्री केदारनाथ धाम आने वाले सभी श्रद्धालुओं को हार्दिक बधाई और अपनी ओर से शुभकामनाएं दीं।


उत्तराखंड सरकार और देवस्थानमं बोर्ड ने कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए सोमवार को श्री केदारनाथ के कपाट खोले। कपाट खोले जाने के समय श्री केदारनाथ धाम में श्रद्धालु कम ही संख्या में मौजूद थे।


वहीं 19 नवंबर 2020 को विधिविधान से श्री केदारनाथ धाम के कपाट बंद किए गए थे। साल 2020 में भी कोरोना संक्रमण के कारण श्री केदारनाथ धाम में श्रद्धालु कम संख्या में ही दर्शनों के लिए आए थे।


11 कुतल फूलों से सजाया गया श्री केदारनाथ धाम

श्री केदारनाथ धाम के कपाट खोले जाने से पहले पूरे मंदिर परिसर को फूलों से सजाया गया। मंदिर को सजाने में करीब 11 कुंतल फूलों का इस्तेमाल किया गया। इस दौरान पूरे श्री केदारनाथ धाम का वातावरण भक्तिमय रहा।


श्री केदारनाथ मंदिर के कपाट खुलने के दौरान केदारनाथ रावल भीमाशंकर लिंग और मंदिर के मुख्य पुजारी बागेश लिंग, प्रशासन के लोग और स्थानीय लोग मौजूद रहे। हालांकि उत्तराखंड सरकार और देवस्थानमं बोर्ड ने अभी किसी को भी मंदिर के गर्भगृह में जाने की इजाजत नहीं है।


इस दौरान कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने बताया कि, केदारनाथ धाम की यात्रा अभी स्थगित रहेगी, लेकिन जब कोरोना का संक्रमण रूक जाएगा तब सरकार इस पर विचार करेंगी और भक्तों को दर्शनों का लाभ प्रदान करेगी।


सीएम ने बाबा से की लोगों को निरोगी रखने के लिए प्रार्थना

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने ट्वीट कर कहा कि, विश्व प्रसिद्ध ग्यारहवें ज्योर्तिलिंग भगवान केदारनाथ धाम के कपाट आज सोमवार को प्रातः 5 बजे विधि-विधान से पूजा-अर्चना और अनुष्ठान के बाद खोल दिए गए। मेष लग्न के शुभ संयोग पर मंदिर का कपाटोद्घाटन किया गया। मैं बाबा केदारनाथ से सभी को निरोगी रखने की प्रार्थना करता हूं।"


कोरोना महामारी के प्रकोप से मुक्ति दिलाएं भगवान केदारनाथ

इस अवसर पर उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि, भगवान केदारनाथ जी से प्रार्थना है कि वह समस्त देशवासियों को कोरोना महामारी के प्रकोप से मुक्ति दिलाएं और हमारा देश प्रगति करे। पूजा के दौरान मंदिर में उपस्थित सभी लोगों ने कोरोना से संबंधित जारी दिशा-निर्देशों का कड़ाई से पालन किया। मेरा सभी से विनम्र आग्रह है कि वैक्सीन अवश्य लगवाएं। वर्तमान समय में यही सच्ची देशसेवा है। उत्तराखंड की विश्व प्रसिद्ध चारधाम यात्रा अभी स्थगित है, महामारी का प्रकोप कम होने पर इस पर विचार होगा। श्री केदारनाथ धाम जी के कपाट खुलने के पावन अवसर पर सभी श्रद्धालुओं को हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं।

Next Story