Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Phulera Dooj 2021: किन बातों के लिए महत्वपूर्ण है फुलेरा दूज का त्योहार, जानिए...

  • फुलेरा दूज (Phulera Dooj) पर सबसे ज्यादा शादियां (Shadi) क्यों होती हैं।
  • फुलेरा दूज का हर क्षण शुभ होता है।
  • फुलेरा दूज वाले दिन में साक्षात भगवान श्रीकृष्ण (Lord Shri Krishna) का अंश होता है।

Phulera Dooj 2021: किन बातों के लिए महत्वपूर्ण है फुलेरा दूज का त्योहार, जानिए...
X

Phulera Dooj 2021 : फुलेरा दूज (Phulera Dooj) पर सबसे ज्यादा शादियां (Shadi) क्यों होती हैं। फुलेरा दूज दोष मुक्त दिन है। इस दिन का हर क्षण शुभ होता है इसलिए कोई भी शुभ कार्य करने से पहले मुहूर्त देखने की जरुरत नहीं होती है। फुलेरा दूज पर पूजा करने से वैवाहिक जीवन की सारी समस्याएं दूर हो जाती हैं। तो आइए जानते हैं किन बातों के लिए महत्वपूर्ण है फुलेरा दूज का त्योहार।

Also Read : Swapan Shastra : Swapan Shastra : सपने में दिख जाए आपको ये चीजें तो आपका प्रत्येक काम होने वाला है सिद्ध


फुलेरा दूज मुख्य रूप से बसंत ऋतु से जुड़ा हुआ त्योहार है। वैवाहिक जीवन और प्रेम संबंधों को अच्छा बनाने के लिए इस त्योहार को मनाया जाता है। फुलेरा दूज वर्ष का अबूझ मुहूर्त भी माना जाता है। इस दिन कोई भी शुभ कार्य कर सकते हैं।

Also Read : Gochar 2021 : अंगारक योग के अशुभ प्रभाव को इस तरह करें समाप्त, जानिए मंत्र और उपाय


फुलेरा दूज में मुख्य रूप से श्रीराधा-कृष्ण की पूजा की जाती है। जिनकी कुंडली में प्रेम का अभाव हो उन्हें इस दिन राधा-कृष्ण की पूजा करनी चाहिए। वैवाहिक जीवन की समस्याएं दूर करने के लिए भी इस दिन पूजा की जाती है।

Also Read : Swapan shastra : सपने में प्रेमिका से धोखा मिलने का ये मतलब जानकर हैरान हो जाएंगे आप


फुलेरा दूज का हर पल शुभ होता है खास कर उन लोगों के लिए जो अपने जीवनसाथी के साथ मनमुटाव से परेशान हैं।


फुलेरा दूज का त्योहार बसंत पंचमी और होली के बीच फाल्गुन में मनाया जाता है तो अगर आप कोई नया काम शुरू करना चाहते हैं तो फुलेरा दूज का दिन इसके लिए सबसे उत्तम माना जाता है।


ऐसी मान्यता है कि इस दिन में साक्षात भगवान श्रीकृष्ण का अंश होता है। तो जो भक्त प्रेम और श्रद्धा से राधा-कृष्ण की उपासना करते हैं श्रीकृष्ण उनके जीवन में प्रेम और खुशियां बरसाते हैं।

(Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Haribhoomi.com इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

और पढ़ें
Next Story