Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

New Year 2021: नए साल 2021 का पहला दिन कल, अपने घर में यहां लगाएं कलेंडर, पूरे वर्ष होगी धनवर्षा

New Year 2021: नया साल आने में बस चंद घंटे ही शेष बचे हैं। और जैसे-जैसे यह समय समाप्त हो रहा है वैसे-वैसे ही लोगों के मन में नए साल को लेकर उत्साह और उमंग हिलोरें मार रहीं हैं। लोगों ने अपने-अपने तरीके से नए साल को मनाने की तैयारियां भी कर लीं हैं तो आइए जानते हैं कि इस आने वाले नए साल 2021 में अपने घर में कलेंडर कैसे लगाएं जिससे आने वाले साल में आपके घर में खुशियों का खजाना पूरी साल खिलखिलाता रहे। और आपके घर में वर्ष पर्यंत सुख और शांति बनी रहें।

New Year 2021: नए साल 2021 का पहला दिन कल, अपने घर में यहां लगाएं कलेंडर, पूरे वर्ष होगी धनवर्षा
X

New Year 2021: हर एक वस्तु का एक पैरा होता है। और अच्छे दिनों में कोई भी काम किया जाए तो उसके शुभ फल लंबे समय तक रहते हैं। और इस बार का जो एक जनवरी 2021 है्, वह शुक्रवार के दिन पुष्य नक्षत्र में लग रहा है। और वहीं बुध और सूर्य का बुधादित्य योग भी इस दिन पड़ रहा है। जोकि शास्त्रों और ज्योतिष तथा वास्तु शास्त्र के लिहाज से बहुत ही दुर्लभ शुभ संयोग है। और अगर हम वास्तु की मानें तो घर का कलेंडर हमेशा ही सही लगाना चाहिए। और भूलकर भी दक्षिण दिशा में नहीं लगाना चाहिए।

Also Read: Vastu Shastra: बिल्ली के बारे में ये बातें जानकर आप हो जाएंगे हैरान, जानिए बिल्ली के शुभ और अशुभ अपशकुन

वास्तु के अनुसार घड़ी और कलेंडर समय को दर्शाते हैं। इसलिए इन्हें कभी भी दक्षिणा दिशा में नहीं रखना चाहिए। वास्तु में कहा जाता है कि इस दिशा में घड़ी और कलेंडर रखने से जीवन में उन्नति कम हो जाती है और घर के मुखिया के स्वास्थ्य पर नेगेटिव असर पड़ता है।

भूलकर भी घर के किसी भी दरवाजे के आगे या पीछे कलेंडर नहीं लटकाना चाहिए। ऐसा करने से आपके घर के लोगों की आयु क्षीण होने लगती है। या फिर उन लोगों के स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव होने लगता है।

अगर हम फेंशगुई की माने तो घर के आसपास पेड़-पौधे लगाने से आपका स्वास्थ्य अच्छा रहता है। इसलिए नए साल पर आप अपने घर और उसके आसपास फूलों के पौधे लगा सकते हैं।

वहीं हम अगर फेंशगुई और वास्तु शास्त्र की मानें तो अपने घर में कलेंडर हमेशा उत्तर, पूर्व या पश्चिम दिशा में टांगना चाहिए। और कलेंडर को टांगते समय हमेशा यह ध्यान रखें कि कलेंडर में किसी जानवर या कोई भयावह तस्वीर नहीं हो। क्योंकि ऐसे कलेंडर लगाने से आप बचें। इस प्रकार के कलेंडर आपके घर में खुशियां नहीं लाते बल्कि परेशानी लाते हैं। क्योंकि कलेंडर का सूचक है आपके जीवन में लगातार बहुत सारे परिवर्तन।

Also Read: Sankashti Chaturthi calendar year 2021: साल 2021 में संकष्टी चतुर्थी किस माह में कब आएगी, जानिए तिथि व चंद्रोदय समय

घर हो या आपकी दुकान हो दक्षिण दिशा में कलेंडर कभी भी नहीं लगाएं। ऐसा करने से आपके घर की तरक्की में बाधा आती है। और आपको नेगेटिव ऊर्जा अधिक परेशान करेगी। उत्तर-पश्चिम अथवा पूर्व की दीवार पर कलेंडर लगाना सबसे उपयुक्त होता है। और ऐसा करने से आपके जीवन में शुभ कार्यों और शुभ कर्मों का उदय होने लगता है। और बुरे प्रभाव आपके जीवन से पलायन कर जाते हैं।

पूर्व दिशा का स्वामी सूर्य हैं, जोकि नेतत्व के देव हैं। और इस दिशा में कलेंडर लगाने से घर के सदस्यों को तरक्की मिलती है। साथ ही लाल, गुलाबी रंग के कागज पर उगते सूर्य की तस्वीर भी आप लगा सकते हैं।

वहीं अगर वास्तु की मानें तो उत्तर दिशा कुबेर देव की दिशा होती है। और इस दिशा में कलेंडर लगाने से, आप चाहें तो नदी, शादी की तस्वीर आदि भी इस दिशा में आप लगा सकते हैं। और ऐसा करने से आपके जीवन में सुख बढ़ता है।

मैनगेट के सामने भूलकर भी आप कभी भी कलेंडर मत लगाइए। ऐसा करना बहुत ही अशुभ माना जाता है। घर में प्रवेश करते ही कलेंडर पर दृष्टि पड़ रही है ये भी बुरा संकेत माना जाता है। और ऐसी जगह आप कलेंडर मत लगाइएगा।

वास्तु के अनुसार पश्चिम दिशा बहाव की दिशा है। और इस दिशा में कलेंडर लगाने से आपके कार्यों में तेजी आती है। आपकी कार्यक्षमता बढ़ती है। और पश्चिम दिशा का जो कोना उत्तर की ओर हो उस दिशा में अगर आप कलेंडर लगाते हैं तो सबसे ज्यादा शुभ होता है।

Next Story