Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

New year 2021: आज की ज्योतिष गणनाओं में आपके लिए क्या है खास, जानिए साल 2021 के शुभ संयोग

New year 2021: 01 जनवरी 2021 यानि आज से नए साल की शुरूआत हो चुकी है। ज्योतिष शास्त्र की मानें तो नए साल की शुरूआत कन्या लग्न और कर्क राशि में हुई है। नए साल के दिन पुष्य नक्षत्र, वैधृति योग और वहीं करण गर रहने वाला है। और वहीं 31 दिसंबर 2020 से पौष का मास भी आरंभ हो चुका है। तो आइए जानते हैं साल के पहले दिन के शुभ संयोग के बारे में।

New year 2021: आज की ज्योतिष गणनाओं में आपके लिए क्या है खास, जानिए साल 2021 के शुभ संयोग
X

New year 2021: 01 जनवरी 2021 यानि आज से नए साल की शुरूआत हो चुकी है। ज्योतिष शास्त्र की मानें तो नए साल की शुरूआत कन्या लग्न और कर्क राशि में हुई है। नए साल के दिन पुष्य नक्षत्र, वैधृति योग और वहीं करण गर रहने वाला है। और वहीं 31 दिसंबर 2020 से पौष मास भी आरंभ हो चुका है। तो आइए जानते हैं साल के पहले दिन के शुभ संयोग के बारे में।

Also Read: Weekly Panchang January 2021 : साप्ताहिक पंचांग जनवरी 2021

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार आज यानि नए साल के दिन बहुत ही खास संयोग बन रहे हैं। और इस दिन पुष्य नक्षत्र भी है। और वहीं बुध और सूर्य मिलकर बुधादित्य योग भी बना रहे हैं। नए साल 2021 के दिन इतना अच्छा संयोग है। और वहीं पुष्य नक्षत्र का संयोग खरीद और विक्रय के लिए बहुत ही खास संयोग होता है। और दूसरी ओर इस दिन बुधादित्य योग है। यानि इस दिन खरीद-फरोख्त ही नहीं बल्कि यह दिन अन्य चीजों के लिए भी बहुत खास है। हालांकि अभी खरमास चल रहा है जोकि 14 जनवरी तक रहेगा लेकिन फिर भी आप आज नए साल के दिन अभिजीत मुहूर्त में भूमि, वाहन, आभूषण आदि खरीदना चाहते हैं तो खरीद सकते हैं। यह आपके लिए बहुत शुभ रहेगा।

ज्योतिष गणनाओं की मानें तो बुधादित्य योग में किए गए कार्यों में सफलता मिलती है। और इस संयोग में आप प्रॉपर्टी, वाहन और सभी प्रकार की शॉपिंग करना आपके लिए बहुत शुभ है। हालांकि पहली बार 01 जनवरी 2021 के दिन शुक्र और पुष्य नक्षत्र का संयोग बन रहा है।

ज्योतिष गणना के अनुसार साल 2021 का स्वामी ग्रह बुध हैं। और वहीं अगर अंक ज्योतिष की बात की करें तो साल 2021 के अंकों का कुल योग पांच आता है। और पांच का अंक बुध ग्रह का प्रतिनिधित्व करता है।

आज अमृतसिद्धि और सर्वार्थसिद्धि योग भी बन रहा है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार इन दोनों योगों को शुभ फलदायक माना जाता है।

Next Story