Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नवग्रह की शांति के लिए ऐसे करें स्नान, आप भी जाने

वास्तु दोष के अनुसार नवग्रहों की शांति के लिए नवग्रहों के दोष दूर करने के लिए नवग्रहों के अनुसार कुई प्रकार के स्नान बताए गए हैं। शास्त्रों के अनुसार जल में कुछ सामग्री मिलाकर स्नान करने से नवग्रह के दोष दूर हो जाते हैं। और व्यक्ति को कई प्रकार के लाभ होते हैं। तो आइए आप भी जानें नवग्रहों को शांत करने के स्नान के बारे में जरुर बातें।

नवग्रह की शांति के लिए ऐसे करें स्नान, आप भी जाने
X
प्रतीकात्मक तस्वीर

वास्तु दोष के अनुसार नवग्रहों की शांति के लिए नवग्रहों के दोष दूर करने के लिए नवग्रहों के अनुसार कुई प्रकार के स्नान बताए गए हैं। शास्त्रों के अनुसार जल में कुछ सामग्री मिलाकर स्नान करने से नवग्रह के दोष दूर हो जाते हैं। और व्यक्ति को कई प्रकार के लाभ होते हैं। तो आइए आप भी जानें नवग्रहों को शांत करने के स्नान के बारे में जरुर बातें।

1. सूर्य

सूर्य के अशुभ प्रभाव को कम करने के लिए प्रतिदिन जल में इलायची, केसर, रक्त चंदन,मुलेठी एवं लाल पुष्प मिलाकर स्नान करने से लाभ होता है।

2. चंद्र

चंद्र के अशुभ प्रभाव को कम करने के लिए प्रतिदिन जल में पंचगव्य, श्वेत चंदन एवं सफेद पुष्प मिलाकर स्नान करने से लाभ मिलता है।

3. मंगल

मंगल के अशुभ प्रभाव को कम करने के लिए प्रतिदिन रक्त चंदन, जटामासी और लाल पुष्प मिलाकर स्नान करने से लाभ होता है।

4.बुध

बुध के अशुभ प्रभाव को कम करने के लिए प्रतिदिन जल में गोरोचन, शहद, जायफल और अक्षत मिलाकर स्नान करने से लाभ मिलता है।

5.गुरू

गुरु के अशुभ प्रभाव को कम करने के लिए प्रतिदिन जल में हल्दी, शहद, गिलोय, मुलेठी एवं चमेली के पुष्प मिलाकर स्नान करने से लाभ होता है।

6. शुक्र

शुक्र के अशुभ प्रभाव को कम करने के लिए प्रतिदिन जल में जायफल, सफेद इलायची, श्वेत चंदन एवं दूध मिलाकर स्नान करने से लाभ होता है।

7. शनि

शनि के अशुभ प्रभाव को कम करने के लिए प्रतिदिन जल में सौंफ, खसखस, काले तिल, एवं सूरमा मिलाकर स्नान करने से लाभ होता है।

8. राहु

राहु के अशुभ प्रभाव को कम करने के लिए प्रतिदिन जल में कस्तूरी,गजदंत,लोबान एवं दूर्वा मिलाकर स्नान करने से लाभ होता है।

9. केतु

केतु के अशुभ प्रभाव को कम करने के लिए प्रतिदिन जल में रक्त चंदन एवं कुशा मिलाकर स्नान करने से लाभ होता है।

Next Story