Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Nag panchami 2021 : नाग पंचमी कब है, जानें डेट, पूजा का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

  • नाग पंचमी (Nag panchami) हिन्दुओं का एक प्रमुख त्योहार है।
  • सावन माह (Sawan month) की शुक्ल पंचमी को नाग पंचमी का त्योहार मनाया जाता है।
  • नाग पंचमी के दिन नाग देवता (Nag Devta) या सर्प देवता की पूजा की जाती है।

Nag panchami 2021 : साल 2021 में नाग पंचमी कब है, जानें डेट, पूजा का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि
X

Nag panchami 2021 : साल 2021 में नाग पंचमी कब है, जानें डेट, पूजा का शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

Nag panchami 2021 : नाग पंचमी (Nag panchami) हिन्दुओं का एक महत्वपूर्ण और प्रमुख त्योहार है। सावन माह (Sawan month) की शुक्ल पंचमी को नाग पंचमी का त्योहार मनाया जाता है। इस दिन नाग देवता (Nag Devta) या सर्प देवता की पूजा की जाती है और उन्हें दूध से स्नान कराया जाता है। मान्यताओं के अनुसार नाग पंचमी के दिन रूद्राभिषेक (Rudrabhishek) करने से कालसर्प दोष (Kaal Sarp Dosh) से मुक्ति मिलती है। तो आइए जानते हैं साल 2021 में नाग पंचमी कब है। नाग पंचमी की पूजा विधि और पूजन मुहूर्त क्या रहेगा।

ये भी पढ़ें :Swapan Shastra : सपने में नमक देखने का क्या है संकेत, एक क्लिक में जानें

नाग पंचमी 2021

नाग पंचमी डेट

13 अगस्त 2021, दिन शुक्रवार

पंचमी तिथि प्रारंभ

03:24 PM, 12 अगस्त

पंचमी तिथि समाप्त

01:42 PM, 13 अगस्त

नाग पंचमी शुभ मुहूर्त

नाग पंचमी दिन और तारीख

13 अगस्त 2021, दिन शुक्रवार

नाग पंचमी शुभ मुहूर्त

05:49 AM से 08:28 AM

पूजन की अवधि

2 घंटा 39 मिनट

ये भी पढ़ें : Swapan Shastra : नौकरी और तरक्की मिलने से पहले भगवान देते हैं ये तीन संकेत, परन्तु किसी के साथ ना करें शेयर

नाग पंचमी व्रत विधि

इस व्रत के आराध्य नागदेव माने गए हैं। इस दिन अनंत, वासुकि, महापद्म आदि नाग अष्टकों की पूजा की जाती है। चतुर्थी तिथि के दिन एक बार भोजन करें और पंचमी तिथि के दिन उपवास करके शाम को भोजन करना चाहिए। पूजा करने के लिए नाग देवता का चित्र या मिट्टी की सर्प प्रतिमा को लकड़ी की चौकी या पाटे के उपर स्थापित करें। उसके बाद हल्दी, रोली, चावल और पुष्प अर्पित करके नागदेवता की पूजा की जाती है। इसके पश्चात कच्चा दूध, घी और चीनी मिलाकर सर्प देवता को अर्पित किया जाता है। पूजन करने के बाद सर्प देवता की आरती की जाती है। आप इस दिन किसी सपेरे को दक्षिणा आदि देकर दूध सर्प को पिला सकते हैं। इसके बाद नाग पंचमी की कथा जरुर सुननी चाहिए।

(Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Haribhoomi.com इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

Next Story