Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Lal Kitab: पैसों को चुंबक की तरह खींचता है ये पौधा, जानें इसके और भी फायदे

Lal Kitab: हमारे जंगलों में कई ऐसी जड़ी-बूटी और पेड़-पौधे होत हैं, जोकि हमारे जीवन में बहुत काम आ सकते हैं। ऐसा ही एक पौधा है अपमार्ग का, जोकि हमारे लिए धन-दौलत, स्त्री, शोहरत, सुख और ऐश्वर्य का कारण बन सकता है। तो आइए जानते हैं अपमार्ग के पौधे के फायदे और प्रयोग के बारे में...

Lal Kitab: पैसों को चुंबक की तरह खींचता है ये पौधा, जानें इसके और भी फायदे
X

Lal Kitab: हमारे जंगलों में कई ऐसी जड़ी-बूटी और पेड़-पौधे होत हैं, जोकि हमारे जीवन में बहुत काम आ सकते हैं। ऐसा ही एक पौधा है अपामार्ग का, जोकि हमारे लिए धन-दौलत, स्त्री, शोहरत, सुख और ऐश्वर्य का कारण बन सकता है। लाल किताब और तंत्र शास्त्र में अपामार्ग के पौधे के अनेक फायदे बताए गए हैं। तो आइए जानते हैं अपामार्ग के पौधे के फायदे और प्रयोग के बारे में...

ये भी पढ़ें : बुधवार के दिन करें हरी मूंग का ये उपाय, कर्ज से मुक्ति के साथ ही लक्ष्मी और गणेश भगवान का मिलेगा आशीर्वाद

जंगल में रहने वाले संत-महात्मा लोग जब साधना करते हैं तो वे लोग अपामार्ग के बीजों को दूध में पकाकर खीर बना लेते हैं। उसके बाद वे लगभग 500 ग्राम की मात्रा में इसके बीज से बनी उस खीर का सेवन करते हैं। तो इन्हें बिलकुल भी भूख और प्यास नहीं लगती है और लंबे समय तक वे लोग मल-मूत्र का त्याग नहीं करते हैं। यानी कि अगर अपामार्ग के बीजों की खीर बनाकर सेवन किया जाए तो लंबे समय तक आप कोई भी साधना कर सकते हैं। वहीं अगर इसकी जड़ को घीसकर उसका तिलक लगाया जाए तो यह वशीकरण का काम करता है।

वहीं बहेड़ा और अपामार्ग की जड़ का तंत्र क्रियाओं में विशेष प्रयोग किया जाता है। वहीं अपामार्ग की जड़ का काढ़ा बनाकर अगर बांझ महिला को रविपुष्य योग में पिला दिया जाए तो कैसी भी बांझ औरत हो वह महिला निश्चित ही गर्भवती हो जाती है। परन्तु ध्यान रहे कि, यह काढ़ा ऋतु स्नान के पांच दिन बाद ही पिलाना है।

वहीं गोरोचन के साथ अपामार्ग की जड़ को पीसकर अगर तिलक लगा लें और अगर उसके बाद आप किसी सभा आदि में जाते हैं तो पूरी सभा आपसे वशीभूत हो जाएगी। वहीं गोरोचन के साथ अपामार्ग की जड़ को घिसकर आप तिलक लगाते हैं तो पत्थर हृदय वाली स्त्री भी आपके प्रेम में बंध जाएगी और दुनिया की कोई भी शक्ति उन्हें आपसे प्रेम करने से नहीं रोक पाएगी। गोरोचन के साथ अपामार्ग दिव्य वशीकरण का काम करती है।

रवि-पुष्य योग में अपामार्ग की जड़ का अंजन करने से आपको जमीन में दबा हुआ धन दिखायी देने लगता है और आसपास के भूत-प्रेत और जो वहां मौजूद नाकारात्मक शक्तियां हैं, देवी-देवता और सकारात्मक शक्तियां आपको दिखायी देने लगती हैं।

तंत्र की दृष्टि से अपामार्ग का पौधा बहुत ही पॉवर फुल होता है। इसीलिए बड़े-बड़े आयुर्वेदाचार्य और बड़े-बड़े संत-महात्माओं ने सबसे पहले इसे उत्तम श्रेणी में रखा है। क्योंकि इसके तंत्र का प्रभाव कभी भी विफल नहीं जाता है।

नवरात्रि, दीपावली अथवा किसी भी शुभ मुहूर्त में अपामार्ग के पौधे की जड़ लाकर अपने घर की तिजोरी में रखा जाए तो यह पूरे घर को अन्न और धन से भर देती है। इतनी अधिक अपामार्ग की जड़ में समाहित शक्तियां होती हैं।

(Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Haribhoomi.com इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

Next Story