Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

karwa chauth 2020: करवा चौथ पर मांग में ऐसे लगाया सिंदूर तो जीवन में आएगी परेशानी

karwa chauth 2020: शारदीय नवरात्रि के साथ ही त्यौहारों के सीजन की शुरूआत हो चुकी है। नवरात्रि का पर्व शक्ति सृजन का पर्व है। और नवरात्रि के बाद दूसरा पर्व करवा चौथ का आता है, करवा चौथ के पर्व में भी सुहागिन स्त्रियां अपने पति की लंबी आयु की कामना करके मां पार्वती को समर्पित व्रत रखती हैं और अटल सौभाग्य की कामना करती हैं।

karwa chauth 2020: करवा चौथ पर मांग में ऐसा सिंदूर मत लगाना, जीवन में आती हैं परेशानी
X

karwa chauth 2020: शारदीय नवरात्रि के साथ ही त्यौहारों के सीजन की शुरूआत हो चुकी है। नवरात्रि का पर्व शक्ति सृजन का पर्व है। और नवरात्रि के बाद दूसरा पर्व करवा चौथ का आता है, करवा चौथ के पर्व में भी सुहागिन स्त्रियां अपने पति की लंबी आयु की कामना करके मां पार्वती को समर्पित व्रत रखती हैं और अटल सौभाग्य की कामना करती हैं। भारतीय संस्कृति के अनुसार विवाहित महिलाओं के लिए मांग में सिन्दूर लगाना बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। क्योंकि इसे सुहाग की निशानी माना जाता है। लेकिन कई बार महिलाएं जाने-अनजाने में अपनी मांग में गलत सिन्दूर भर लेती हैं। और इस सिन्दूर का गलत प्रभाव उनके पति पर पड़ता है। कई बार इसके प्रभाव के कारण दंपति के बीच दूरियां भी आने लगती हैं। खासकर करवा चौथ के दिन महिलाओं को अपनी मांग में ऐसा सिन्दूर कभी नहीं लगाना चाहिए। जिससे उनके वैवाहिक जीवन में किसी प्रकार की कोई बाधा उत्पन्न हो जाए। ऐसी स्थिति में करवा चौथ का व्रत भी सफल नहीं होता है।

1. जब भी आप अपनी मांग में सिन्दूर भरें तो आप मां पार्वती का ध्यान जरुर करें। क्योंकि मां पार्वती ही अखंड सौभाग्यवती का वरदान देती हैं।

2.करवा चौथ के दिन महिलाओं को अपने माथे से लेकर पूरी मांग में सिन्दूर लगाना चाहिए। करवा चौथ के दिन मांग को सिन्दूर से अधूरा नहीं भरना चाहिए। माथे से लेकर पूरी मांग में सिन्दूर भरा हुआ देखकर मां पार्वती बहुत प्रसन्न होती हैं। और उस महिला को अखंड सौभाग्यवती का वरदान देती हैं। जब कोई स्त्री भरपूर मात्रा में सिन्दूर लगाती है तो मां पार्वती को बहुत खुशी होती है।

3. कई महिलाएं फैशन के चलते माथे पर शॉर्ट सिन्दूर लगाना पसन्द करती हैं। लेकिन ऐसा करना शास्त्रों के अनुसार निषेध है। ऐसी महिलाओं को माता पार्वती बिलकुल भी पसंद नहीं करती हैं। अगर आप कम मात्रा में अथवा शॉर्ट में सिन्दूर लगाती हैं तो आपके पति पर हमेशा विपदाएं बनी रहती हैं। इसके प्रभाव के कारण आपका पति किसी पराई स्त्री के प्रति आकर्षित हो सकता है। आप दोनों के बीच में दूरियां पैदा हो सकती हैं। आपके पति के कई अन्य महिलाओं के साथ संबंध हो सकते हैं। शास्त्रों में कहा जाता है कि भरपूर मात्रा मे माथे पर सिन्दूर लगाने से पति-पत्नी में प्रेम और भी बढ़ जाता है। माथे पर भरपूर मात्रा में सिन्दूर को देखकर पति आपकी ओर आकर्षित हो जाता है। इसलिए कम से कम खासकर करवा चौथ पर ऐसी गलती कभी ना करें।

4. सिन्दूर की डिब्बी अगर आपके हाथों से गिर जाए तो ये भी आपके लिए शुभ लक्षण नहीं होते हैं। अगर आपके साथ भी ऐसा हो जाए तो आप मां पार्वती को जरुर याद करें। मां पार्वती को याद करने से आपके परिवार पर आई बला टल जाती है। साथ ही साथ सुहागिन महिला को अपना इस्तेमाल किया गया सिन्दूर कभी किसी अन्य महिला को नहीं देना चाहिए। क्योंकि ये आपके पति की निशानी है। ऐसा करने से आपका पति भटक जाता है। और दोनों के बीच में दूरियां आ जाती हैं। और आपके परिवार पर भारी विपदाएं आ जाती हैं।

5. अगर आपका पति आपकी मांग में सिन्दूर भरता है तो यह बहुत ही शुभ माना जाता है। पति के द्वारा मांग में सिन्दूर भरवाने से माता पार्वती अति प्रसन्न होती हैं। और ऐसे पति-पत्नी को सात जन्मों तक साथ रहने का आशीर्वाद मिलता है। पत्नी की मांग में पति के द्वारा सिन्दूर भरना इस बात की ओर इशारा करता है कि आपका पति आपको बहुत प्यार करता है। और ऐसा करने से मां पार्वती बहुत खुश होती हैं। इसलिए कम से कम करवा चौथ के दिन अपनी मांग में अपने पति के हाथ से सिन्दूर जरुर लगवाना चाहिए।

Next Story