Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Karwa Chauth 2020 Date October : जानिए करवा चौथ पर कैसे करें पूजा की थाली तैयार

Karwa Chauth 2020 Date October : करवा चौथ 4 नवंबर 2020 (Karwa Chauth 4 November 2020) को मनाया जाएगा। इस दिन सुहागन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र के लिए व्रत रखती हैं और चंद्रमा को अर्घ्य देकर अपना व्रत पूर्ण करती हैं। लेकिन इस दिन करवा चौथ की पूजा (Karwa Chauth Puja) में करवा चौथ की पूजा थाली को अच्छी तरह से सजाया जाता है। जिससे पूजा में किसी भी प्रकार की कोई कमीं न रह जाए तो आइए जानते हैं करवा चौथ पर कैसे करें पूजा की थाली तैयार।

Karwa Chauth 2020 Date October : जानिए करवा चौथ पर कैसे करें पूजा की थाली तैयार
X

Karwa Chauth 2020 Date October : जानिए करवा चौथ पर कैसे करें पूजा की थाली तैयार

Karwa Chauth 2020 Date October : करवा चौथ (Karwa Chauth) में जितना महत्व इस व्रत को दिया जाता है। उतना ही महत्व करवा चौथ की पूजा की थाली को दिया जाता है। जिसे पूरी विधि पूर्वक तैयार करना चाहिए और यदि आप यह नहीं जानती कि आपको किस प्रकार से करवा चौथ की थाली (Karwa Chauth Ki Puja Ki Thali) तैयार करनी चाहिए तो आज हम आपको इसके बारे में बताएंगे तो चलिए जानते हैं कैसे तैयार करें करवा चौथ की पूजा की थाली।

करवा चौथ की थाली कैसे करें तैयार (Karwa Chauth Ki Thali Kaise Kare Tiyar)

करवा चौथ पर एक स्टील या पीतल की थाली लें। इसके बाद उस थाली के बीच में कुमकुम से स्वास्तिक का बनाएं। स्वास्तिक बनाने के बाद उसके चारों और बिंदू लगाएं और उसके ऊपर पान की पत्ती रखें। पान की पत्ती रखने के बाद उसके ऊपर कुछ चावलों को पीला रंग करके डालें और इसके बाद एक घी का दीपक लें और उसमें दो बाती रखें और दीपक को प्रज्वलित करें दें दीपक जलाने का अर्थ होता है साक्षी पूजा। जिसके अनुसार यह माना जाता है कि अग्नि देव इस पूजा के साक्षी हैं।

इसके बाद एक नारियल लें और उसे मौली से लपेटें। इसके बाद उस नारियल को पूजा की थाली में रखें। इसके बाद एक मिट्टी का करवा लेकर उस पर सफेद चंदन से स्वास्तिक बनाएं। इसके बाद उस पर कुमकुम लगाएं और कलावा भी बांधें और उसे भी पूजा की थाली में रखें। इसके बाद उस करवें में जल भरें।इसके बाद करवे को ढक्कन से ढंक दें और उसके ऊपर अपनी श्रद्धा के अनुसार दक्षिणा रखें। करवा रखने के बाद थाली में दूध से बनी मिठाई और मीठे पुए भी रखें।

थाली में मिठाई रखने के बाद उसमें फल भी अवश्य रखें।इसके बाद एक दूसरी थाली लें या आपकी उसी थाली में जगह है तो आप उसमें पांच तरह के मेवे, पांच सुपारी,चुनरी, एक लाल रंग का रूमाल, लाल चूडियां, बिछुआ,सिंदूर, कुमकुम, हल्दी, अक्षत, इत्र,सभी श्रृंगार का सामान थाली में रखें और इसके बाद दो रक्षासूत्र लें और पूजा की थाली में रखें। इसके बाद दो पान, सुपारी और लौंग बंद करके पूजा की थाली में रखें। यह सभी सामान रखने के बाद पूजा की थाली में लाल पुष्प भी रखें।

Next Story